News Nation Logo
Banner

Delhi Violence: दिल्ली दंगों में अबतक 42 लोगों ने गवांई जान, और बढ़ सकता है ये आंकड़ा

Delhi Violence: दिल्ली दंगों में अबतक 42 लोगों ने गवांई जान, और बढ़ सकता है ये आंकड़ा

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 28 Feb 2020, 05:03:50 PM
Delhi violence

दिल्ली दंगों में मरने वालों की संख्या 42 पहुंची (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्ली:

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार से जारी दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है.  दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) में अब शुक्रवार तक मरने वालों की संख्या 42 तक जा पहुंचीं है. आपको बता दें कि इसके पहले गुरुवार को दिल्ली के गोकुलपुरी में दो लाशें बरामद की गईं थीं. ये दोनो लाशें नाले से बरामद की गईं थीं. इससे पहले आईबी कर्मी अकिंत शर्मा का शव भी चांदबाग में नाले से मिला था. गुरुवार को मौजपुर इलाके में सुरक्षाबलों ने मार्च किया था जबकि सीलमपुर, जाफराबाद, बाबरपुर में एहतियातन भारी सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी. वहीं दिल्ली में हालात अभी भी काफी तनाव ग्रस्त हैं जिसको देखते हुए सीबीएसई बोर्ड ने नार्थ ईस्ट दिल्ली में करीब 80 परीक्षा केंद्रों की परीक्षाएं टाल दी हैं.

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के आरोप में दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) पर धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया और आप पार्षद के घर और फैक्ट्री को सील कर दिया गया है. इसके अलावा आपको ये भी बता दें कि आप पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के घर की छत पर पेट्रोल बम और गुलेल पाए गए थे, जिसके बाद उसे दिल्ली हिंसा (Delhi Violenceका मास्टर माइंड होने का आरोप लगाया जा रहा है. आपको बता दें कि पिछले कई दिनों से दिल्ली में हिंसा हो रही है इस हिंसा में अब तक कुल 34 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 200 से भी ज्यादा लोग इस हिंसा में घायल हो गए हैं. दिल्ली हिंसा में मारे गए इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा के परिजनों ने भी आप पार्षद ताहिर हुसैन पर हत्या करने का आरोप लगाया है. हालांकि ताहिर हुसैन ने बयान ने खुद को निर्दोष बताया है और कहा है कि इस मामले में पूरी जांच होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें-Punjab Budget: 12वीं तक शिक्षा मुफ्त, खुलेंगे नए मेडिकल कॉलेज, जानें किसे क्या मिला

अंकित शर्मा की हत्या में हो सकता है ताहिर का हाथ
मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, आई बी के ऑफिसर अंकित शर्मा की मौत के पीछे आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है. ताहिर के छत पर से भारी मात्रा में पेट्रोल बम, पत्थर और गुलेल पाया गया है इसके अलावा वहां पर बोतले और दंगाईयों द्वारा हमले के लिए इस्तेमामल की जाने वाली कई चीजें बरामद की गई हैं इससे यह उम्मीद लगाई जा रही है कि आईबी के स्टाफर अंकित की हत्या भी ताहिर और उनके समर्थकों ने कराया होगा. 

यह भी पढ़ें-Delhi Violence: कपिल सिब्बल ने PM मोदी पर किया वार, कहा- 69 घंटे बाद टूटी नींद

दिल्ली दंगों के पीछे पीएफआई और आईएसआई का हाथ!
दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की दिल्ली दंगों (Delhi Violence) की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे इस मामले में बहुत ही चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं. शुरुआती जांच में संकेत मिले हैं कि दिल्ली को सांप्रदायिक आग में झोंकने की साजिश पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने रची थी, जिसे पाकिस्तानी खुफिया संस्था आईएसआई (ISI) का समर्थन हासिल था. शुक्रवार को फोरेंसिक टीम ने आम आदमी पार्टी (AAP) के पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) के घर और फैक्ट्री की तलाशी ली, तो सैकड़ों पेट्रोल बम समेत तेजाब के पाउच, पत्थर फेंकने के लिए छोटी-बड़ी गुलेल समेत टनों की मात्रा में पत्थर मिले हैं.

शाहरुख नाम के दंगाई की फोटो वायरल
इसके अलावा सोशल मीडिया पर शाहरुख खान की फोटो तो वायरल हो ही चुकी है, जिसमें वह दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के जवान पर पिस्तौल ताने दिख रहा है. हाथों लाठी-डंडों समेत धारदार हथियारों के साथ उपद्रवी भीड़ की तस्वीरें तो सामने आ ही चुकी हैं. अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है और दो सौ से ज्यादा लोग घायल हैं. नालों का शवों को उगलना जारी है, जो बताता है कि दंगों में मारे गए लोगों की संख्या और बढ़ेगी. देखते हैं कि दिल्ली को दंगों की आग में झोंक मासूमों को मारने के लिए ककिस-किस तरह के हथियार इस्तेमाल में लाए गए.

First Published : 28 Feb 2020, 03:01:03 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×