News Nation Logo
Banner

CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने पर जर्मनी के छात्र को दिखाया गया भारत के बाहर का रास्ता

नागरिकता कानून को लेकर मुस्लिम और अन्य लोगों में भी काफी रोष देखने को मिल रहा है. लेकिन जर्मनी के एक छात्र को इस कानून का विरोध करना महंगा पड़ गया.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 24 Dec 2019, 10:35:14 AM
CAA protests

CAA protests (Photo Credit: (फोटो- न्यूज स्टेट))

नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act 2019) के खिलाफ पूरे देश में विरोध-प्रदर्शन हो रहा. भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में रह रहे भारतीय भी इस कानून के खिलाफ सड़क पर उतर आए हैं. नागरिकता कानून को लेकर मुस्लिम और अन्य लोगों में भी काफी रोष देखने को मिल रहा है. लेकिन जर्मनी के एक छात्र को इस कानून का विरोध करना महंगा पड़ गया. दरअसल, जब हर जगह इस कानून का विरोध किया जा रहा था तो आईआईटी मद्रास का एक जर्मनी का छात्र भी इसके खिलाफ उतरा था. जिसके बाद छात्र को कथित तौर पर भारत छोड़ने को कहा गया है.

छात्र का नाम जैकब लिडेंथल है, जो कि मद्रास आईआईटी से भौतिक विज्ञान का छात्र है हालांकि पढ़ाई पूरी होने से पहले उसे उसके देश जर्मनी भेज दिया गया है. छात्र को वीजा नियमों के उल्लंघन के आरोप में वापस भेजा गया है.

ये भी पढ़ें: हिजाब की वजह से गोल्ड मेडलिस्ट रबीहा अब्दुर्रहीम को दीक्षांत समारोह में जाने की नहीं मिली इजाजत

जैकब लिडेंथल ने कैंपस के अंदर और बाहर हो रहे नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे विरोध-प्रदर्शन में भाग लिया था. इसके अलावा उसने नागरिकता कानून के खिलाफ लिखे पोस्टर हाथ में लेकर उसे कई जगह शेयर किया था.

हाल ही में उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से नागरिकता कानून के खिलाफ एक फोटो ट्वीट की थी. जिसके कारण इमिग्रेशन डिपार्टमेंट से उन्हें भारत छोड़ने का नोटिस दिया, जिसके बाद जैकब को बर्लिन वापस भेज दिया गया है. 

First Published : 24 Dec 2019, 10:15:58 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो