News Nation Logo
Banner

केरल में क्वारैंटाइन से भाग निकला आईएएस अफसर उत्तर प्रदेश में मिला

कोरोना वायरस (Corona Virus) फैलने की श्रृंखला को तोड़ने के लिए पूरा देश लॉकडाउन है, वहीं एक जूनियर आईएएस अधिकारी नियमों का मजाक उड़ाते हुए एकांतवास यानी क्वारैंटाइन से भाग गया.

IANS | Updated on: 27 Mar 2020, 03:24:21 PM
corona virus

केरल में क्वारैंटाइन से भाग निकला आईएएस अफसर उत्तर प्रदेश में मिला (Photo Credit: ANI Twitter)

तिरुवनंतपुरम:

कोरोना वायरस (Corona Virus) फैलने की श्रृंखला को तोड़ने के लिए पूरा देश लॉकडाउन है, वहीं एक जूनियर आईएएस अधिकारी नियमों का मजाक उड़ाते हुए एकांतवास यानी क्वारैंटाइन से भाग गया. जूनियर आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा ने हाल ही में विदेश यात्रा की थी, जिस कारण उन्हें आइसोलेशन में रहने के लिए कहा गया था. लेकिन ऐसा करने की बजाय वह उस जगह से निकल गए और बाद में पता चला कि मिश्रा उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में स्थित अपने घर पहुंच गए हैं.

मिश्रा, 2016 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और हाल ही में केरल के कोल्लम में सब कलेक्टर का पदभार संभालने के लिए आए थे. उन्होंने अपने वरिष्ठों को सूचित किया कि वह विदेश में थे. तब उन्हें यहां से लगभग 70 किलोमीटर दूर कोल्लम स्थित सरकारी आवास में अलग-थलग रहने के लिए कहा गया था.

कोल्लम के जिला कलेक्टर बी.अब्दुल नासर ने शुक्रवार को मीडिया को बताया कि मिश्रा ने स्पष्टीकरण दिया है कि जब उन्हें स्व-एकांतवासमें जाने के लिए कहा गया था, तब उन्होंने कहा था कि वह कानपुर स्थित अपने घर वापस जाना चाहते थे. नासर ने कहा, "यह प्रोटोकॉल का उल्लंघन है और मैं उनके बर्ताव के बारे में राज्य सरकार के सामने रिपोर्ट पेश करूंगा, आगे की कार्रवाई सरकार को करनी है."

कोल्लम जिले के रहने वाले राज्य के मत्स्य मंत्री जे. मर्कुट्टी ने कहा कि यह सामाजिक प्रतिबद्धता की कमी का एक स्पष्ट मामला है. खबरों के मुताबिक, मिश्रा ने हाल ही में शादी की है और वे सिंगापुर से लौटे थे. उनके वरिष्ठों ने उन्हें सेल्फ-आइसोलेशन में रहने को कहा था, जो कि नियमों के अनुरूप जरूरी था. मिश्रा ने पिछले हफ्ते अपने आधिकारिक आवास में एकांतवास शुरू किया था, लेकिन नियम तोड़कर कानपुर चले गए.

गुरुवार को अधिकारियों को पता चला कि वह कोल्लम में अपने आधिकारिक आवास में मौजूद नहीं हैं. बाद में पुलिस की मदद से पता चला कि वह कानपुर में हैं. जिला कलेक्टर ने इसे स्पष्ट तौर पर नियामों का उल्लंघन माना है. अब राज्य सरकार को तय करना है कि उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की जानी चाहिए.

First Published : 27 Mar 2020, 03:24:21 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×