News Nation Logo

Desh Ki Bahas : चीन का पिट्ठू पाकिस्तान कैसे आतंकवाद को दे रहा है हवा?

आतंकवाद को लेकर पूरी दुनिया में फजीहत करा चुका पाकिस्तान अभी भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. इसका खुलासा हाल ही में तब हुआ, जब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पाकिस्तान टेरर मॉड्यूल का पर्दाफाश कर दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 17 Sep 2021, 12:13:39 AM
Desh Ki Bahas

Desh Ki Bahas (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

आतंकवाद को लेकर पूरी दुनिया में फजीहत करा चुका पाकिस्तान अभी भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. इसका खुलासा हाल ही में तब हुआ, जब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पाकिस्तान टेरर मॉड्यूल का पर्दाफाश कर दिया. दिल्ली पुलिस ने 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया, जिनमें से दो पाकिस्तानी हैं. इन आतंकियों के तार डी-कंपनी से जुड़े हैं, जिसने पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर आतंकियों की खुली भर्ती की है. वहीं, अफगानिस्तान में तालिबान का राज आने के बाद जारी संकट के बीच भारत की सीमा पर सुरक्षा और पड़ोसी चीन और पाकिस्तान के रूख को लेकर भी लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं. यह बात जग जाहिर है कि पाकिस्तान को चीन की खुली सपोर्ट है. यही वजह है कि चीन का पिट्ठू बन पाकिस्तान लगातार आतंकवाद को हवा दे रहा है. चीन का पिट्ठू पाकिस्तान कैसे आतंकवाद को दे रहा है हवा? दीपक चौरसिया के साथ देखिये #DeshKiBahas... यहां पढ़ें मुख्य अंश.

  • अफगानिस्तान में कोई सरकार नहीं, बल्कि आतंकवाद और माफिया आया है :मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • तालिबान भारत समेत पूरे क्षेत्र के लिए बड़ा खतरा है :मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • अफगानिस्तान में तालिबान के आने में पाकिस्तान का भी हाथ :मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • तालिबान को किसी नहीं इलेक्ट नहीं किया है, उन्होंने जबरदस्ती की:मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • तालिबानी अफगानिस्तान के लोगों का सिर कुचल देना चाहते हैं :मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • दुनिया को अब पंजशीर के लड़ाकों को सपोर्ट करना चाहिए :मेजर जनरल जीडी बख्शी (रिटा.), सुरक्षा विशेषज्ञ 
  • मुल्ला बरादर ने दोहा में अमेरिका से सारी बातचीत की :मेजर जनरल जीडी बख्शी 
  • इस तालिबान में हक्कानी ग्रुप का बोलबाला है : :मेजर जनरल जीडी बख्शी 
  • ईरान पूछ रहा है कि तालिबान को किसने इलेक्ट किया :मेजर जनरल जीडी बख्शी 
  • पाकिस्तान, चाइना और तालिबान का तिकड़ी को बड़े ध्यान से परखने की जरूरत है :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • दुनिया का कोई भी लोकतांत्रिक राष्ट्र तालिबान को स्वीकार नहीं करेगा :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • भारत को राजनीतिक, सांस्कृतिक और सामाजिक रूप से सारी चीजों को देखना होगा :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • भारत हर तरह की चुनौती के लिए पूरी तरह से तैयार है :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • भारत आने वाली चुनौती को देखते हुए अपनी रणनीति पर विचार कर रहा है  :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • भारत ने अफगानिस्तान में तीन मिलियन डॉलर से ज्यादा का काम किया :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • हमने अफगानिस्तान में डैम, स्कूल और कई विकास कार्य किए :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • आज कोई भी अपनों को अफगानिस्तान में नहीं भेजना चाहता :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • पाकिस्तान के पास खाने तक को पैसे नहीं है, केवल चीन के पैसे पर पल रहा है :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • हम अफगानिस्तान के लोगों का भला सोचते हैं, समझदार राष्ट्र तालिबान को स्वीकार नहीं कर सकते :लेफ्टिनेंट जनरल अशोक चौधरी (रिटा.), पूर्व DGMO 
  • अमेरिका ने तालिबान को मौका दिया और राजनीतिक रूप दिया :मेजर जनरल केके सिन्हा (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ, 
  • अफगानिस्तान में चुनी हुई सरकार का एक ही बंदा बचा है, जो पंजशीर में है :मेजर जनरल केके सिन्हा (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ, 
  • ईरान कहता है कि हम नहीं मानेंगे, जब तक चुनाव नहीं होता :मेजर जनरल केके सिन्हा (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ, 
  • पाकिस्तान चीन और तालिबान के पिछलग्गू हैं :मेजर जनरल केके सिन्हा (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ,
  • पाकिस्तान दूसरों के पैसे से आतंकवाद को बढ़ावा देता है :मेजर जनरल केके सिन्हा (रिटा.), रक्षा विशेषज्ञ,  
  • तालिबान को एक मौका दिया जाना चाहिए :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • तालिबानी की क्रूर तस्वीरें 2001 से पहले दौर की हैं :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • तालिबान के सामने अफगानिस्तान की तीन लाख फौज दुम दबाकर भाग गई :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • ये वो तालिबान है, जिसके साथ अमेरिका समेत कई देशों ने बातचीत की :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • पाकिस्तान अपने पांव पर खड़ा है :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • पाकिस्तान किसी के सामने हाथ नहीं फैला रहा :नदीम कुरैशी, नेता PTI
  • पाकिस्तान को तालिबान को लेकर बहुत सावधानी से चलना होगा :मेयद अली, पाक रक्षा विश्लेषक
  • तालिबान को ज्यादा बढ़ाचढ़ाकर पेश किया जा रहा है :मेयद अली, पाक रक्षा विश्लेषक
  • पाकिस्तान को सोच समझ कर ऐसे लोगों का साथ देना चाहिए :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • पाकिस्तान को बांग्लादेश जैसे देश से सबक लेने की जरूरत है :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • तालिबान आज भी पहले वाला ही तालिबान है, पाकिस्तान को उसका साथ नहीं देना चाहिए :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • पाकिस्तान को अगर तरक्की करनी है तो उसको दूसरे मुल्कों पर अपने पर ज्यादा ध्यान देना होगा :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • हर किसी से अगर हम लोन और कर्ज मांगते रहेंगे तो हम और कमजोर होते जाएंगे :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार
  • जब तक हमारी अर्थव्यवस्था मजबूत नहीं होगी तब तक हम शक्तिशाली राष्ट्र नहीं हो सकते :आरज़ू काज़मी, पाकिस्तानी पत्रकार

First Published : 16 Sep 2021, 08:07:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो