News Nation Logo
Banner

अकाल तख्त एक्सप्रेस में बम, दुजाना की मौत का बदला लेने की धमकी

उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के शिवरतनगंज थाना क्षेत्र में ट्रेन को रोककर जांच की गई और छह घंटे के बाद सभी यात्रियों को सुरक्षित रवाना किया गया।

IANS | Updated on: 11 Aug 2017, 12:08:20 AM
अकालतख्त एक्सप्रेस के शौचालय में बम (एएनआई)

अकालतख्त एक्सप्रेस के शौचालय में बम (एएनआई)

नई दिल्ली:

कोलकाता से अमृतसर जा रही अकालतख्त एक्सप्रेस के शौचालय में बम मिलने से यात्रियों में हड़कंप मच गया। उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले के शिवरतनगंज थाना क्षेत्र में ट्रेन को रोककर जांच की गई और छह घंटे के बाद सभी यात्रियों को सुरक्षित रवाना किया गया।

शिवरतनगंज थाना क्षेत्र में ट्रेन को रोका गया। यात्रियों को ट्रेन से उतारने के बाद मौके पर पहुंचे बम निरोधक दस्ते ने बम को नष्ट कर दिया। इस घटना क्रम और सघन जांच के बाद ट्रेन को छह घंटे बाद रवाना किया गया। अधिकारियों का कहना कि निम्न गुणवत्ता विस्फोटक था। डीजीपी ने इस घटना के खुलासे के लिए एटीएस को निर्देश दिए हैं। 

पुलिस अधीक्षक (रेलवे) सौमित्र यादव ने बताया कि कोलकाता से अमृतसर जा रही ट्रेन संख्या 12318 अप अकालतख्त एक्सप्रेस जब सुल्तानपुर से लखनऊ की ओर रवाना हुई तो बुधवार मध्यरात्रि 01:10 मिनट पर एसी कोच बी-3 के शौचालय में यात्री ने प्लास्टिक की थैली में रखे संदिग्ध विस्फोटक होने की सूचना ट्रेन के सुरक्षाकर्मियों को दी।

डाकोला विवाद के बीच नेपाल के प्रधानमंत्री देउबा से मिलीं सुषमा स्वराज

उन्होंने बताया, 'मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारियों ने ट्रेन को अकबरगंज रेलवे स्टेशन की लूप लाइन पर रोककर समस्त यात्रियों को सुरक्षित उतारा। इस बीच पहुंचे बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) ने बम को निष्क्रिय कर दिया। बम प्लास्टिक के डिब्बे में था, जिस पर चारों तरफ सुतली बंधी थी और ढक्कन के बीच में तार निकला हुआ था।' 

बीडीएस टीम के मुताबिक, प्रथमदृष्टया यह लो क्वालिटी विस्फोटक था। उन्होंने कहा कि हालांकि विस्फोटक की प्रकृति की सही जानकारी जांच के बाद ही पता चलेगी। बीडीएस टीम ने पाया कि बम में कोई टाइमर या डेटोनेटर पावर पैक नहीं था। 

मोदीजी, नीतीश का 'डीएनए' पहले खराब था या अब है: तेजस्वी

मौके पर अपर पुलिस महानिदेशक, रेलवे बीके मौर्या ने बताया कि बरामद बम के साथ हाथ से लिख एक पर्चा पाया गया, जिसमें 'दुजाना की शहादत का बदला अब हिंदुस्तान को चुकाना पड़ेगा, इंडियन मुजाहिदीन जिदांबाद' लिखा हुआ था।

मौके पर मौर्या के अलावा पुलिस महानिरीक्षक रेलवे बिनोद कुमार सिंह एवं अन्य अधिकारी पहुंचे और घटना स्थल का निरीक्षण किया। समस्त ट्रेन का बीडीएस टीम एवं डॉग स्क्वाड से निरीक्षण करने के उपरांत यात्रियों को वापस ट्रेन में बैठा कर सुबह 07:30 बजे रेलवे स्टेशन अकबरगंज से रवाना किया गया। 

इस संबंध में जीआरपी चारबाग लखनऊ पर ट्रेन गार्ड की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं उप्र डीजीपी सुलखान सिंह ने घटना के खुलासे के लिए एटीएस को निर्देशित किया है। 

साल 2019-20 तक राजस्व व्यय में 85 फीसदी कटौती की संभावना

First Published : 11 Aug 2017, 12:03:03 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो