News Nation Logo
Banner

चुनाव आयोग ने 'गोली मारो' के बयान पर अनुराग ठाकुर को भेजा नोटिस, 30 जनवरी तक मांगा जवाब

चुनाव आयोग (Election Commission) ने मंगलावर को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) को नोटिस भेजा है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 28 Jan 2020, 07:43:42 PM
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

चुनाव आयोग (Election Commission) ने मंगलावर को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) को नोटिस भेजा है. इलेक्शन कमीशन ने भाजपा सांसद को 30 जनवरी को दोपहर 12 बजे तक जवाब देने को कहा है. उन्हें यह नोटिस गोली मारो नारे पर मिला है. दरअसल, अनुराग ठाकुर ने सोमवार को दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी रैली में मंच से देश के गद्दारों को गोली मारने के नारे लगावाए. उन्होंने कहा था कि देश के गद्दारों को, गोली मारो. कहा- गद्दारों को भगाने के लिए नारे भी चाहिए. इसके बाद से अनुराठ ठाकुर विपक्ष के निशाने पर हैं. उनके बयान पर दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी सफाई भी दे चुके हैं.

यह भी पढ़ेंःदिल्ली पुलिस को मिली शरजील इमाम की ट्रांजिट रिमांड, अब बिहार से दिल्ली लाया जाएगा JNU छात्र

जानकारी के मुताबिक, केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर एक विधानसभा क्षेत्र में सोमवार को चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने जनता से बीजेपी के पक्ष में मतदान करने के लिए जेएनयू के उन छात्रों का उदाहरण रखा, जोकि सैनिकों के शहीद होने पर जेएनयू में आतंकवादियों को शहीद बताकर जश्न मनाते हैं. इस दौरान अनुराग ठाकुर का जोश इस कदर बढ़ गया कि वे यह कह बैठे कि देश के गद्दारों को गोली मारो. उनका यह वीडियो देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और ऑल इंडिया महिला कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से ट्वीट कर पूछ लिया कि क्या वे इस हिंसक भाषण पर कोई संज्ञान लेंगे. ट्विटर पर इस भाषण के सही और गलत होने को लेकर बहस छिड़ गई.

यह भी पढ़ेंःअमित शाह बोले- शरजील इमाम ने कन्हैया कुमार से ज्यादा खतरनाक बोले हैं, अब जेल में बंद रहेगा

दिल्ली में विधानसभा चुनाव 2020 (Delhi Assembly Elections 2020) के लिए बिगुल बज गया है. दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के साथ ही भाजपा और कांग्रेस भी सत्ता हासिल करने के लिए संघर्ष कर रही है. दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों के लिए 8 फरवरी को वोट डाले जाएंगे और मतगणना 11 फरवरी को होगी. गौरतलब है कि 2015 के विधानसभा चुनाव में 'आप' को कुल 67 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. वहीं, भारतीय जनता पार्टी को तीन सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस अपना खाता तक नहीं खोल सकी थी. इसके अलावा 2019 के लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी 7 लोकसभा सीटों पर भाजपा को जीत हासिल हुई थी.

First Published : 28 Jan 2020, 07:22:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.