News Nation Logo
Banner

बाढ़ का कहर जारी, बिहार, UP, बंगाल, असम में अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत

बिहार, उत्तर प्रदेश, असम, पश्चिम बंगाल भीषण बाढ़ की चपेट में है। अब तक 300 से अधिक लोगों की जानें जा चुकी है।

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 19 Aug 2017, 09:47:31 AM
मोतिहाहरी में खाने के लिए इंतजार में लोग (फोटो-PTI)

मोतिहाहरी में खाने के लिए इंतजार में लोग (फोटो-PTI)

highlights

  • बाढ़ की चपेट में बिहार, उत्तर प्रदेश, असम और पश्चिम बंगाल, 300 से अधिक लोगों की मौत
  • बिहार में जानमाल का भारी नुकसान, अब तक 153 लोगों की मौत
  • उत्तर प्रदेश के 8 जिले बाढ़ से प्रभावित, अब तक 36 की मौत

नई दिल्ली:

बिहार, उत्तर प्रदेश, असम और पश्चिम बंगाल भीषण बाढ़ की चपेट में है। अब तक 300 से अधिक लोगों की जानें जा चुकी है।

बिहार के सीमांचल क्षेत्रों और नेपाल में लगातार हो रही बारिश के कारण राज्य की सभी प्रमुख नदियां उफान पर हैं। नदियों के जलस्तर में वृद्धि के कारण बाढ़ की स्थिति गंभीर बनती जा रही है।

बिहार के 17 जिलों में बाढ़ का पानी फैल गया है, जिससे करीब एक करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं। बाढ़ की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 153 तक पहुंच गई है।

आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि राज्य के 17 जिलों के 156 प्रखंडों की 1.08 करोड़ से ज्यादा की आबादी बाढ़ से प्रभावित है। उन्होंने कहा कि बाढ़ की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है।

अररिया में सबसे ज्यादा 30 लोगों की मौत हुई है, जबकि किशनगंज में 11, पूर्णिया में नौ, कटिहार में सात, पूर्वी चंपारण में 11, पश्चिमी चंपारण में 23, दरभंगा में चार, मधुबनी में आठ, सीतामढ़ी में 13, शिवहर में तीन, सुपौल में 11, मधेपुरा में नौ, गोपालगंज व सहरसा में चार-चार, मुजफ्फरपुर में एक, खगड़िया में तीन तथा सारण में दो व्यक्ति की मौत हुई है।

और पढ़ें: अररिया में बाढ़ का भयानक मंजर, पुल सहित महिला और उसके बच्चे बहे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों से बाढ़ से प्रभावित परिवारों को समय पर राहत देने को कहा है। साथ ही कुछ और नए इलाकों में खाने के पैकेट गिराने के आदेश दिए हैं। शुक्रवार को पटना में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बाढ़ से संबंधित समीक्षा बैठक में नीतीश ने कई और महत्वपूर्ण निर्देश दिए।

बागमती नदी डूबाधार, सोनाखान और बेनीबाद में, जबकि कमला बलान नदी झंझारपुर में खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। अधवाड़ा समूह की नदियां भी कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

उत्तर प्रदेश

वहीं उत्तर प्रदेश में भी बाढ़ का कहर जारी है। अब तक 36 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं 14 लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं। बलरामपुर, बस्ती, सिदार्थनगर, बाराबंकी, अयोध्या, लखीमपुर, महाराजगंज और गोंडा के हजारों गांव बाढ़ से प्रभावित है। राज्य प्रशासन ने सेना की मदद मांगी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को बाढ़ग्रस्त बलरामपुर का दौरा किया। स्पोर्ट्स स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरित की। उन्होंने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के प्रति थोड़ी सी भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। बाढ़ पीड़ितों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं होने दी जाएगी।

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में भी बाढ़ से स्थिति गंभीर होती जा रही है। बंगाल में अब तक 52 लोगों की मौत हो गई। पश्चिमब बंगाले के कूचबिहार, दक्षिण दिनाजपुर, उत्तर दिनाजपुर, जलपाईगुड़ी, अलीपुरद्वार और मालदा के करीब 15 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

असम

राज्य के 20 जिलों के 2,200 से ज्यादा गांव अभी भी पानी में डूबे हुए हैं और मरने वालों की संख्या बढ़कर 60 हो गई है। असम में बीते 24 घंटे में बाढ़ की दूसरी लहर में 11 लोगों की मौत हुई। असम जुलाई से बाढ़ की तबाही झेल रहा है।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा कि कुल 25,93,314 लोग बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। हाल में हुई 11 मौतें बक्सा, बारपेटा, बोंगियागांव, धुबरी, दक्षिण सलमारा, कामरुप, मोरिगांव व कोकराझार जिलों में हुई हैं।

और पढ़ें: गोवा के चर्च की पत्रिका में छपे लेख पर बवाल, नाजी शासन से की मोदी सरकार की तुलना

First Published : 18 Aug 2017, 11:02:17 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो