News Nation Logo

अब जर्मनी ने बढ़ाया मदद का हाथ, भारत को देगा ऑक्सीजन प्रोडक्शन प्लांट

अमेरिका कोविशील्ड वैक्सीन के भारतीय निर्माता को तत्काल कच्चा माल मुहैया कराने को लेकर दिन-रात काम कर रहा है. अब इसके बाद अच्छी खबर जर्मनी से है जिसने भारत को इस संकट काल में मदद करने की पेशकश की है. 

News Nation Bureau | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 28 Apr 2021, 05:00:26 PM
ger

German Ambassador to India (Photo Credit: ANI)

दिल्ली :  

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते संक्रमण और ऑक्सीजन के संकट झेल रहे भारत के लिए अच्छी खबर है. कोरोना के कहर के बीच भारत के लिए राहत भरी खबर जर्मनी से है.  बता दें कि देश भर कोरोना के दूसरे लहार में जो चीज की जरुरत सबसे ज्यादा महसूस की गयी है वो है ऑक्सीजन जिसके चलते कई लोगों की जान चली गयी. देश के डिप्लोमेटिक चैनल के रास्ते कई देशों ने इस संकट काल में भारत की मदद को लेकर आगे आये हैं. कई देशों से ऑक्सीजन आयत की जा रही है. राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के नेतृत्व में अमेरिकी प्रशासन कोविड-19 (COVID-19) महामारी से लड़ाई में भारत को इमरजेंसी सहायता मुहैया कराने के लिए तैयार है. इसके साथ ही अमेरिका कोविशील्ड वैक्सीन के भारतीय निर्माता को तत्काल कच्चा माल मुहैया कराने को लेकर दिन-रात काम कर रहा है. अब इसके बाद अच्छी खबर जर्मनी से है जिसने भारत को इस संकट काल में मदद करने की पेशकश की है. 

जर्मनी का साथ 
भारत में जर्मनी के राजदूत Walter J. Lindner ने इस संकट काल में मदद के लिए आगे आया है. उन्होंने कहा '  मैं आधा भारतीय और आधा जर्मन हूं. जब मैं सोशल मीडिया पर लोगों को अस्पताल और बेड़ की तलाश करने वाले लोगों के संदेश / तस्वीरें देखता हूं तो मेरा दिल दहल उठता है. हम सब इस त्रासदी से एक दिन उबरेंगे और फिर से भारत की सुंदरता जागृत होगी'. उन्होंने आगे कहा कि भारत ने दुनिया और जर्मनी को COVID संकट के समय  टीकों और दवाओं का उत्पादन करके मदद की है. अब हमें अपने दोस्त को वापस मदद करने की आवश्यकता है.

जर्मनी के राजदूत Walter J. Lindner ने कहा कि जर्मनी से हम भारत में एक बड़े ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र को जल्द ही लाएंगे जिससे कई लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती है. यह काफी लोगों को ऑक्सीजन प्रदान करेगा. हम इस ऑक्सीजन प्लांट को भारत में लाने के लिए  MEA, रेड क्रॉस और अन्य लोगों के संपर्क में हैं.

ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त ने हिंदी में कहा- 'भारत के साथ है यूके'
दूसरी ओर भारत में ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त एलेक्‍स एलिस ने ट्विटर पर ब्रिटेन की तरफ से हर तरह की मदद देने का वादा किया है. अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो संदेश में ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त हिंदी में बोलते नजर आ रहे हैं. वीडियो में वह कह रहे हैं- 'मुश्किल के इस वक्‍त में यूके भारत के साथ है. प्रधानमंत्री बोरिक जॉनसन ने भारत को वेंटिलेटर्स और ऑक्सिजन कंसट्रेटर्स भेजने का फैसला लिया है. कोरोना से इस जंग में यूके भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रहा है.'

सऊदी अरब और सिंगापुर का भी मिला साथ
बताया जा रहा है कि ब्रिटेन से कुल मिलाकर 9 कंटेनर भारत आएंगे, जिनमें 495 ऑक्‍सीजन कंसेंट्रेटर्स, 120 नॉन इन्‍वेसिव वेंटिलेसर्ट और 20 मैनुअल वेंटिलेटर्स शामिल हैं. ब्रिटेन के अलावा सिंगापुर और सऊदी अरब ने भी भारत का साथ देने का फैसला लिया है. सऊदी अरब भारत को 80 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्‍सीजन भेजेगा. इससे पहले शनिवार को सिंगापुर से भी वायुसेना 4 ऑक्सिजन टैंकर एयरलिफ्ट करके ले आई है.

First Published : 28 Apr 2021, 05:00:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.