News Nation Logo
Banner
Banner

जोजिला, जेड-मोड़ सुरंग को 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले तैयार कराना चाहते हैं गडकरी

जोजिला, जेड-मोड़ सुरंग को 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले तैयार कराना चाहते हैं गडकरी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 28 Sep 2021, 07:15:01 PM
Gadkari at

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

श्रीनगर: केंद्रीय सड़क और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को निर्देश दिया कि जम्मू-कश्मीर में जोजिला और जेड-मोड़ दोनों सुरंगों को 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले पूरा कर लिया जाए।

गडकरी ने मंगलवार को जोजिला और जेड-मोड़ सुरंगों का दौरा किया, जिसके पूरा होने से श्रीनगर-लेह राजमार्ग एक सदाबहार (ऑल-वेदर) सड़क बन जाएगी, जिस पर गर्मियों के अलावा सर्दियों में भी आवागमन हो सकेगा।

वर्तमान में जोजिला र्दे पर भारी हिमपात के कारण ठंडा रेगिस्तानी लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश महीनों तक देश के बाकी हिस्सों से कटा रहता है।

गडकरी ने जोजिला सुरंग में निर्माण कार्य पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि उन्होंने अधिकारियों को 2024 के संसदीय चुनाव से पहले सुरंगों को पूरा करने का निर्देश दिया है।

गडकरी ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, मैं निर्माण की गति से संतुष्ट हूं और मैंने अधिकारियों से कहा है कि मई 2024 से पहले सुरंगों का निर्माण पूरा कर लें, ताकि हम विपक्ष को दिखा सकें कि हमने क्या हासिल किया है।

गडकरी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में फिलहाल एक लाख करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजनाएं लागू की जा रही हैं।

उन्होंने कहा, सभी परियोजनाओं में छह जम्मू-कश्मीर के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं।

गडकरी ने कहा कि 2019 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सत्ता में आने के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग को 1695 किलोमीटर से बढ़ाकर 2664 किलोमीटर कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, राष्ट्रीय राजमार्ग में 969 किलोमीटर की वृद्धि हुई है।

जोजिला और जेड-मोड़ सुरंगें जोजिला पश्चिम पोर्टल के लिए 18 किलोमीटर लंबी अप्रोच रोड का हिस्सा हैं।

सेटलमेंट इंजीनियर बुरहान अहमद ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि एनएचआईडीसीएल जोजिला टनल पर सर्दियों के महीनों में काम जारी रखने के लिए तैयार है।

प्रशांत कुमार (डीजीएम) ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सुरंग का ऐतिहासिक महत्व है और सरकार पिछले 20 वर्षों से इस परियोजना पर काम कर रही है।

कुमार ने कहा, एक दिन बर्बाद किए बिना, हम जम्मू-कश्मीर के लोगों को लद्दाख यूटी के द्रास क्षेत्र से जोड़ने के लिए निर्धारित तिथि से पहले परियोजना को पूरा करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं।

एक बार पूरा हो जाने पर, जोजिला सुरंग भारत की सबसे लंबी सुरंग वाली सड़क और एशिया की सबसे लंबी द्वि-दिशात्मक सुरंग होगी।

इस मार्ग पर कई पुलों का निर्माण किया जा रहा है और सोनमर्ग और कारगिल के बीच जोजिला घाटों में राष्ट्रीय राजमार्ग-1 में जेड-मोड़ से जोजिला सुरंग तक एक जोड़ने वाली सुरंग का निर्माण किया जाएगा।

33 किमी के अंतराल में पूरे काम को दो डिवीजनों में बांटा गया है। जोजिला सुरंग की परियोजना स्थल सोनमर्ग (जम्मू एवं कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश) से शुरू होने वाले मौजूदा राजमार्ग (एनएच-1) पर स्थित है और यह 2700 मीटर से 3300 मीटर की ऊंचाई पर मिनिमार्ग (लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश) पर समाप्त होती है।

वर्तमान स्थल भूकंपीय क्षेत्र 4 में आता है और सुरंगों की सुरक्षा के लिए सभी एहतियाती उपाय किए गए हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 28 Sep 2021, 07:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.