News Nation Logo
Banner

श्रीलंका नागरिकों द्वारा नशीली दवाओं की तस्करी को लेकर तमिलनाडु तट पर हाई अलर्ट

श्रीलंका नागरिकों द्वारा नशीली दवाओं की तस्करी को लेकर तमिलनाडु तट पर हाई अलर्ट

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 31 Aug 2021, 12:25:01 PM
High alert

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

चेन्नई: तमिलनाडु की कुलीन क्यू शाखा पुलिस और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली है कि श्रीलंकाई तमिल तमिलनाडु तट पर ड्रग्स की तस्करी करने की कोशिश की जा रही है, जिसके वहां हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

हाल ही में, लक्षद्वीप तट के पास एक श्रीलंकाई नागरिक एक नाव से करोड़ों रुपये की मादक दवाएं और पांच एके -47 असॉल्ट राइफलें जब्त की गईं थी।

श्रीलंकाई नागरिकों को नाव से गिरफ्तार किया गया था और रैकेट के सरगना सुरेश राज को पुलिस ने केरल से पकड़ा था, जिसने खुलासा किया था कि वह एक श्रीलंकाई तमिल है जो पिछले कई वर्षों से भारत में अवैध रूप से रह रहा है।

उसने यह भी बताया कि वह कई वर्षों से तमिलनाडु में था और हाल ही में उसने अपना ऑपरेशन केरल में स्थानांतरित कर दिया था।

गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों ने यह भी कहा कि वे अब समाप्त हो चुके लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम के पुनरुद्धार के लिए धन एकत्र कर रहे है, जिसके लिए वे पाकिस्तान से भारतीय तटों और अन्य विदेशी देशों में मादक पदार्थों की तस्करी करते हैं।

पुलिस सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों ने पाकिस्तान के विभिन्न तटों से भारत और श्रीलंका और तमिलनाडु के तटों तक चलाए जा रहे इस तरह के और भी अभियानों के बारे में खुलासा किया है, जिनमें रामेश्वरम और थूथुकुडी भी शामिल हैं, जो तस्करों के लिए प्रमुख गंतव्य हैं।

मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने हाल ही में श्रीलंकाई तमिल शरणार्थी शिविरों के लिए 317.40 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है और मुख्य रूप से इन शिविरों को लिट्टे गतिविधियों के लिए लॉन्चिंग पैड के रूप में इस्तेमाल करने से रोकने के लिए श्रीलंकाई तमिल शरणार्थियों को छात्रवृत्ति और अन्य सुविधाओं के लिए ये पैकेज घोषित किया गया है।

शीर्ष पुलिस सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री ने पहले ही गृह विभाग और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सूचित कर दिया है कि तमिलनाडु कोस्टल लाइन को अंतरराष्ट्रीय समर्थन के साथ ड्रग सिंडिकेट के लिए तस्करी के केंद्र में बदलने से रोका जाए।

तमिलनाडु की कुलीन क्यू शाखा पुलिस अलर्ट पर है और सभी मछुआरा संगठन के नेताओं को भी सूचित किया है कि वे नए चेहरों पर इनपुट प्रदान करें जो तमिलनाडु के मछली लैंडिंग केंद्रों और मछली पकड़ने खाड़ी में आ रहे हैं।

ड्रग सिंडिकेट गुजरात, मुंबई, तमिलनाडु और केरल तट से लेकर भारतीय तटीय रेखा के पार मछली पकड़ने के जहाजों का इस्तेमाल करने के लिए कुख्यात है और केंद्रीय एजेंसियों ने इस बारे में तटरक्षक को इत्तला दे दी है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 31 Aug 2021, 12:25:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.