logo-image
लोकसभा चुनाव

कोरोना मरीजों के इलाज पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, शवों के अनुचित प्रबंधन का भी मामला

कोरोना वायरस (Corona Virus) के इलाज और शवों को अनुचित प्रबंधन मामले में आज सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई की जाएगी. कोर्ट ने इस मामले में स्वतः संज्ञान लिया था.

Updated on: 12 Jun 2020, 10:18 AM

नई दिल्ली:

देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ रही है. हर रोज करीब 10 हजार कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. हालत यह है कि कई अस्पतालों में बेड खाली नहीं है. अस्पतालों में कोरोना के इलाज को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया है. इस मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की जानी है. न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति एमआर शाह की खंडपीठ इस मामले में सुनवाई करेगी.

यह भी पढ़ेंः मानसून में और कहर बरपाएगा कोरोना, IIT बॉम्बे के प्रोफेसरों का खुलासा

जानकारी के मुताबिक मुख्‍य न्‍यायाधीश (Chief Justice of India) एसए बोबड़े (SA Bobde) ने कोरोना मरीजों और शवों के अनुचित प्रबंधन के आरोपों पर स्‍वत: संज्ञान लेते हुए मामले को न्यायमूर्ति अशोक भूषण (Justice Ashok Bhushan) की अध्‍यक्षता वाली पीठ को सुपुर्द किया. दरअसल मीडिया रिपोर्ट में लगातार कोरोना मरीजों के इलाज में लापरवाही और कोरोना मरीजों के शवों के अनुचित प्रबंधन की खबरें सामने आ रही थी. इसी पर कोर्ट ने संज्ञान लिया है.

दिल्ली हाईकोर्ट भी दे चुकी है दखल
दिल्ली हाईकोर्ट ने भी कोरोना की वजह से अपनी जान गंवा चुके मरीजों के शवों के अंतिम संस्कार में हो रही देरी पर आदेश जारी किए थे. दिल्ली हाईकोर्ट ने सभी प्राइवेट अस्पतालों को 20 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने के लिए कहा है. कोर्ट ने अस्पतालों को निर्देश दिया है कि सभी मरीजों का कोरोना टेस्ट करें, चाहे उनमें लक्षण हों या ना हों. हालांकि दिल्ली के सरकारी अस्पतालों की स्थिति में अभी भी कुछ बदलाव नहीं आया है. दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के रिकॉर्ड मामले दर्ज किए गए थे.

यह भी पढ़ेंः उद्धव सरकार के कैबिनेट मंत्री धनंजय मुंडे को हुआ कोरोना, पांच कर्मचारी भी पॉजिटिव

दिल्ली में 24 घंटे में रिकॉर्ड मामले दर्ज
पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के रिकॉर्ड 1877 मामले दर्ज किए गए हैं. ये दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों का सबसे बड़ा उछाल है. इसके साथ ही दिल्ली में एक ही दिन में 65 मौतें भी दर्ज की गई. इसके साथ ही दिल्ली में मौत का आंकड़ा भी 1000 के पार चला गया है. नए मामलों के बाद दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या 34687 हो चुकी है.

देशभर में तीन लाख के करीब मामले
कोरोना वायरस के मामले पूरे देश में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. अब तक 2 लाख 86 हजार मामले दर्ज किए जा चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कुल मरीजों की संख्या 2 लाख 86 हजार 579 है, जिसमें 8 हजार 102 लोगों की मौत हो चुकी है.