News Nation Logo

किसानों पर पैनी नजर रखने के लिए NH-9 पर लगे CCTV कैमरे

आज किसानों के आंदोलन का 9वां दिन है. हजारों की संख्या में किसान कानून वापसी की मांग को लेकर दिल्ली के अलग अलग बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 04 Dec 2020, 03:31:51 PM
Farmers Protest

LIVE: किसान आंदोलन का आज 9वां दिन, दूसरी बैठक में भी न निकला हल (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कृषि कानूनों को लेकर सरकार के साथ फिर से बातचीत में कोई समाधान न निकलने पर किसानों ने आंदोलन को तेज कर दिया है. आज किसानों के आंदोलन का 9वां दिन है. हजारों की संख्या में किसान कानून वापसी की मांग को लेकर दिल्ली के अलग अलग बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं. किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी की घेराबंदी कर रखी है. किसानों के आंदोलन पर राजनीतिक भी जमकर हो रही है. विपक्षी दल खुद को किसान हितैषी ठहराने में लगे हैं तो सरकार की ओर से भी इस आंदोलन को जल्द खत्म करने के लिए बातचीत के जरिए समाधान निकालने की कोशिश की जा रही है. 

यूपी-दिल्ली बॉर्डर NH-9 पर किसानों की हर गतिविधि पर नजर रखने के लिए गाजियाबाद पुलिस प्रशासन की ओर से सीसीटीवी कैमरा लगवाया गया है. 24 घंटे किसानों पर सीसीटीवी से पैनी नजर रखी जाएगी.

किसान नेता हरिंदर सिंह ने कहा कि गुरुवार को जो सरकार के साथ बैठक हुई हमने सरकार से मांग की है कि कानून वापस लें. सरकार कुछ हद तक मान गई है, लेकिन हमने कहा है कि कानून वापस लो. शनिवार को पुतले फूंके जाएंगे. 7 दिसंबर अवार्ड वापसी, 8 दिसंबर को टोल प्लाजा फ्री करवाएंगे. सारे नाके बंद होंगे. देशभर से किसान नेता दिल्ली आ रहे हैं बहुत आ चुके हैं.

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. याचिका में  मांग की है कि बॉर्डर से आंदोलनकारी किसानों को तुंरत हटाया जाए. याचिकाकर्ता के मुताबिक, आंदोलनकारियों की ये  भीड़ कोविड संक्रमण के जोखिम को और ज़्यादा बढ़ा सकती है.

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि किसानों का अपमान किया जा रहा है. उन्हें 'खालिस्तानियों' और 'कांग्रेसियों' बोला जा रहा है. किसान तो किसान हैं. वे धर्म, जाति और क्षेत्र से ऊपर उठकर अपनी मान्य मांगों के साथ यहां आए हैं. वे इस ठंड में यहां हैं. 

दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन ने सिंघु बॉर्डर पर किसानों के लिए की गई व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया. इस दौरान उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर भी हमला बोला.

वो (कैप्टन अमरिंदर सिंह) पंजाब के किसानों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बता रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री आज ​भाजपा के मुख्यमंत्री की तरह व्यवहार कर रहे हैं- मनीष सिसोदिया

कल कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भाजपा के नेताओं से मुलाकात की, जो कहने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री हैं और बीजेपी का बचाव करते हैं- मनीष सिसोदिया

किसान आंदोलन पर मनीष सिसोदिया ने बीजेपी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश के किसानों की आवाज दबा के केंद्र सरकार और कांग्रेस राजनीति कर रही है.

हरियाणा के करनाल में एक दूल्हे ने अपनी शादी में महंगी गाड़ी छोड़कर ट्रैक्टर पर सवार होकर किसानों के आंदोलन का समर्थन किया. 


तेजस्वी यादव ने ऐलान किया है कि राजद पार्टी के नेता किसानों को न्याय दिलाने के लिए पटना के गांधी मैदान में धरना देंगे.

नोएडा में चिल्ला बॉर्डर पर किसानों के प्रोटेस्ट में अलग रंग दिखा. किसानों ने ब्लैक कैट कमांडो बुलाए. किसानों ने अपने कमांडोज की टीम बनाई है. किसानों का कहना है कि असामाजिक तत्वों से निपटने के लिए कमांडोज बुलाए हैं. 

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन सिंघु बॉर्डर पहुंचे और कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों से मिले. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने फोन पर किसानों से बात की और उनका समर्थन किया. 


तेजस्वी यादव ने बिहार के किसानों से कृषि कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरने का आह्वान किया है.

किसान आंदोलन पर दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि आज दोपहर किसानों की बैठक के बाद सिंघु बॉर्डर पर किसानों से मुलाकात करूंगा. यह जानता हूं कि दिल्ली वालों को परेशानी हो रही है, लेकिन किसानों के बारे में सोचना है ज्यादा जरूरी है. अगर किसानों के साथ सही नहीं हुआ तो दिल्ली वालों की परेशानी सदा के लिए ही हो जाएगी.

गाजियाबाद में एनएच 9 पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को लेकर एसपी ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने खास बातचीत में कहा किसानों के बीच में मौजूद कुछ असामाजिक तत्व जो यहां न्यूसेंस क्रिएट करना चाहते हैं ऐसे लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी.

किसानों के आंदोलन की वजह से नेशनल हाईवे-9 से यातायात को डायवर्ट किया है, जिसके कारण कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है. लाखों लोग हर रोज इसी रास्ते से दिल्ली की तरफ जाते हैं. लेकिन आज ये लोग जाम में फंसने को मजबूर हैं. कुछ बाइक वाले जुगाड़ लगाकर निकलने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन पुलिस किसी को निकालने नहीं दे रही है.

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होतीं वो डटे रहेंगे. एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि हमारे पास 3-4 महीने का राशन है, जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होंगी, हम हटने वाले नहीं हैं.

किसान आंदोलन की वजह से दिल्ली जाने वाले कई रास्ते आज भी बंद कर दिए गए हैं. टिकरी और झरोदा बॉर्डर पर भी यातायात बंद हैं. बदुसराय बॉर्डर हल्के वाहनों के लिए खुला है, जबकि झतिक्रा बॉर्डर को सिर्फ दोपहिया वाहन के लिए खुल रखा गया है. 

किसानों के आंदोलन की वजह से गाजीपुर में एनएच-24 को बंद कर दिया गया है. पुलिस ने यहां से ट्रैफिक को दूसरी ओर डायवर्ट कर दिया है. 


First Published : 04 Dec 2020, 07:32:46 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.