News Nation Logo
Banner

इंजीनियर से छिनी गार्ड की नौकरी, एयरपोर्ट पर बम रखकर लिया बदला

जिस संदिग्ध व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वो कोई आम अपराधी नहीं बल्कि पेशे से इंजीनियर रहा है और उसने एमबीए की भी पढ़ाई की है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 22 Jan 2020, 04:54:34 PM
एयरपोर्ट पर बम रखने का आरोपी इंजीनियर आदित्य राव

एयरपोर्ट पर बम रखने का आरोपी इंजीनियर आदित्य राव (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

मंगलुरू:

दो दिन पहले मंगलुरू एयरपोर्ट पर आईईडी रखने के आरोपी ने आत्मसमर्पण कर दिया है. आरोपी खुद डीजीपी के ऑफिस पहुंचा और खुद को पुलिस के हवाले कर दिया. पूछताछ में चौंकने वाला खुलासा हुआ है. जिस संदिग्ध व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है वो कोई आम अपराधी नहीं बल्कि पेशे से इंजीनियर रहा है और उसने एमबीए की भी पढ़ाई की है. बता दें कि एयरपोर्ट पर सोमवार की सुबह करीब 8 बजकर 45 मिनट पर सीआईएसएफ की टीम को एक बैग मिला था. इस बैग में कम तीव्रता का आईईडी बम बरामद किया गया था जिसके बाद वहां हड़कंप मच गया था.

यह भी पढ़ेंः हमेशा के लिए बंद हुआ ये बैंक, आपकी भी है रकम तो जल्दी निकाल लें

गिरफ्तार बेरोजगार मेकेनिकल इंजीनियर आदित्य राव ने मंगलुरु हवाईअड्डे पर बम रखने वाले संदिग्ध के रूप में समर्पण कर दिया है. पुलिस ने बुधवार को कहा कि उसे उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया, जब उसने कर्नाटक के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) कार्यालय पर जाकर समर्पण कर दिया. संदिग्ध आरोपी ने बताया कि उसने यह सब बदला लेने के लिए किया था क्योंकि जहां वो सुरक्षा गार्ड की नौकरी करता था वहां से उसे हटा दिया गया था. फिलहाल पुलिस के अलावा कई सुरक्षा एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही है.

यह भी पढ़ेंः J&K: अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों की आतंकियों से मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

पुलिस ने कहा कि राव को जांच के लिए राज्य द्वारा संचालित विक्टोरिया अस्पताल में ले जाया जाएगा और इसके बाद उसे उसकी हिरासत और मामले की जांच के लिए स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा. राज्य के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने बताया कि पुलिस स्टेशन के पास स्थित राज्य डीजीपी-आईजी (महानिरीक्षक) नीलमणि राजू के कार्यालय में जाकर उसके समर्पण करने के बाद हलासुरू गेट पुलिस स्टेशन के सर्कल इंस्पेक्टर द्वारा संदिग्ध को गिरफ्तार किया गया. बोम्मई ने कहा, "संदिग्ध ने मंगलुरु हवाईअड्डे में एक एयरलाइन (इंडिगो) के कार्यालय के बाहर काउंटर पर कुछ बम बनाने वाली सामग्री से भरे एक बैग को रखने की बात को स्वीकार किया है.

यह भी पढ़ेंः CAA: संविधान पीठ में जा सकता है CAA का मामला, सुप्रीम कोर्ट का स्टे लगाने से भी इनकार

पुलिस अधिकारी ने कहा, "राव को एक परेशान मेकेनिकल इंजीनियर बताया जा रहा है, जिसे नौकरी से निकाल दिया गया है. उसके खिलाफ कुछ आपराधिक मामले दर्ज हैं. वह शहर से लगभग 40 किलोमीटर उत्तर में स्थित देवनहल्ली में बेंगलुरू अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे में पिछले साल कथित तौर पर बम होने की झूठी कॉल की थी, जिसके लिए चिक्कबल्लापुर जिला जेल में दो महीने बिताने के बाद जमानत पर है.

सीसीटीवी कैमरे में जिस ऑटोरिक्शा में सवार होकर राव को हवाईअड्डे से बाहर निकलते देखा गया उसके चालक से पूछताछ करने पर पुलिस को उस होटल का पता लगा, जहां आरोपी ठहरा हुआ था और वहां उसने कुछ बम बनाने की सामग्री जैसे कि सफेद पाऊडर भी छोड़कर रखे थे. अधिकारी ने बताया, "राव ने पुलिस को बताया कि चूंकि उसे कोई बेहतर काम नहीं मिल रहा था, इसलिए पिछले दो महीने में वह जिस होटल में ठहरा हुआ था, उसी के बिलिंग सेक्शन में कर्मरत था. बाजपे में स्थित मंगलुरु हवाईअड्डे पर उस वक्त अफरातफरी पैदा हो गई, जब केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) को एयरलाइन के चेकइन काउंटर के समीप छोड़ा गया एक काला बैगपैक मिला था.

यह भी पढ़ेंः CAA पर सुनवाई : केंद्र को सुने बिना कोई आदेश पारित करने से SC का इनकार

बैग को सोमवार शाम को कंजूर के पास एक खाली स्थान पर ले जाया गया और विशेष बम निरोधी दस्ते ने उसे निष्क्रिय किया. आरोपियों की पहचान करने और उन्हें पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर एक तलाशी अभियान की शुरुआत की गई थी. मंगलुरु पुलिस आयुक्त पी.एस.हर्ष ने ट्वीट किया कि तटीय शहर से एक विशेष जांच दल राव को हिरासत में लेने बेंगलुरू पहुंचेगा और जांच के लिए उसे मंगलुरु लाया जाएगा.

First Published : 22 Jan 2020, 04:54:34 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Mangaluru Airport IED CISF

वीडियो