News Nation Logo

तालिबान-पाकिस्तान-चीन की तिकड़ी, कैसे तोड़ेगा भारत? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

तालिबान का 'आतंकी राज', अफगानिस्तान में क्रूर राज है. 1994 से 2001 तक बर्बर शासन रहा. तालिबान के चंगुल में अफगानिस्तान था. तालिबानी का सुप्रीम लीडर मुल्ला उमर था. हेड ऑफ सुप्रीम काउंसिल घोषित कर रखा था.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 13 Jul 2021, 09:21:57 PM
dkb

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

तालिबान का 'आतंकी राज', अफगानिस्तान में क्रूर राज है. 1994 से 2001 तक बर्बर शासन रहा. तालिबान के चंगुल में अफगानिस्तान था. तालिबानी का सुप्रीम लीडर मुल्ला उमर था. हेड ऑफ सुप्रीम काउंसिल घोषित कर रखा था. अलकायदा, हक्कानी नेटवर्क जैसे संगठन हैं. पाकिस्‍तान, सऊदी अरब, UAE ने मान्यता दी थी. कूटनीतिक संबंध के नाम पर तालिबानी राज को मान्यता मिली थी. वैश्विक दबाव में सऊदी अरब, UAE हाथ पीछे खींचे लिए हैं. मुल्ला उमर ने दमनकारी नीतियां चलाई थीं. सरेआम सज़ा-ए-मौत दी जाती थी. महिलाओं पर कई पाबंदियां थोपी गई थीं. 9/11 हमले के बाद तालिबान पर शिकंजा कसा गया. मुल्ला उमर के सिर पर 1 करोड़ डॉलर का इनाम है. मुल्ला उमर 23 अप्रैल 2013 को मारा गया था. तालिबान-पाकिस्तान-चीन की तिकड़ी, कैसे तोड़ेगा भारत? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

  • अटक से शुरू होता हिन्दुस्तान कटक तक : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • पाकिस्तान ने क्या किया है, आपने तो कत्लेआम किया है : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • तालिबान के पास हथियार कहां से आता है : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • तालिबान पर विश्वास नहीं कर सकते हैं : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • अफगानिस्तान की बर्बादी के पीछे तालिबान : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • तालिबान की ताकत के पीछे पाकिस्तान है : तारेक फतेह, लेखक और पत्रकार, कनाडा  
  • तालिबान पाकिस्तान की पैदाइश है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • अगर पाकिस्तान समझता है कि भारत अफगान नहीं पहुंच सकता है तो ये उनकी गलतफैमी है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाकिस्तान का कोई प्लान कामयाब नहीं होगा : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देगा भारत : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • अगर पाकिस्तान तालिबान के जरिये दुनिया को परेशान करेगा तो पाक को जवाब मिलेगा : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • अफगानिस्तान में चुनी हुई सरकार है : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • तालिबान पर ब्लैकमेल नहीं कर पाएगा पाक : मेजर जनरल जीडी बख्शी (रि.), रक्षा विशेषज्ञ 
  • पाकिस्तान अपने बनाए हुए तंत्र डील नहीं कर सकता है : आरएसएन सिंह (रि.), पूर्व RAW अफसर  
  • पहले अमेरिका और अब चीन पाक को खरीद रहा है : आरएसएन सिंह (रि.), पूर्व RAW अफसर  
  • कश्मीर में इन्होंने ग्लोबल जिहादी को भेजा था : आरएसएन सिंह (रि.), पूर्व RAW अफसर  
  • पाक को सबसे बड़ा डर तालिबान से है : आरएसएन सिंह (रि.), पूर्व RAW अफसर  
  • पाकिस्तान का वजूद जरूर खतरे में है : आरएसएन सिंह (रि.), पूर्व RAW अफसर  
  • अफगान में लोग मैच्यूर हो गए हैं : दाऊद मोहम्मदी, उपाध्यक्ष, TRF अफगानिस्तान  
  • अफगान में कोई तालिबानी सिस्टम नहीं होगा : दाऊद मोहम्मदी, उपाध्यक्ष, TRF अफगानिस्तान  
  • तालिबानी सेना के जवानों की संख्या सिर्फ 60 से 63 हजार है : दाऊद मोहम्मदी, उपाध्यक्ष, TRF अफगानिस्तान  
  • अफगानिस्तान में दहशतगर्दी हो ये पाकिस्तान कभी नहीं चाहेगा : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • हम किसी भी हुकूमत को स्वीकार नहीं करेंगे जो बंदूक के जोर पर आया हो : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • अफगान से पाक का हर तरह का रिश्ता है : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • पाक चाहता है कि अफगानिस्तान में अमन-चैन हो और वो तरक्की करे : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • अफगानिस्तान में दहशतगर्दी दोबारा ना हो : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • पाकिस्तान कानूनी तरीके से जो भी मदद होगा अफगानिस्तान का करेगा : आरिफ अब्बासी, महासचिव, PTI  
  • पिछले दिनों कुछ लोगों ने तालिबान के पक्ष में नारे लगाए थे : आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • जिन्होंने इनके 70 हजार लोगों को मार दिए थे और आज उनके लिए भंगड़े कर रहे हैं : आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • पाकिस्तान आज तालिबान का समर्थन कर रहा है : आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • पाकिस्तान खुद के लिए मुसीबत तैयार कर रहे हैं : आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • अभी पाकिस्तान की स्थिति कमजोर है : आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार  
  • हमने पाकिस्तान को लेकर दिखा है और अभी पाक में बैठे हुए हैं : अजीम बट्ट, पाकिस्तानी पत्रकार 
  • अफगानिस्तान में हमारे 70 हजार जवानों ने कुर्बानी दी है : अजीम बट्ट, पाकिस्तानी पत्रकार 
  • जो गले कांटने की बात करता है वो इस्लाम नहीं है : अजीम बट्ट, पाकिस्तानी पत्रकार 
  • भारत-पाक को हथियार के बजाए विकास में पैसा लगाना चाहिए : अजीम बट्ट, पाकिस्तानी पत्रकार 
  • पाक, तालिबान, चीन की तिगड़ी को भारत तोड़ देगा :  पलक सक्सेना, बरेली, दर्शक
  • जब तक मोदी सरकार रहेगी तब तक भारत पर कोई आंच नहीं आ पाएगा :  पलक सक्सेना, बरेली, दर्शक
  • मोदी सरकार रक्षा सेक्टर में ज्यादा ध्यान दे रही है :  पलक सक्सेना, बरेली, दर्शक
  • अभी की परिस्थितियां की काफी चिंताजनक है : रसेंद्र सिंह, बदायूं, दर्शक

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 13 Jul 2021, 07:51:32 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो