News Nation Logo
Banner

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण का राहुल गांधी पर निशाना, कहा-ये शर्म की बात

मुख्य आर्थिक सलाहकार के सुब्रमण्यन देश की आर्थिक व्यवस्था को लेकर वो एक प्रेस कांफ्रेंस कर रही हैं.

By : Ravindra Singh | Updated on: 13 Dec 2019, 05:28:10 PM
निर्मलासीतारमण

निर्मलासीतारमण (Photo Credit: न्यूज स्टेटस)

दिल्ली:

देश की आर्थिक सुस्‍ती के बीच वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण मीडिया के सामने सरकार की उपलब्धियों को बताने के लिए आई हैं. मीडिया से बातची के दौरान उन्होंने बताया कि देश को एक बार फिर इकोनॉमी को बूस्‍टर डोज मिलने की उम्‍मीद है. प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की शुरुआत इकोनॉमिक एडवाइजर कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन ने की है. इस दौरान उन्‍होंने बताया कि सरकार 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी की ओर आगे बढ़ रही है. के सुब्रमण्यन ने बताया कि हमारे पास एक सुनियोजित रणनीति है. हमने सार्वजनिक उपक्रमों सहित सरकार के बकाए को मंजूरी दे दी है. हमने MSMEs का समर्थन किया है.

सरकार जल्द से जल्द प्याज को बाजार में आयात करने और लाने के लिए कदम उठा रही है

वित्तमंत्री ने प्याज की कीमतों पर कहा कि अब कीमतें कम हो रही हैं, सरकार अभी इम्पोर्ट कर रही है , प्याज़ मौसम के कारण खराब हुई. 



राहुल गांधी ने बयान भयावह यह शर्म की बात है कि एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता महिलाओं की गरिमा को भूल जाने की बात करता है: निर्मला सीतारमण 



दे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा कहा ये काफी शर्म की बात है, और ये बहुत बुरा है

सबका विश्वास स्कीम के तहत अभी तक 27911 करोड़ रुपये के सेटलमेंट के लिए 52037 आवेदन आये हैं

जीएसटी और इनकम टैक्स रिफंड में पिछले साल से बढ़ोतरी हुई हैं क्योंकि हमने रिफंड सिस्टम ऑनलाइन कर दिया है

1 अप्रैल 2020 से इनकम टैक्स में जिनका टर्न ओवर 100 करोड़ है उन्हें ई इनवॉइस जेनेरेट करना मेंडेटरी कर दिया गया है 1 अप्रैल 2020 से लागू होगा

एग्रीकल्चर सेक्टर में काम करने वालों लोगों में 5 फीसदी कमी आयी है वही सर्विस सेक्टर में 4% और इंडस्ट्री में 1% का इज़ाफ़ा हुआ है

रेगुलर सैलरीड कमर्चारियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है और कैज़ुअल कमर्चारियों की संख्या में कमी आयी है

सरकारी बैंकों की तरफ से 4.9 लाख करोड़ का लोन बांटा गया है ः के सुब्रमण्यन

FDI इनफ्लो 35 बिलियन डॉलर 19-20 में आया जबकि पिछले साल 31 बिलियन डॉलर था ः के सुब्रमण्यन

27 नवंबर तके 72.201 करोड़ के लोन रेपो रेट बेस्ड लेंडिंग रेट के तहत बांटे गएः के सुब्रमण्यन

आंशिक क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत  7657 करोड़ के 17 प्रस्ताव आये हैं ः के सुब्रमण्यन

सरकारी कंपनियों की तरफ से भुगतान, NBFC और HFC की मदद, MSMEs और टैक्स रिफंड शामिल हैः  के सुब्रमण्यन

कंसम्पशन डिमांड बढ़ाने के लिए सरकार ने कई सारे कदम उठाए हैः के सुब्रमण्यन


 

अर्थव्यस्था को बूस्ट करने से लिये सरकार की तरफ से उठाए गए हैंः के सुब्रमण्यन

बैंकों की धोखाधड़ी को रोकने के लिए सरकार ने बोर्ड का गठन किया ः के सुब्रमण्यन

कॉर्पोरेट को 2.2 लाख करोड़ के लोन दिए गए: के सुब्रमण्यन

अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सरकार का विनिवेश पर फोकस -  के सुब्रमण्यन

2 महीने में पीएसयू के 61 हजार करोड़ का कर्ज चुकाया -  के सुब्रमण्यन

एनबीएफसी के लिए सरकार ने कई कदम उठाए-  के सुब्रमण्यन

रिटेल लैंडिग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कई फैसले लिए- के सुब्रमण्यन

क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत सरकार ने 17 प्रस्ताव मंजूर किए- के सुब्रमण्यन

सरकार की तरफ से लिये गए मेजर एक्शन से अर्थव्यवस्था को बढ़ाने के लिएः  के सुब्रमण्यन

First Published : 13 Dec 2019, 03:46:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×