News Nation Logo
Banner

कृषि कानून से लेकर मूर्ति और स्मारक तक... मायावती के भाषण की 10 बड़ी बातें 

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती का प्रबुद्ध सम्मेलन शुरू हो चुका है. कार्यक्रम में मायावती के संबोधन से पहले जय श्री राम और जय परशुराम के नारे भी लगे. सम्मेलन के दौरान बसपा का पुराना नारा 'हाथी नहीं गणेश है, ब्रह्मा, विष्णु,महेश है.' भ

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 07 Sep 2021, 01:28:57 PM
Mayawati

मायावती (Photo Credit: ANI)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में बसपा सुप्रीमो मायावती का प्रबुद्ध सम्मेलन में विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला. कार्यक्रम में मायावती के संबोधन से पहले जय श्री राम और जय परशुराम के नारे भी लगे. सम्मेलन के दौरान बसपा का पुराना नारा 'हाथी नहीं गणेश है, ब्रह्मा, विष्णु,महेश है.' भी सुनाई दिया. मायावती ने अपने संबोधन में सपा, कांग्रेस के साथ ही बीजेपी पर भी जमकर हमला बोला. उन्होने कहा कि इस बार प्रदेश में BSP की सरकार बनने जा रही है. जानें बसपा प्रमुख मायवती के भाषण की 10 बड़ी बातें

  1. मायावती ने कहा कि अब प्रदेश में नए स्मारक और मूर्ति बनाने की नहीं पड़ेगी. जब आगे सरकार बनेगी तो पूरी ताकत यूपी की तस्वीर बदलने पर लगाऊंगी. लेकिन कुछ धर्म-जाति के लोग चाहते हैं कि अगर उनके संत, गुरुओं का आदर सम्मान करें तो ऐसा जरूर किया जाएगा.
  2. 2022 में बीएसपी की सरकार बनने पर एक आयोग गठित किया जाएगा और वित्त विहीन शिक्षक को उचित मानदेय भी दिया जाएगा.
  3. मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने किसानों से वादा किया था कि वह उनकी आय दोगुनी करेगी. हमारी सरकार बनी थी तो किसानों को गन्ने का मूल्य ₹125 प्रति क्विंटल मिलता था. हमने इसे दोगुना कर दिया. 
  4. मायावती ने सिद्धार्थ शुक्ला की मौत का जिक्र करते हुए कहा कि देश या दुनिया में कोई नई बीमारी कब आ जाए कुछ कहा नहीं जा सकता. आजकल ये भी नहीं पता कि कौन कब दुनिया छोड़कर चला जाए. हाल में कलाकार जिनकी उम्र ज्यादा नहीं थी, देखने में बिल्कुल स्वस्थ थे उनका निधन हो गया. 
  5. बीजेपी ने किसानों का वोट लेते हुए वादा किया था कि आमदनी दो गुना बढ़ा दी जाएगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. मायावती ने कहा कि BSP की राज्य में सरकार बनी तो तीन नए कृषि कानून लागू नहीं होने देंगे.
  6. मायावती ने कहा मैं कोरोना काल में जानबूझकर लखनऊ से नहीं निकली, क्योंकि ऐसा करने पर कार्यकर्ताओं पर कोरोना नियमों के उल्लंघन के मुकदमे दर्ज होते. फिर कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी की जगह मुकदमे की वजह से कानूनी कार्रवाई में फंसे रहते.
  7. मायावती ने कहा कि मोहन भागवत से पूछना चाहती हूं कि RSS, BJP मुसलमानों के साथ सौतेला रवैया क्यों अपनाती है.
  8. मैं आह्वान करती हूं अपने सभी कार्यकर्ताओं का सभी नेताओं का कि सभी विधानसभा में जाकर ब्राह्मणों को युद्ध स्तर पर अपने साथ जोड़ें. मायावती ने कहा कि इस बार बीएसपी 2007 वाली जीत दोहराएगी
  9. बीएसपी ये वादा करती है की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज का पूरा ख्याल रखा जाएगा उन्हें उचित प्रतिनिधित्व दिया जाएगा और जो भी गलत कार्रवाई की गई है उसमें जिन अधिकारियों को दोषी पाया जाएगा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. 
  10. प्रत्येक विधानसभा में 1000 ब्राह्मण कार्यकर्ता तैयार करने हैं बनाने हैं और इसके लिए हमारे कार्यकर्ताओं को जुटना होगा. साथ-साथ ब्राह्मणों में महिलाओं की भी कार्यकर्ताओं को तैयार किया जाएगा इसकी जिम्मेदारी हमने सतीश चंद्र मिश्रा की पत्नी कल्पना मिश्रा को दी है.

First Published : 07 Sep 2021, 01:27:12 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.