News Nation Logo

चीन सीमा पर रणनीतिक मिसाइल सिस्टम अभी तक नहीं लगा, हुई चार साल की देरी, सीएजी ने उठाए सवाल

सिक्किम के डाकोला (डोकलाम) में चीन के साथ काफी तनाव चल रहा है लेकिन चीन से संबंधित भारतीय वायु सेना की रणनीतिक मिसाइल प्रणाली अभी तक तैनात नहीं की गई है और इसमें चार साल की देरी की गई है।

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Tripathi | Updated on: 29 Jul 2017, 12:41:28 PM
भारत-चीन सीमा

नई दिल्ली:

सिक्किम के डाकोला (डोकलाम) में चीन के साथ काफी तनाव चल रहा है लेकिन चीन से संबंधित भारतीय वायु सेना की रणनीतिक मिसाइल प्रणाली अभी तक तैनात नहीं की गई है और इसमें चार साल की देरी की गई है। नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट में इसका खुलासा किया गया है।

डाकोला (डोकलाम) में भारत और चीन के बीच तनातनी चल रही है और संसद में रक्षा से संबंधित सीएजी की रिपोर्ट पेश की गई। रिपोर्ट में कहा गया है, 'खतरों को देखते हुए भारत सरकार ने 2010 में भारतीय वायुसेना के लिये 'S'सेक्टर में रणनीतिक मिसाइलों की तैनीती करने का फैसला लिया था। इस प्रणाली को विभिन्न चरणों में जून 2013 और दिसंबर 2015 के बीच तैनात किया जाना था।'

रिपोर्ट में कहा गया है, 'लेकिन चार साल के बाद भी अभी तक इस महत्वपूर्ण प्रणाली का निर्माण नहीं किया गया है और राणनीतिक लक्ष्य पूरा नहीं हो पाया है।'

हालांकि सीएजी की रिपोर्ट में तैनात किए जाने वाले मिसाइल के नाम का खुलासा नहीं किया गया है।, लेकिन माना जा रहा है कि जमीन से ज़मीन में मार करने वाले आकाश मिसाइल की चर्चा की गई है। दिसंबर 2008 में केंद्र सरकार ने आकाश मिसाइल को तैनात करने को मंजूरी दी थी।

और पढ़ें: अरुण जेटली का आश्वासन, आपात स्थिति से निपटने के लिए सेना पूरी तरह लैस

आकाश मिसाइल को डीआरडीओ ने विकसित किया है और इसे वायुसेना के शामिल कर पिचोरा मिसाइल सिस्टम की जगह तैनात किया जाना था। आकाश 30 किलोमीटर दूर से ही दुश्मन के एयरक्राफ्ट को गिरा सकता है। इसके अलावा वो 18,000 मीटर तक की ऊंचाई तक भी मार कर सकता है।

और पढ़ें: अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा, भारत-चीन सीमा विवाद युद्ध का कारण बन सकता है

ऑडिट में सीएजी ने पाया है कि भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड ने जो मिसाइल सप्लाई की है वो गुणवत्ता में खरे नहीं पाए गए। 2014 से लेकर अब तक सप्लाई किए गए मिसाइलों में से 30 फीसदी टेस्ट फेल हो गए। ये अपने लक्ष्य को भेदने में कामयाब नहीं रहे। साथ ही जो रफ्तार होनी चाहिये थी वो नहीं प्राप्त कर पाई। साथ ही कई पुर्ज़ों में खामियां और काम नहीं कर पाईं।

और पढ़ें: यूपी में अखिलेश से बगावत: सपा के दो नेता हो सकते हैं BJP में शामिल

नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार आज, मंत्री लेंगे शपथ

First Published : 29 Jul 2017, 12:40:48 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

India China Missile System