News Nation Logo
Banner

असम के बाद अब पूरे देश में NRC लागू करने में जुटा गृह मंत्रालय

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का अंतिम रूप जहां प्रगति पर है, वहीं गृह मंत्रालय अवैध आव्रजकों को देश से निर्वासित करने के लिए इसे देशभर में लागू करने के लिए काम कर रहा है.

IANS | Updated on: 20 Jul 2019, 01:06:53 PM
गृह मंत्रालय NRC को देशभर में लागू करने के लिए प्रयासरत

गृह मंत्रालय NRC को देशभर में लागू करने के लिए प्रयासरत

नई दिल्ली:

असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का अंतिम रूप जहां प्रगति पर है, वहीं गृह मंत्रालय अवैध आव्रजकों को देश से निर्वासित करने के लिए इसे देशभर में लागू करने के लिए काम कर रहा है. केंद्र सरकार द्वारा 30 मई को विदेशी (अधिकरण) आदेश, 1964 में संशोधन जारी किए जाने से एनआरसी को और व्यापक करने का मार्ग खुल रहा है. संशोधित आदेश राज्य सरकारों और यहां तक कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के जिला अधिकारियों को भारत में अवैध रूप से रह रहे विदेशियों की पहचान करने के लिए न्यायाधिकरण गठित करने की शक्ति प्रदान करता है.

और पढ़ें: इंच-इंच जमीन से अवैध प्रवासियों की पहचान कर निर्वासित करेंगे : अमित शाह

अब तक ऐसा न्यायाधिकरण गठित करने का अधिकार सिर्फ केंद्र सरकार के पास था. ये न्यायाधिकरण असम में अर्धन्यायिक निकाय हैं. सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में एनआरसी प्रक्रिया देश में सबसे ज्यादा बारीकी से देखी जाने वाली प्रक्रियाओं में से है क्योंकि इसकी अंतिम सूची प्रकाशित होने के बाद लाखों लोग देश के नागरिक नहीं रहेंगे.

ये भी पढ़ें: NRC के फाइनल ड्राफ्ट के लिए केंद्र और असम सरकार ने मांगा सुप्रीम कोर्ट से समय

एनआरसी को सिर्फ असम नहीं बल्कि राष्ट्रव्यापी करने पर जोर देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि सरकार सुनिश्चित करेगी कि भारत में रह रहे सभी अवैध शरणार्थी अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार निर्वासित कर दिए जाएं. शाह ने सदन में कहा, 'सरकार देश के हर हिस्से से अवैध आव्रजकों को निर्वासित करेगी.'

First Published : 20 Jul 2019, 01:04:27 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.