News Nation Logo
Banner

CAA के समर्थन में सामने आए वकील, कहा-पहले पढ़ें, फिर करें प्रदर्शन

दिल्ली के तीसहजारी कोर्ट कुछ वकीलों ने विरोध प्रदर्शन किया. लेकिन यह विरोध प्रदर्शन कानून के खिलाफ नहीं बल्कि उसके पक्ष में हुआ.

अरविंद सिंह | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 20 Dec 2019, 05:26:14 PM
सीएए के पक्ष में वकीलों ने किया मार्च

नई दिल्ली:  

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर देश दो भागों में बंट गया है. कुछ लोगों इस कानून के पक्ष में बोल रहे हैं तो कुछ लोग इसके खिलाफ सड़कों पर उतर आए हैं. इसी कड़ी में शुक्रवार को दिल्ली के तीसहजारी कोर्ट कुछ वकीलों ने विरोध प्रदर्शन किया. लेकिन यह विरोध प्रदर्शन कानून के खिलाफ नहीं बल्कि उसके पक्ष में है.

नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में तीसहजारी कोर्ट में कुछ वकीलों ने प्रदर्शन किया और कानून के पक्ष में कोर्ट परिसर के अंदर नारेबाजी की. वकीलों का कहना था कि ये कानून नागरिकता देने के लिए है, छीनने के लिए नहीं.

उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम किसी भी व्यक्ति चाहे वो किसी भी धर्म का है, की नागरिकता को प्रभावित नहीं करता है.

इसे भी पढ़ें:जयपुर बम ब्लास्ट मामले में 11 साल बाद आया फैसला, कोर्ट ने चारों दोषियों को सुनाई फांसी की सजा

वकीलों ने मार्च के दौरान 'कानून को पहले पढ़े फिर प्रदर्शन करें' का संदेश भी दिया.

उन्होंने आगे कहा कि इसके खिलाफ हो रहे प्रदर्शन दरसअल दुष्प्रचार और सुनियोजित साजिश का नतीजा है.

और पढ़ें:देशव्यापी NRC के बाद राष्ट्रीय पहचान-पत्र जारी कर सकती है मोदी सरकार

बता दें कि सीएए के खिलाफ देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. गोरखपुर, वाराणसी, फिरोजाबाद, बुलंदशहर, गाजियाबाद में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं. दिल्ली के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए पुलिस आंसू गैस के गोले दाग रहे हैं. साथ ही उन्हें लाठीचार्ज भी करना पड़ रहा है. सैंकड़ों लोगों को हिरासत में लिया गया है.

First Published : 20 Dec 2019, 05:23:07 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.