News Nation Logo
Banner
Banner

द्रमुक सांसद टीआरवीएस रमेश ने हत्या मामले में किया सरेंडर

द्रमुक सांसद टीआरवीएस रमेश ने हत्या मामले में किया सरेंडर

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 11 Oct 2021, 05:20:02 PM
DMK MP

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

चेन्नई: द्रमुक नेता और कुड्डालोर लोकसभा क्षेत्र से सांसद, टी.आर.वी.एस.रमेश अपनी काजू प्रसंस्करण इकाई के एक कर्मचारी की हत्या के आरोप में सोमवार को कुड्डालोर के पनरुती में न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट 1 के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

रमेश पर 20 सितंबर को 60 वर्षीय कार्यकर्ता के. गोविंदरासु की हत्या में मुख्य आरोपी के रूप में मामला दर्ज किया गया था और मामले की जांच कर रही सीबी-सीआईडी उसकी तलाश में थी।

सीबी-सीआईडी पुलिस मामले में पांच अन्य आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। सभी पांचों काजू प्रसंस्करण इकाई में कर्मचारी हैं।

पुलिस के मुताबिक पीड़ित गोविंदरासु पिछले सात साल से काजू प्रसंस्करण इकाई में मजदूरी का काम कर रहा था। 19 सितंबर की शाम को फैक्ट्री परिसर में ड्यूटी से लौटते समय उसकी तलाशी ली गई और उस पर 7 किलो काजू चोरी करने का आरोप लगाया गया।

पुलिस ने कहा कि पांच कर्मचारियों और रमेश द्वारा फैक्ट्री परिसर में कथित तौर पर उस पर हमला किया गया और बाद में काजू चोरी करने के आरोप में औपचारिक शिकायत दर्ज कराने के लिए कदमपुलियूर पुलिस स्टेशन ले जाया गया।

हालांकि, स्टेशन हाउस ऑफिसर ने गोविंदरासु के चेहरे पर चोटें देखीं और उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया।

सहकर्मी, कंदवेलु और षणमुघम, जो उसे पुलिस थाने लाए थे, उसे अस्पताल नहीं ले गए और इसके बजाय फिर से कारखाने में ले गए।

जिसके गोविंदरासु 20 सितंबर को फैक्ट्री परिसर में मृत पाया गया था। जिसके बाद कदकमपालियूर पुलिस ने आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज किया और जांच शुरू की थी।

गोविंदरासु के बेटे शक्तिवेल ने आरोप लगाया कि रमेश और पांच अन्य लोगों ने उसके पिता के साथ मारपीट की और उसकी हत्या कर दी थी। हालांकि, आरोपी ने कहा कि उसने आत्महत्या की थी।

मद्रास उच्च न्यायालय ने मामले में हस्तक्षेप किया और जिपमर, पुडुचेरी के डॉक्टरों को 23 सितंबर को शव परीक्षण करने और उसकी वीडियो टेपिंग करने का निर्देश दिया।

इसके बाद मामला कुड्डालोर जिला पुलिस से सीबी-सीआईडी को स्थानांतरित कर दिया गया और सीबी-सीआईडी ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया और सांसद को गिरफ्तार करने के लिए संसद अध्यक्ष को अनुरोध भेजा था।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 11 Oct 2021, 05:20:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.