News Nation Logo

दिल्ली सरकार ने 15 दिन में बनाया कोविड हॉस्पिटल, चीन को दे रहा टक्कर

चीन ने पिछले साल 10 दिन में अस्पताल बनाया था, जिसकी बड़े स्तर पर चर्चा हुई थी. अब केजरीवाल सरकार ने महज 15 दिन के भीतर 500 आईसीयू बेड का अस्पताल बनाकर इतिहास रच दिया है. जीटीबी अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में 500 आईसीयू बैड तैयार किए.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 15 May 2021, 06:09:20 PM
Delhi government built Covid Hospital in 15 days

दिल्ली सरकार ने 15 दिन में बनाया कोविड हॉस्पिटल (Photo Credit: @ArvindKejriwal)

highlights

  • दिल्ली सरकार ने 15 दिन में बना दिया विशाल हॉस्पिटल
  • मरीजों के लिए विश्वस्तरीय सुविधाएं
  • 1200 आईसीयू बेड तैयार करने का लक्ष्य

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस संक्रमण से पूरा देश संकट में है. भारत सरकार से लेकर राज्य सरकार इस महामारी के खिलाफ युद्ध लड़ रही है. इसमें सबसे आगे दिल्ली सरकार खड़ी नजर आ रही है. वहीं, भारत में कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा खतरनाक है. तो स्वास्थ्य व्यवस्था भी चौकस होनी चाहिए. कुछ इसी तरह की व्यवस्था हो भी रही है. दरअसल, दिल्ली सरकार ने 15 दिन में विशाल हॉस्पिटल बना दिया है. यहां आपको बता दें कि चीन ने पिछले साल 10 दिन में अस्पताल बनाया था, जिसकी विश्व स्तर पर चर्चा हुई थी. अब इस पर आप को आगे बताएंगे. पहले जान लीजिए भारत सरकार ने किस तरह से कोरोना को मात देने के लिए किस तरह से सबसे तेजी से काम किया. पिछली बार जब कोरोना का संकट देश पर था, तब मोदी सरकार ने सरदार पटेल कोविड अस्पताल का बहुत तेजी से निर्माण कराया था. इस बार भी कुछ ऐसा ही हो रहा है. केंद्र सरकार के सहयोग से दिल्ली सरकार ने महज 15 दिन के भीतर 500 आईसीयू बेड का अस्पताल बनाकर इतिहास रच दिया है. जिसकी वजह से भारत चीन को बुहान में बनाए गए महज 10 दिन में कोविड अस्पताल से बेहतर बनाया है. भारत सरकार और दिल्ली सरकार ने कोविड के खिलाफ जंग में चीन को कड़ी टक्कर दे रहे हैं. तो चलिए पहले जान लेते है चीन को कैसे भारत दे रहा है कड़ी टक्कर.

जानिए कैसे दिल्ली सरकार ने 15 दिन में बना दिया विशाल हॉस्पिटल

चीन ने पिछले साल 10 दिन में अस्पताल बनाया था, जिसकी बड़े स्तर पर चर्चा हुई थी. अब केजरीवाल सरकार ने महज 15 दिन के भीतर 500 आईसीयू बेड का अस्पताल बनाकर इतिहास रच दिया है. जीटीबी अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में 500 आईसीयू बैड तैयार किए. दिल्ली के जीटीबी अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में 500 आईसीयू बेड का अस्पताल तैयार हो गया है. 50 इंजीनियर और 1 हजार से अधिक कर्मचारियों ने बनाया है. महज पंद्रह दिनों के भीतर इसे तैयार कर दिया है. रामलीला मैदान में बनाए गए 500 बेड के अस्पताल को जीटीबी अस्पताल के साथ अटैच किया गया है. 

मरीजों के लिए विश्वस्तरीय सुविधाएं

केजरीवाल सरकार की तरफ से यहां पर विश्वस्तरीय सुविधाएं दी गई हैं. जानकारी के मुताबिक यहां पर 100 से अधिक कैमरे लगाए गए हैं. पूरी तरह से वातानूकूलित अस्पताल में वाईफाई की भी सुविधा भी दी गई है. इसके अलावा पर्याप्त ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए 10-10 हजार किलोलीटर के 2 लिक्विड ऑक्सीजन टैंक लगाए गए हैं.

1200 आईसीयू बेड तैयार करने का लक्ष्य

केजरीवाल सरकार की तरफ से 1200 आईसीयू बेड तैयार किए जा रहे हैं. एलएनजेपी अस्पताल से अटैच रामलीला मैदान में भी 500 आईसीयू बेड का अस्पताल तैयार हो गए है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की देखरेख में इसे तैयार किया गया है. यहां पर 250 आईसीयू बेड आज शुरू हो रहे हैं, जबकि 250 आईसीयू बेड दो दिनों में शुरू हो जाएंगे. डॉक्टर्स, इंजीनियर्स और श्रमिकों ने युद्ध स्तर पर 24 घंटे काम करके मात्र 15 दिनों के अंदर इस 500 आईसीयू बेड का निर्माण किया है. इसी तरह, 200 आईसीयू बेड राधा स्वामी सत्संग ब्यास छतरपुर में तैयार हो रहे हैं. अब यह कुल 1200 नए आईसीयू बेड हो जाएंगे. 

चीन ने 10 में बनाया था कोविड अस्पताल

चीन से कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार पूरी दुनिया में फैला, लेकिन चीन ने इस वायरस से लोगों के बचाने के लिए दस दिनों में अस्पताल खड़ा करने के लिए हजारों लोगों की सेवा ली गयी. 800 मशीनों की मदद से मरीजों के लिए निर्धारित समय में काम पूरा किया. जिस वक्त वुहान में अस्पताल निर्माण किया जा रहा था उस दौरान इसका लाइव-प्रसारण मीडिया चैनलों पर किया जा रहा था. जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में हो रही थी. वहीं, अब केजरीवाल सरकार महज 15 दिनों में दिल्ली के जीटीबी अस्पताल के सामने रामलीला मैदान में 500 आईसीयू बेड का अस्पताल तैयार कर चीन को कड़ी टक्कर दी है. 

केजरीवाल सरकार के कामों की हो रही तारीफ
केजरीवाल सरकार की तरफ से किए जा रहे कार्यो की बड़े स्तर पर तारीफ हो रही है. बड़े उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने ट्विट कर केजरीवाल सरकार के कार्यों की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि हां हम कर सकते हैं. अब हमें इस तरह के समर्पण और कार्यान्वयन कौशल की आवश्यकता छोटे शहरों और देश के भीतरी हिस्सों में है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 15 May 2021, 05:46:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.