News Nation Logo

राजीव गांधी की तरह सोनिया ने लोगों को उकसाया, दिल्ली हिंसा पर BJP का आया बड़ा बयान

कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगा रही है तो बीजेपी कांग्रेस का जवाब देती हर जगह नजर आ रही है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोनिया गांधी पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 27 Feb 2020, 06:44:47 PM
Prakash Javadekar

प्रकाश जावड़ेकर (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:  

दिल्ली दंगे (Delhi Riot) की जो तस्वीर सामने आ रही है वो बेहद ही डराने वाली है. जिन गलियों में जिंदगी आबाद थी वहां अब मातम पसरा है. जलने की बू अभी भी आ रही है. जिंदगी आने वाले समय में भले ही पटरी पर लौट जाए, लेकिन दंगे ने जख्म दिया है उसका दर्द तो ताउम्र लोगों में रहेगा. लोग अपनों के खोने का गम मना रहे हैं तो दूसरी तरफ सियासी गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगा रही है तो बीजेपी कांग्रेस का जवाब देती हर जगह नजर आ रही है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सोनिया गांधी पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया.

प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने कहा, 'ये दो दिन की हिंसा नहीं है दो महीने से लोगों को उकसाया जा रहा है. सीएए (CAA) पारित होने के बाद राम लीला मैदान में सोनिया जी की रैली हुई थी जिसमें उन्होंने कहा था ये आर- पार की लड़ाई है. फैसला लेना पड़ेगा इस पार या उस पार. उकसाने का काम वहीं से शुरू हो गया था.

प्रियंका और राहुल ने भी लोगों को उकसाया

केंद्रीय मंत्री ने आगे प्रियंका गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा, 'प्रियंका ने कहा कि लाखों को बंदी बनाया जाएगा,जो नहीं लड़ेगा वो कायर कहलाएगा. राहुल गांधी ने कहा कि आप डरो मत कांग्रेस आपके साथ है. किसी की नागरिकता नहीं जाएगी, ये जानते हुए भी जान बूझकर ऐसे गलत बयान और डर पैदा करना ही इसकी पृष्ठभूमि है.'

इसे भी पढ़ें:अंकित शर्मा की हत्या पर ताहिर हुसैन ने दिया बड़ा बयान, कहा- पूरी जांच हो अगर...

सोनिया के वाक्य राजीव गांधी के बयान जितने गंभीर हैं

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस की गलतबयानी ने ही लोगों को उकसाया है. 1984 में राजीव गांधी ने कहा था कि बड़ा पेड़ गिरता है तो जमीन हिलती है. 2020 में सोनिया गांधी ने कहा है कि ये आर-पार की लड़ाई है. सोनिया गांधी के वाक्य राजीव गांधी के बयान जितने ही गंभीर हैं.

और पढ़ें:27 फरवरी 2002 की सुबह, जब बदल गई थी पूरे गोधरा की तस्वीर

बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 34 लोगों की जान चली गई है. वहीं सैंकड़ों लोगों के घर, दुकाने जला दी गई. कई जगहों पर लोग अभी भी अपनों को खोज रहे हैं. अस्पतालों में सैंकड़ों लोगों के इलाज चल रहे हैं. वहीं स्थिति को सामान्य करने के लिए पुलिस हिंसावाले एरिया में फ्लैग मार्च कर रही है. लोगों से शांति बनाए रखने और अमन के साथ रहने के लिए अपील की जा रही है.

First Published : 27 Feb 2020, 04:33:57 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.