logo-image
लोकसभा चुनाव

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला को झटका! हेमा मालिनी के खिलाफ बयानबाजी पर EC का नोटिस

BJP नेता और मथुरा लोकसभा सीट से उम्मीदवार हेमा मालिनी के खिलाफ बयानबाजी ने कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला को मुश्किल में डाल दिया है...चुनाव आयोग ने मामले का संज्ञान लेकर उनको नोटिस जारी किया है

Updated on: 09 Apr 2024, 06:33 PM

New Delhi:

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर देश में इस समय सियासी गहमागहमी का माहौल है. चुनावी प्रचार के साथ ही नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप और तीखी बयानबाजी का दौर भी शुरू हो गया है. इस क्रम में कांग्रेस नेता रणदीप सुरेजवाला ( Congress leader Randeep Surjewala  ) को बीजेपी नेता और यूपी की मथुरा सीट से सांसद व उम्मीदवार हेमा मालिनी ( BJP leader Hema Malini ) के खिलाफ बयानबाजी करना भारी पड़ गया है. चुनाव आयोग ( ECI ) ने सुरेजावाल को नोटिस जारी किया है. चुनाव आयोग ने कांग्रेस नेता को यह नोटिस उनके उस बयान के लिए जारी किया गया है, जिसमें उन्होंने हेमा मालिनी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था. चुनाव आयोग ने नोटिस जारी कर कांग्रेस नेता से 11 अप्रैल 2024 तक जवाब मांगा है. 

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने इस मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से रणदीप सुरजेवाल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. चुनाव आयोग ने अपने नोटिस में कहा है कि कांग्रेस नेता के महिलाओं के साथ सम्मान से पेश आना चाहिए. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरेजवाला ने हेमा मालिनी को लेकर विवादित टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि हम लोग विधायक और सांसद क्यों बनाते हैं. ताकि वो हमारी बात उठा सकें और मनवा सकें....कांग्रेस नेता ने यह बयान हरियाणा के कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के कैथल स्थित एक गांव में इंडिया गठबंधन के उम्मीदवार सुशील गुप्ता के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही थी. भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस नेता के इस बयान को अभद्र व महिला विरोधी बताया है. हालांकि सुरजेवाला का कहना है कि मेरे बयान वाली वीडियो से छेड़छाड़ की गई है. मेरा आशय किसी को नीचा दिखाने या अपमान करने का नहीं था.

 हेमा मालिनी ने रणदीप सुरेजवाला के इस बयान पर पलटवार किया था. हेमा मालिनी ने कहा कि वो नामचीन लोगों को ही निशाना बनाते हैं, क्योंकि सामान्य लोगों को टारगेट करने से उनका कोई फायदा नहीं होने वाला. बीजेपी नेता हेमा मालिनी ने कहा कि यह उनको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखना चाहिए कि महिलाओं का सम्मान कैसे किया जाता है.