News Nation Logo

बढ़ते कोरोना मामलों पर किसान नेताओं ने कहा, डर का माहौल पैदा न करें

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग की थी और बढ़ते मामलों पर चिंता भी जताई थी. कोरोना के बढ़ते मामलों को देख गाजियाबाद में धारा 144 लागू कर दी गई है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 18 Mar 2021, 12:29:35 PM
kisan andolan ians

किसान आंदोलन (Photo Credit: फाइल)

highlights

  • किसानों ने कहा माहौल खराब ना करें
  • बढ़ते कोरोना के मामलों पर बोले किसान
  • कोरोना की वजह से गाजियाबाद में धारा-144

नई दिल्ली:

देशभर में कोरोना के मामले बढ़ने के बीच दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का धरना जारी है. ऐसे में किसान अब बढ़ते कोरोना को देखते हुए क्या कदम उठाएंगे, ये किसान नेताओं को तय करना है. हालांकि इसपर जब किसान नेताओं से पूछा गया तो उन्होंने साफ शब्दों में कह दिया कि सरकार आंदोलन खत्म करने के लिए डर का माहौल पैदा न करें. दरअसल, बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और प्रतिनिधियों के साथ मीटिंग की थी और बढ़ते मामलों पर चिंता भी जताई थी. कोरोना के बढ़ते मामलों को देख गाजियाबाद में धारा 144 लागू कर दी गई है.

गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान नेताओं से पूछा गया तो आंदोलन समिति के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा ने मीडिया से बातचीत में बताया कि, पिछले 4 महीने से लोग यहां बैठे हैं, कोई कोरोना का मामला सामने आया नहीं. ये साजिश है. गांव के लोग इस आंदोलन में शामिल न हो क्योंकि उन्हें मालूम है पोल पट्टी खुल चुकी है. कोरोना का एक डर पैदा किया जा रहा है, सरकार की साजिश और षडयंत्र है इस आंदोलन को फेल करने का, हम इसकी निंदा करते हैं.

यह भी पढ़ेंःभारतीय किसान यूनियन की 17 मार्च को बॉर्डर पर होगी पहली 'मासिक पंचायत'

भारतीय किसान यूनियन के उत्तरप्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन ने आईएएनएस को बताया कि, हम जब आये थे उस वक्त भी कोरोना था. अब तो बड़े पैमाने पर वैक्सीन आ गई है. सरकार कोरोना का माहौल पैदा कर डर न बनाए. विदेशों में वैक्सीन फ्री में बांटी जा रही है, उधर भेजने के अलावा सरकार पहले अपने देश के लोगों को बचाए. गांव के प्रति प्रधानमंत्री की चिंता व्यक्त करना वाजिब है, गांव में कोरोना की ही चिंता है इसके अलावा कोई और चिंता नहीं है. साल भर हो गया है गांव का एक किसान खेत से कोरोना लेकर नहीं गया. सरकार भय का माहौल न बनाए, बचाने का माहौल बनाए.

यह भी पढ़ेंःकिसानों को 'आतंकवादी' कहने वाले साक्षी महाराज को बर्खास्त करें : आईवाईसी

बता दें कि गुरुवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, देश में एक दिन में 35 हजार से कोरोना के मामले दर्ज हुए हैं. दिल्ली की सीमाओं पर पंजाब हरयाणा, उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड समेत कई राज्यों के किसानो ने डेरा डाला हुआ है. ऐसे में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात का जिक्र भी किया कि, टियर 2 और टियर 3 शहरों में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं, अगर इन्हें नहीं रोका गया तो गांवों में मामले बढ़ सकते हैं और फिर कोरोना को संभाल पाना मुश्किल होगा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 Mar 2021, 12:29:11 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो