News Nation Logo

भारी बारिश से कई राज्यों में तबाही , उत्तर प्रदेश में 79 लोगों की मौत

मौसम विभाग मे रविवार को भी पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की आशंका जताई है.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 29 Sep 2019, 08:15:24 AM
प्रतिकात्म तस्वीर

नई दिल्ली:  

एक बार फिर देश के कई राज्य भारी बारिश की चपेट में है. उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र जैसे कई राज्यों में भारी बारिश से परेशान लोगों की मुश्किलें बड़ गई है. इतना ही नहीं भारी बारिश के चलते लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ रही है. सबसे पहले बात करें उत्तर प्रदेश की, तो पिछले 2 दिनों में मौसम के कहर के चलते 79 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से 35 लोगों की मौत शनिवार को हुई.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारी बारिश के बाद आजमगढ़ और मिर्जापुर जिले में 4 लोगों की मौत होने की खबरे है, जबकि गाजीपुर और अंबेडकरनगर में 3 लोगों की मौत हो गई है. इससे पहले शुक्रवार को राज्य में 44 लोगों के मौत की खबर थी.

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर: भारतीय सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, 6 आतंकियों को किया ढेर

रविवार को भी भारी बारिश का अलर्ट

भारी बारिश के चलते कई इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है, जिसके बाद यहां हाई अलर्ट जारी किया गया है. जानकारी के मुताबिक मौसम विभाग मे रविवार को भी पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की आशंका जताई है.

वहीं दूसरी तरफ हालात को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारी भारिश में मरने वाले लोगों को 4 लाख रुपये का मुआवजा देने का भी आदेश दिया है.

यह भी पढ़ें: बीजेपी सरकार में 'बीमारू राज्य' बन गया उत्तर प्रदेश, अखिलेश यादव ने बोला हमला

उत्तराखंड में 6 और पुणे में 22 लोगों की मौत

वहीं बात करें उत्तराखंड की तो यहां भी भारी बारिश के चलते हुए भूस्खलन की वजह से 6 तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई है. इसके अलावा पुणे के महाराष्ट्र में भी भारी बारिश और बाढ़ में मरने वालों की संख्या 22 हो गई है जबकि 5 लोग लापता बताए जा रहे हैं. इसके अलावा बिहार में भी भारी बारिश के चलते लोगों को काफी परेशानी हो रही है. जगह-जगह जलभराव हो गया और लोगों के घरों में भी पानी घुस गया है.

First Published : 29 Sep 2019, 08:11:35 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.