News Nation Logo
Banner

कर्नाटक के बिजली मंत्री के ठिकानों पर तीसरे दिन भी IT का छापा, ED ले सकती है जांच की कमान

कर्नाटक के बिजली मंत्री डी के शिवकुमार के ठिकानों पर आज तीसरे दिन भी आयकर विभाग (आईटी) की छापेमारी जारी है।

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 04 Aug 2017, 10:53:03 AM
कर्नाटक के बिजली मंत्री डीके शिवकुमार (फोटो-PTI)

कर्नाटक के बिजली मंत्री डीके शिवकुमार (फोटो-PTI)

नई दिल्ली:

कर्नाटक के बिजली मंत्री डी के शिवकुमार के ठिकानों पर आज तीसरे दिन भी आयकर विभाग (आईटी) की छापेमारी जारी है। इससे पहले गुरुवार को आईटी ने दिल्ली के चार स्थानों और बुधवार को 39 ठिकानों पर छापेमारी की थी। 

माना जा रहा है कि अब इस मामले की जांच ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के हाथों में जा सकती है। ईडी जांच की स्थिति में डी के शिवकुमार की मुश्किलें बढ़ सकती है।

एक आईटी अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर गुरुवार को कहा, 'कल (बुधवार) की छापेमारी में मिली सूचनाओं के आधार पर आज (गुरुवार) भी छापेमारी की गई। कई जगहों पर छापेमारी का काम पूरा कर लिया गया है।' 

गुरुवार को दिल्ली में चार स्थानों पर छापेमारी की गई, जिसमें दक्षिण दिल्ली के सफदरगंज एन्क्लेव और आर. के. पुरम इलाके शामिल हैं। मंत्री के निजी सहायक के दिल्ली स्थित निवास पर भी छापेमारी की गई।

जिन नए स्थानों पर छापेमारी की गई, उसमें मंत्री का बेंगलुरू से करीब 60 किलोमीटर दूर कनकपुरा में निवास स्थान और मैसूर के तिमैया में उनके ससुर का निवास स्थान है।

अधिकारी ने कहा, 'हमारी टीमें छापेमारी में जब्त किए गए दस्तावेजों की जांच और मंत्री, उनके रिश्तेदारों और व्यापारिक सहयोगियों से उनके परिसरों में मिली नकदी और संपत्ति के स्रोतों को लेकर पूछताछ कर रही है।'

मंत्री के ज्योतिषी द्वारकानाथ गुरुजी के निवास स्थान उनके परिवार के ट्रस्ट द्वारा चलाए जा रहे बेंगलुरू के नेशनल हिल व्यू स्कूल पर भी छापेमारी की गई।

आयकर विभाग की छापेमारी के चलते मंत्री के आवासों, शहर और बेंगलुरू ग्रामीण जिला में रामनगर में उनके छोटे भाई डी.के. सुरेश और मैसूर में थिमैया में मंत्री के ससुर के आवासों पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई।

शिवकुमार कनकपुरा विधानसभा का प्रतिनिधित्व करते हैं तथा सुरेश बेंगलुरू के ग्रामीण क्षेत्र से लोकसभा सांसद हैं।

आयकर विभाग के 100 से भी अधिक अधिकारियों ने बुधवार को राज्य, दिल्ली और चेन्नई में करीब 60 स्थानों पर छापेमारी शुरू कर दी थी। छापेमारी में कई दस्तावेज और 10 करोड़ रुपये की नकदी बरामद हुई है।

बेंगलुरू से 30 किलोमीटर दूर बिदादी में ईगल्टन गोल्फ रिसॉर्ट पर भी छापेमारी की गई थी, जहां 29 जुलाई से गुजरात के 44 विधायक ठहरे हुए हैं।

संबंधित घटनाक्रम में राज्य के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने शिवकुमार पर छापेमारी को लेकर कुछ वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों और सत्तारूढ़ पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष जी. परमेश्वर से शहर में अपने आधिकारिक आवास पर चर्चा की।

शिवकुमार द्वारा निर्वाचन आयोग में 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान दाखिल शपथपत्र में के मुताबिक, वे राज्य के दूसरे सबसे अमीर राजनीतिज्ञ हैं जिनकी संपत्ति चार साल पहले 251 करोड़ रुपये थी।

और पढ़ें: BJP ने रचा इतिहास, राज्यसभा में कांग्रेस को पछाड़ बनी सबसे बड़ी पार्टी

First Published : 04 Aug 2017, 09:38:40 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो