News Nation Logo
Banner

किसान-केंद्र के बीच अब तक क्यों नहीं बनी बात? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas

नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. किसानों के प्रदर्शन के बीच भाजपा की पंजाब इकाई के नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर मुद्दे पर चर्चा की.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 14 Dec 2020, 09:22:25 PM
desh ki bahas

देश की बहस (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. इसे लेकर कई किसान संगठनों ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की. किसानों के प्रदर्शन के बीच भाजपा की पंजाब इकाई के नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर मुद्दे पर चर्चा की. प्रतिनिधिमंडल में भाजपा की पंजाब इकाई के प्रमुख अश्वनी शर्मा और केंद्रीय मंत्री सोमप्रकाश के साथ राज्य से पार्टी के नेता सुरजीत ज्याणी और हरजीत ग्रेवाल भी शामिल थे. किसान-केंद्र के बीच अब तक क्यों नहीं बनी बात? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें.

  • कांग्रेस समेत अन्य दल कृषि कानून पर राजनीति कर रहे हैं : नलिन कोहली, राष्ट्रीय प्रवक्ता, BJP 
  • एपीएमसी से कोई हटा नहीं रहा है : नलिन कोहली, राष्ट्रीय प्रवक्ता, BJP 
  • कुछ राजनैतिक दल किसानों के बीच में भ्रम फैला रहे हैं : नलिन कोहली, राष्ट्रीय प्रवक्ता, BJP 
  • कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता ने मोदी के खिलाफ लगे नारे के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा  : नलिन कोहली, राष्ट्रीय प्रवक्ता, BJP 
  • आप राजनैतिक के लिए इस हद तक चले जाएंगे कि इसका खंडन भी नहीं करेंगे : नलिन कोहली, राष्ट्रीय प्रवक्ता, BJP 
  • देश के किसानों के लिए 72 साल बाद जो हमने तय किया है वो होना चाहिए : भानु प्रताप सिंह, किसान नेता
  • पीएम मोदी से हम चाहते हैं कि वे किसान आयोग का गठन कर दे, इसमें सिर्फ किसान ही रहेंगे, कोई नेता नहीं रहेगा : भानु प्रताप सिंह, किसान नेता
  • 72 साल से किसान की नीतियों के कारण जिस तरह से किसानों को बर्बाद किया गया है उसे खत्म होना चाहिए : भानु प्रताप सिंह, किसान नेता
  • हमारा किसान देश के नेताओं का गुलाम है, लेकिन अब किसानों का आजाद होना चाहिए : भानु प्रताप सिंह, किसान नेता
  • सरकार ने कृषि कानून लाकर कोई गलत काम नहीं किया है  : रामनीक मान, किसान
  • 1970 से किसान इसी कानून की मांग कर रहे हैं : रामनीक मान, किसान
  • किसानों ने जिस मांग के लिए आजतक संघर्ष की थी, लेकिन आज कानून आने के बाद किसान क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं : रामनीक मान, किसान
  • अगर किसानों की सीधी बात सरकार से हो रही है, इसमें किसी के आने की जरूरत नहीं है  : रामनीक मान, किसान
  • नए कृषि कानून के तहत मंडी खत्म नहीं होगी, किसानों को प्राइवेट मंडी भी मिलेगी : रामनीक मान, किसान
  • कृषि कानून से किसानों को नुकसान नहीं : रामनीक मान, किसान
  • जिनके आजतक संघर्ष की वो मांग पूरी हो गई है, फिर भी प्रदर्शन क्यों हो रहा है : रामनीक मान, किसान
  • अगर किसान तीन कानून वापस करना चाहते हो तो जिन्हें एमएसपी का लाभ नहीं मिल रहा है वे कहां जाएंगे  : कृष्णबीर चौधरी, अध्यक्ष, भारतीय कृषक समाज 
  • क्या सरकार ने एमएसपी खत्म कर दी  : कृष्णबीर चौधरी, अध्यक्ष, भारतीय कृषक समाज 
  • मनमोहन सरकार तो फूट प्रोसिंस लाने की बात कर रही थी, तब एमएसपी खत्म हो जाती  : कृष्णबीर चौधरी, अध्यक्ष, भारतीय कृषक समाज 
  • मोदी सरकार को कृषि कानून लाने की क्या जरूरत थी : अभय दुबे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस 
  • एक तरफ किसान उत्पादन कर रहा है तो मोदी सरकार उद्योगपतियों के जरिये सस्ते दामों में अनाज इंपोर्ट कर रही है : अभय दुबे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस 
  • अगर कानून बनाने समय पीएम मोदी टाटा से बात कर सकते हैं तो किसान नेता टिकैत से क्यों नहीं बात की : अभय दुबे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस 
  • मोदी सरकार किसानों को बदनाम कर रही है : अभय दुबे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस 
  • नाबार्ड की रिपोर्ट के अनुसार, सबसे बदतर हालात बिहार के किसानों की है : अभय दुबे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, कांग्रेस 
  • ये कृषि कानून असंवैधानिक है, केंद्र सरकार को इस पर कानून बनाने का कोई हक नहीं है : जतिंदर सिंह छीना, किसान
  • जो असंवैधानिक बात है : जतिंदर सिंह छीना, किसान
  • किसानों के हित में कृषि कानून नहीं है : जतिंदर सिंह छीना, किसान
  • कृषि कानून वापस ले सरकार : जतिंदर सिंह छीना, किसान
  • किसान और सरकार के बीच में बातचीत चल रही है : हरवीर सिंह, संपादक, हिंद किसान 
  • किसी भी बातचीत के लिए एक माहौल बढ़ाने की जरूरत है : हरवीर सिंह, संपादक, हिंद किसान 
  • जो लोग विरोध कर रहे हैं उसे सिरे से खारिज नहीं करना चाहिए : हरवीर सिंह, संपादक, हिंद किसान 
  • बीच का रास्ता निकलना चाहिए : हरवीर सिंह, संपादक, हिंद किसान 
  • किसान आंदोलन का काफी समर्थन मिल रहा है : मास्टर श्योराज सिंह, किसान
  • अगर  एमएसपी को गारंटी कानून बना देते हैं तो इससे किसान का भला हो जाएगा  : मास्टर श्योराज सिंह, किसान
  • सरकार किसानों की मांग क्यों नहीं मान रही है : मास्टर श्योराज सिंह, किसान
  • अगर हमें किसानों का हल निकालना है तो बातचीत करनी पड़ेगी : दुर्गा प्रसाद त्रिपाठी, दिल्ली, दर्शक
  • हमें केंद्र का इस मामले में सपोर्ट करना चाहिए, न कि इसका विरोध करना चाहिए : दुर्गा प्रसाद त्रिपाठी, दिल्ली, दर्शक
  • किसान के मन में एक डर है : यतेंद्र कसाना, नोएडा, दर्शक
  • जिस तरह से कृषि बीमा फेल हुआ कही ये कृषि कानून न फेल हो जाए : यतेंद्र कसाना, नोएडा, दर्शक

First Published : 14 Dec 2020, 07:40:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.