logo-image
लोकसभा चुनाव

Delhi Weather: दिल्ली में गर्मी का थर्ड डिग्री टॉर्चर, तापमान 48 के पार...क्या है मौसम विभाग की चेतावनी?

Delhi Weather: भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्ली के मुंगेशपुर में आज अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

Updated on: 28 May 2024, 06:40 AM

New Delhi:

Delhi Weather:  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के राज्यों में इस समय भयंकर हीटवेव चल रही हैं. आलम यह है कि अब लोगों को गर्मी के सितम से सुबह और शाम को भी राहत नहीं मिल पा रहा है. दिनभर चलने वाली गर्म हवाएं लोगों की बेचैन कर रही हैं. जबकि बढ़ती गर्मी के कारण लोगों को रात काटना भी किसी जंग से कम नहीं लग रहा है. मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली और आसपार के इलाकों में अगले तीन दिनों तक गंभीर लू चलने की आशंका है. इस दौरान अधिकतम तापमान 48 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच सकता है. जबकि न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है.

यह खबर भी पढ़ें- Explainer: मोदी के गढ़ में BJP ने झोंकी ताकत, प्रचार में दिग्गजों को उतारा, जानें- वाराणसी लोकसभा सीट का हाल

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार दिल्ली के मुंगेशपुर में आज अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. जबकि नजफगढ़ में तापमान 48.6 डिग्री, नरेला में 48.4 डिग्री और पीतमपुरा में 47.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग की रिपोर्ट में बताया गया कि दिल्ली में इस पूरे हफ्ते तापमान 43 से 46 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है. जबकि इस दौरान न्यूनतम तापमान 29 से 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया जाएगा. हालांकि मौसम विभाग ने इस दौरान राहतभरी खबर भी सुनाई है. मौसम विभाग का कहना है कि 31 मई को मौसम विभाग का मिजाज बदलने की उम्मीद है. 

यह खबर भी पढ़ें- Weather Update: गर्मी से नहीं मिलने वाली कोई राहत, क्या झेलनी होगी 56 डिग्री वाली तपन?

मौसम विभाग ने बताया कि दिल्ली में 31 मई और 1 जून को हल्की व मध्यम बारिश होने के आसार है. जबकि खबर यह है कि बारिश के बाद भी दिल्लीवासियों को गर्मी से राहत मिलने की संभावना नहीं है. क्योंकि बारिश के दौरान भी तापमान में गिरावट की कोई उम्मीद नहीं है. आपको बता दें कि राजस्थान में कई जिलों का तापमान 46 या उससे उपर है इस स्थिति में अचानक से प्रदेश में विजली की डिमांड बढ़ी है इसी वजह से बिजली का ओवरलोड ट्रांसफार्मर पर ज्यादा होने से ट्रांसफार्मर में आग लगने की घटनाएं ज्यादा होने की वजह से  अब ट्रांसफार्मर में कूलर लगाए जा रहे हैं.