News Nation Logo
Banner

Hathras Case Live : बढ़ाई गई पीड़ित परिवार की सुरक्षा, जगह-जगह लगाए गए CCTV कैमरे

हाथरस गैंगरेप मामले की जांच के लिए सचिव गृह भगवान स्वरूप की अध्यक्षता में बनाई गई एसआईटी को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए 10 दिन का वक्त दिया गया है. इस मामले में एसआईटी को जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 07 Oct 2020, 01:32:46 PM
Hathras Case SIT

हाथरस गैंगरेप में एसआईटी जांच (Photo Credit: न्यूज नेशन)

हाथरस :

हाथरस गैंगरेप मामले की जांच के लिए सचिव गृह भगवान स्वरूप की अध्यक्षता में बनाई गई एसआईटी को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए 10 दिन का वक्त दिया गया है. इस मामले में एसआईटी को जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है. दरअसल आज एसआईटी हाथरस केस में सरकार को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपने वाली थी, लेकिन एसआईटी ने अब जांच का दायरा बढ़ा दिया है.  

हाथरस केस में स्थानीय लोगों ने बताया कि हमारे देश में जातीय दंगा फैलने की कोशिश की जा रही है. आखिर पीड़ित परिवार 14 तारीख को क्यों नहीं बोला. ये लोग उस दिन क्यों मिलने किसी से नहीं आए.


हाथरस केस में स्थानीय लोगों ने News Nation से कहा- दंगा भड़काने के लिए साजिश रही गई है. पीड़ित परिवार झूठ बोल रहा हैं. जांच में सब सामने आएगा.


राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने हाथरस केस में रणजीत श्रीवास्तव द्वारा की गई आपत्तिजनक और अपमानजनक टिप्पणी की कड़ी निंदा की है. आयोग ने उन्हें स्पष्टीकरण देने के लिए 26 अक्टूबर को सुबह 11 बजे एनसीडब्ल्यू के समक्ष पेश होने का निर्देश देते हुए एक नोटिस भेजा है.



हाथरस: बढ़ाई गई पीड़ित परिवार की सुरक्षा, जगह-जगह लगाए गए CCTV कैमरे

आरोपी संदीप और पीड़िता के भाई के बीच 13 अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 तक 104 बार और करीब 5 घंटे बात हुई. इन दोनों के घर 200 मीटर की दूरी पर ही हैं. ऐसा पहली बार है जब पीड़ित पक्ष नारको जांच कराने से भाग रहा है.


 


आरोपी संदीप और पीड़िता के भाई के बीच 13 अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 तक 104 बार और करीब 5 घंटे बात हुई. इन दोनों के घर 200 मीटर की दूरी पर ही हैं. ऐसा पहली बार है जब पीड़ित पक्ष नारको जांच कराने से भाग रहा है.


 

उत्तर प्रदेश में गिरफ्तार पीएफआई सदस्यों ने मास्टरमाइंड का खुलासा किया है. जो केरल में बैठा है जिसको 90 लाख की फंडिंग हुई थी. PFI का चेयरमैन केरल में सरकारी कर्मचारी है. PFI का चेयरमैन ओ एम अब्दुल सलाम केरल में बिजली विभाग में काम करता है. अब्दुल सलाम केरल विद्युत बोर्ड में वरिष्ठ सहायक कम कैशियर के पद पर तैनात है.

शिवसेना नेता और महाराष्ट्र विधान परिषद के उपसभापति डॉ. नीलम ने महाराष्ट्र गृहमंत्री से मांग की है कि पीड़ित लड़की या महिलाओं को शस्त्र लाइसेंस दिया जाए. जिस लड़की पर बार-बार हमला हो रहा हो या उससे छेड़खानी की का रही हो ऐसे लड़की अगर महिला ने मांग करने पर उसे सरकार शस्त्र लाइसेंस मुहैय्या करवाए.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाथरस से संबंधित सभी मामले, एफआईआर सीबीआई को दिए जाएंगे. साथ ही ये मिला जानकारी पता चली है कि हाथरस मामले में 50 करोड़ सिर्फ मारीशस से आए थे.

हाथरस मामले में एसआईटी को जांच के लिए 10 दिन का और समय दिए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सवाल खड़े किए है. सपा नेता अनुराग भदौरिया ने जांच मामले पर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा किया हैं.

एसआईटी की टीम आज फिर पहुंची पीड़िता के गांव. एसआईटी को सौंपनी थी आज जांच रिपोर्ट, लेकिन 10 दिन का समय बढ़ाया गया है. अब तमाम पहलुओं की जांच के बाद एसआईटी सौंपेगी अपनी जांच रिपोर्ट.

First Published : 07 Oct 2020, 09:47:19 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो