News Nation Logo

BREAKING

Banner

कर्नाटक का 'नाटक' खत्म, एचडी कुमारस्वामी की सरकार गिरी; जानें किस पार्टी को मिले कितने वोट

कर्नाटक का 'नाटक' आखिरकार खत्म हो गया है. कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी असफल हो गए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 23 Jul 2019, 11:53:37 PM
एचडी कुमार स्वामी (ANI)

एचडी कुमार स्वामी (ANI)

नई दिल्ली:

कर्नाटक का 'नाटक' आखिरकार खत्म हो गया है. कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी असफल हो गए हैं. कर्नाटक में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) गठबंधन की सरकार गिर गई है. मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव एचडी कुमारस्वामी ने पेश की थी. विश्वास मत के पक्ष में 99 वोट, जबकि विरोध में 105 वोट पड़े हैं.

यह भी पढ़ेंः Karnataka floor test: हिंसा की आशंका को देखते हुए बेंगलुरु में धारा 144 लागू

विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश ने कांग्रेस के 12 बागी विधायकों को मंगलवार सुबह 11 बजे उपस्थित रहने के लिए समन भेजा था, लेकिन उन्होंने निजी कारणों का हवाला देकर बेंगलुरु आने में असमर्थता जाहिर करते हुए मुलाकात के लिए चार सप्ताह का समय मांगा था. दो निर्दलीय विधायकों- आर. शंकर और एच. नागेश के आठ जुलाई को मंत्री पद से इस्तीफा देते हुए सरकार से समर्थन लेकर बीजेपी में जाने के बाद बीजेपी के पास 107 विधायक हो गए, जिनमें उसके अपने 105 विधायक हैं.

बता दें कि फ्लोर टेस्ट से पहले सीएम एचडी कुमारस्वामी ने सदन में कहा था कि मैं कर्नाटक की जनता के साथ ही स्पीकर से माफी मांगता हूं. विपक्ष जल्दी सत्ता में आना चहता है. उम्मीद थी कि कुछ लोग बदल सकते हैं, लेकिन वह नहीं बदले. मैं एक्सीडेंटल चीफ मिनिस्टर हूं. मैं गलती से राजनीति में आ गया हूं.

यह भी पढ़ेंः संकट में कर्नाटक सरकारः सदन में बोले CM कुमारस्वामी- मैं खुशी-खुशी सीएम पद छोड़ने के लिए तैयार हूं 

सदन में सीएम कुमारस्वामी ने कहा, मैं हमेशा राजनीति से दूर रहना चाहता था. मेरी पत्नी से शादी के दौरान कहा था कि वह किसी राजनेता से शादी नहीं करना चाहती थी. अब वह भी विधायक है. यह सिर्फ संयोग है. मैं फिल्मी बैकग्राउंड से हूं. मैं प्रोड्यूसर था. पिछले साल विधानसभा चुनाव में किसी को बहुमत नहीं मिला, जैसा कि सिद्धारमैया पहले ही कह चुके हैं. मैं इसे फिर से उजागर करना चाहता हूं, क्योंकि विपक्षी नेता ने बार-बार कहा है कि यह एक अपवित्र गठबंधन है.

सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि हमें इस चर्चा में समय लग सकता है. यह भी उम्मीद थी कि लोग खुद को बदल सकते हैं. इससे आपको और विपक्ष को चोट लगी है जो सत्ता में आने की जल्दी में हैं. मुझे कोई चिंता नहीं है. मैंने कई गलतियां और अच्छी चीजें की हैं और मैंने कोशिश की है कि गलतियां सुधारें.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक Updates: विश्वास प्रस्ताव में गिर गई कांग्रेस-JDS सरकार, बीजेपी ने जीता फ्लोर टेस्ट

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी भावुक होकर सदन में बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज की तरह ही 2004 में किसी के पास बहुमत नहीं था. मैं विपक्ष के नेताओं को बताना चाहता हूं जो उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले अपने कार्यकर्ताओं को बताना चाहिए. सोशल मीडिया से समाज को बर्बाद कर दिया है. सोशल मीडिया पर लोग कहते हैं कि मैं ताज वेस्ट एंड में रह रहता हूं और लोगों को लूट रहा हूं. मैं वहां क्या लूटूंगा?

उन्होंने आगे कहा, मैं इस सरकार को बचाने और बचाने की भरपूर कोशिश कर रहा था. क्या त्रासदी! क्या उन लोगों में कोई मानवता है जो सोशल मीडिया पर हैं? हम कहां पहुंचे गए हैं? मैं बहुत संवेदनशील और भावनात्मक व्यक्ति हूं. जब मैंने अपने खिलाफ रिपोर्ट देखी तो मुझे आश्चर्य हुआ कि क्या मुझे इसके लिए मुख्यमंत्री होना चाहिए. मुझे दुख है, मैं खुशी खुशी इस पद को छोड़ सकता हूं.

सीएम एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि मैंने कर्नाटक में किसानों को ठगा नहीं है. मीडिया का कहना है कि ट्रैक्टर और होम लोन का भुगतान नहीं किया गया है. जब गुलाम नबी आजाद ने मुझे फोन किया था मैं एक होटल में था. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सभी कांग्रेस नेता मेरा और गठबंधन सरकार का समर्थन करेंगे. होटल का वह रूम मेरे लिए लकी था.

First Published : 23 Jul 2019, 07:49:28 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×