News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

कांग्रेस सरकार ने हार के डर से पीएम के कार्यक्रम को विफल करने के लिए हर संभव कोशिश की : नड्डा

कांग्रेस सरकार ने हार के डर से पीएम के कार्यक्रम को विफल करने के लिए हर संभव कोशिश की : नड्डा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 05 Jan 2022, 09:35:01 PM
Fearing defeat,

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में चूक की रिपोर्ट के बाद भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस सरकार ने करारी हार के डर से राज्य में प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों को विफल करने के लिए हर संभव कोशिश की।

प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को सुरक्षा उल्लंघन के कारण पंजाब के फिरोजपुर की अपनी निर्धारित यात्रा स्थगित कर दी।

इससे पहले फिरोजपुर में आयोजित एक कार्यक्रम के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने घोषणा की थी कि प्रधानमंत्री किन्हीं कारणों से शामिल नहीं हो पाएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी को 42,750 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने के लिए फिरोजपुर, पंजाब का दौरा करना था।

नड्डा ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री पंजाब में जिस कार्यक्रम में हजारों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की शुरूआत करने वाले थे, उसमें व्यवधान डाला गया। उन्होंने कहा, लेकिन हम इस छोटी मानसिकता के चलते पंजाब के विकास को अवरुद्ध नहीं होने देंगे। पंजाब के विकास का हमारा प्रयास जारी रहेगा।

उन्होंने कहा, मतदाताओं के हाथों पराजय के भय से पंजाब की कांग्रेस सरकार ने राज्य में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को विफल करने के लिए हरसंभव हथकंडे अपनाए। ऐसा करने के दौरान उन्होंने यह भी नहीं सोचा कि प्रधानमंत्री, भगत सिंह और अन्य शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने वाले थे और कई विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने वाले थे। ऐसी गंदी राजनीति कर पंजाब की कांग्रेस सरकार ने दिखा दिया है कि वह विकास विरोधी है और स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति उसके मन में कोई सम्मान नहीं है।

नड्डा ने कहा कि सबसे चिंताजनक बात यह है कि इस दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक हुई। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों को प्रधानमंत्री के रास्ते में आने दिया गया जबकि राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक ने एसपीजी को आश्वासन दिया था कि रास्ता साफ है।

उन्होंने कहा, मामला तब और गंभीर हो जाता है जब मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी फोन पर बात करने या मामले का समाधान करने को भी तैयार नहीं हुए। पंजाब की सरकार का यह रवैया लोकतांत्रिक सिद्धांतों में विश्वास करने वाले सभी लोगों को टीस देने वाला है।

नड्डा ने आगे कहा कि राज्य पुलिस को लोगों को रैली में शामिल होने से रोकने का निर्देश दिया गया था। पुलिस की सख्ती और प्रदर्शनकारियों की मिलीभगत के कारण बड़ी संख्या में बसें फंसी हुई थीं।

उन्होंने कहा, यह दुखद है कि पंजाब के लिए हजारों करोड़ की विकास परियोजनाओं को शुरू करने के लिए पीएम का दौरा बाधित हो गया। लेकिन हम इस तरह की घटिया मानसिकता को पंजाब की प्रगति में बाधा नहीं बनने देंगे और पंजाब के विकास के लिए प्रयास जारी रखेंगे।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 05 Jan 2022, 09:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.