News Nation Logo
Banner

राम रहीम पर सजा के पहले सिरसा में खाली कराया गया डेरा आश्रम, हरियाणा में सुरक्षा चाक-चौबंद

हरियाणा के सिरसा में राम रहीम के डेरा हेडक्वार्टर को खाली कराने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। भारी संख्या में हरियाणा रोडवेज की बसें डेरा के तरफ जा रही है।

News Nation Bureau | Edited By : Abhiranjan Kumar | Updated on: 27 Aug 2017, 09:39:07 PM
सजा के ऐलान से पहले सिरसा के डेरा हेडक्वार्टर को पुलिस ने कराया खाली (फाइल फोटो)

सजा के ऐलान से पहले सिरसा के डेरा हेडक्वार्टर को पुलिस ने कराया खाली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

हरियाणा के सिरसा में राम रहीम के डेरा हेडक्वार्टर को खाली करा लिया गया है। बलात्कार के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद सोमवार को राम रहीम की सजा का ऐलान किया जाना है। 

हरियाणा में राम रहीम पर सजा के ऐलान से पहले राज्य के कई इलाकों में मोबाईल इंटरनेट को बैन कर दिया गया है। राज्य सरकार ने आदेश जारी किया है कि सोमवार को चार जिलों के सभी स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे। वहीं सिरसा में कर्फ्यू जारी रहेगी।

राज्य सरकार ने आदेश जारी करते हुए कहा, 'राम रहीम के सजा के ऐलान से पहले हरियाणा के पंचकुला, रोहतक, कैथल और अंबाला के सभी स्कूल कॉलेज और शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।'

राम रहीम के समर्थकों के उत्पात को देखते हुए सरकार ने कई जिलों में धारा 144 लगा दी है। राज्य सरकार ने आदेश जारी करते हुए कहा, 'अंबाला में अगले आदेश तक धारा 144 लागू रहेगा।'

इसे भी पढ़ेंः राम रहीम पर फैसले से पहले हरियाणा में इंटरनेट बैन, स्कूल-कॉलेज बंद, सिरसा में कर्फ्यू जारी

मोबाईल और इंटरनेट के जरिए लोगों के पास अफवाह को पहुंचाने से रोकने के लिए सरकार ने मोबाइल इंटरनेट और भारी मात्रा में मैसेज भेजने पर भी रोक लगा दिया है।

बता दें कि राम रहीम अपने आश्रम की दो साध्वियों के साथ रेप के आरोप में दोषी साबित हो चुके हैं। कोर्ट रेप के मामले में सोमवार को सजा सुनाएगा। कोर्ट के तरफ से दोषी साबित होने के बाद राम रहीम के समर्थकों ने हरियाणा के कई इलाकों में जमकर तांडव मचाया था।

इस दौरान समर्थकों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। समर्थकों ने मीडिया के कई लोगों के साथ मारपीट भी की थी और चेनलों के ओबी वैन में भी आग लगा दिया था।

इसे भी पढ़ेंः कोर्ट की फटकार के बाद एक्शन में हरियाणा सरकार, पंचकूला DCP सस्पेंड, 38 की मौत

समर्थकों ने वहां मौजूद पुलिस और सेना के जवानों पर पथ्थरबाजी भी की थी। जिसके बाद जवानों ने आंसू गैस के गोले छोड़े थे। समर्थकों के हिंसा में 36 लोगों की मौत हो चुकी है। इस तांडव में 250 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

किसी भी संभावित हिंसा को देखते हुए राज्य सरकार ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए राज्य सरकार ने कमर कस लिया है।

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

First Published : 27 Aug 2017, 07:53:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो