News Nation Logo
कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

डीएचएफएल मामला: एनसीएलएटी 29 सितंबर को एफडी, एनसीडी धारकों और वाधवन की याचिका पर करेगा सुनवाई

डीएचएफएल मामला: एनसीएलएटी 29 सितंबर को एफडी, एनसीडी धारकों और वाधवन की याचिका पर करेगा सुनवाई

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Sep 2021, 08:40:02 PM
DHFL Cae

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल (एनसीएलएटी) दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्प लिमिटेड (डीएचएफएल) और इसके पूर्व प्रमोटर कपिल वाधवन के फिक्स्ड डिपॉजिट और एनसीडी धारकों द्वारा दिवालिया एनबीएफसी के लिए पिरामल कैपिटल और हाउसिंग की समाधान योजना की मंजूरी के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करेगा।

जून में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की मुंबई बेंच ने पीरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड की समाधान योजना को मंजूरी दी थी। हालांकि, इस आदेश को वाधवन ने अपीलीय न्यायाधिकरण में चुनौती दी थी।

हालांकि, डीएचएफएल ने कथित तौर पर फिक्स्ड डिपोसिट और एनसीडी धारकों को संदेश भेजकर उन्हें अपने बैंक खाते और संपर्क विवरण को अपडेट करने के लिए कहा है। कई एफडी और एनसीडी धारकों ने धन के हस्तांतरण के बारे में चिंता व्यक्त की है, यह इंगित करते हुए कि उनकी याचिकाएं भुगतान को चुनौती देने वाली हैं। फिलहाल कोर्ट में फंड लंबित है।

एफडी होल्डर्स ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अपील भी की है। इन सभी मामलों की सुनवाई बुधवार को एनसीएलएटी कोर्ट में होगी।

मौजूदा समाधान योजना के तहत, एफडी धारकों को लगभग 5,400 करोड़ रुपये के स्वीकृत दावों के मुकाबले लगभग 1,241 करोड़ रुपये मिलेंगे।

एनसीडी धारकों को भी स्वीकृत दावों से कम मिलने की संभावना है और ऐसे में एफडी और एनसीडी धारक पीरामल समाधान योजना के खिलाफ रहे हैं।

दूसरी ओर, वाधवन संकल्प योजनाओं के खिलाफ लड़ रहे हैं जो उच्च बाल कटाने की पेशकश करते हैं। वह बार-बार अपनी क्रांति योजना की पेशकश कर रहा है जो सभी लेनदारों को 100 प्रतिशत मूल राशि के पुनर्भुगतान का आश्वासन देता है।

लेनदारों के लिए 91,158 करोड़ रुपये के अपने संशोधित प्रस्ताव में, वाधवन ने 9,000 करोड़ रुपये का अग्रिम भुगतान करने का वादा किया है और सात वर्षों में 8.5 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से 31,000 करोड़ रुपये का ऋण चुकाने का भी प्रस्ताव किया है।

वाधवन के अनुसार, पीरामल द्वारा डीएचएफएल के मूल्यांकन ने न्याय नहीं किया क्योंकि कंपनी के पास भारी नकदी प्रवाह और संपत्ति है।

डीएचएफएल दिवाला और दिवालियापन संहिता के तहत दिवालिया होने के लिए सबसे पहले गया था।

डीएचएफएल के लिए पीरामल समूह की 37,250 करोड़ रुपये की समाधान योजना में 12,500 करोड़ रुपये का अग्रिम नकद घटक और 19,550 करोड़ रुपये का आस्थगित घटक शामिल है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Sep 2021, 08:40:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो