News Nation Logo
Banner

कृषि कानून और मंडी व्यवस्था पर केंद्रीय मंत्री ने संजीव बालियान ने दिया ये बयान

केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कृषि कानून पर बयाने देते हुए बुधवार को कहा, 'हमने पश्चिमी यूपी के लोगों से कृषि बिल पर चर्चा की.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 17 Feb 2021, 06:29:35 PM
sanjay balian

Union Minister Sanjeev Balyan (Photo Credit: फोटो-ANI)

नई दिल्ली:

केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कृषि कानून पर बयाने देते हुए बुधवार को कहा, 'हमने पश्चिमी यूपी के लोगों से कृषि बिल पर चर्चा की. इस क्षेत्र में कोई मंडी नहीं है. यहां केवल गुड़ मंडी है, जिसमें छोटे किसानों को केवल 2.5% टैक्स का फायदा होगा.' वहीं उन्होंने आगे कहा कि एक तरह से कॉन्ट्रेक्ट खेती पहले से ही मौजूद है और एपीएमसी (APMC) का कोई असर नहीं है. बता दें कि बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह ने बुधवार को केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान के यहां आवास पर पश्चिमी यूपी के सभी जाट नेताओं की बैठक ली. इस बैठक में कहा गया कि किसान आंदोलन के बहाने विपक्ष राजनीतिक हित साधने में जुटा है. 

 किसान आंदोलन के बहाने जिस तरह से विपक्ष ने पश्चिम यूपी की 50 सीटों पर असर रखने वाले जाटों के बीच पैठ बनाने की कोशिश है, उससे सतर्क हुई भारतीय जनता पार्टी अब काउंटर करने जा रही है. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के आंसुओं ने जिस तरह से किसान आंदोलन को जाटों के स्वाभिमान की लड़ाई में बदलने की कोशिश की, उससे अलर्ट हुई बीजेपी ने अपने सभी जाट चेहरों को मैदान में उतारने का फैसला किया है. पश्चिम यूपी में जाटों के बीच जनसंपर्क अभियान की कमान केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान संभालेंगे. खास बात है कि जाटों की जिस खाप के संजीव बालियान हैं, उसी खाप से भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी हैं.

पिछले कई चुनावों से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जाट बीजेपीको वोट देते आए हैं और अब किसान आंदोलन के बहाने विपक्ष जाटों को पार्टी के खिलाफ भड़काने में जुटा है. ऐसे में जाटों के बीच जाकर यह बताना होगा कि न नए कानून किसानों के खिलाफ हैं और न ही पार्टी किसान हितों के खिलाफ है. पश्चिम यूपी की सभी खापों में बीजेपीपंचायतों के जरिए जनसंपर्क अभियान चलाएगी.

ये भी पढ़ें: राकेश टिकैत बोले- देश में कल होगा किसानों का रेल रोको आंदोलन

इस बैठक में बीजेपीके उत्तर प्रदेश सह प्रभारी और राष्ट्रीय सचिव सत्या कुमार, उत्तर प्रदेश के सह संगठन मंत्री कर्मवीर सहित सभी पश्चिमी यूपी के सभी प्रमुख विधायक शामिल हुए. सूत्रों के मुताबिक, बैठक में यह भी कहा गया कि जगह-जगह पंचायतों के जरिए राकेश टिकैत जाटों का चेहरा बनने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे में बीजेपीनेताओं को इस बारे में सोचना होगा.

बैठक में शामिल एक बीजेपीनेता ने आईएएनएस को बताया, "गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपीअध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार की रात बैठक लेकर किसान आंदोलन के बहाने विपक्ष की साजिशों से पार्टी नेताओं को सावधान किया था. इसी कड़ी में आज की बैठक में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाटों के बीच व्यापक जनसंपर्क की रणनीति बनाई गई है. बीजेपीके सभी सांसद, विधायक और मंत्री जनसंपर्क अभियान तेज करेंगे. जाटों और किसानों को नए कृषि कानूनों के फायदे गिनाए जाएंगे."

First Published : 17 Feb 2021, 06:16:42 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.