News Nation Logo
ओमिक्रॉन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी 66 और 46 साल के दो मरीज आइसोलेशन में रखे गए भारत में ओमीक्रॉन वायरस की पुष्टि कर्नाटक में मिले ओमीक्रॉन के 2 मरीज सीएम योगी आदित्यनाथ ने प. यूपी को गुंडे-माफियाओं से मुक्त कराकर उसका सम्मान लौटाया है: अमित शाह जहां जातिवाद, वंशवाद और परिवारवाद हावी होगा, वहां विकास के लिए जगह नहीं होगी: योगी आदित्यनाथ पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

यमुना सफाई का मुद्दा : कांग्रेस का केजरीवाल पर पलटवार, 7 वर्षों में सफाई के नाम पर भ्रष्टाचार की भेंट चढ़े करोड़ो रुपए

यमुना सफाई का मुद्दा : कांग्रेस का केजरीवाल पर पलटवार, 7 वर्षों में सफाई के नाम पर भ्रष्टाचार की भेंट चढ़े करोड़ो रुपए

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 18 Nov 2021, 09:50:01 PM
Delhi Devotee

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा यमुना की गंदगी पर चिंता जाहिर करने और 2025 तक यमुना की सफाई पूरी करने पर दिल्ली कांग्रेस ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, मुख्यमंत्री प्रदूषण संकट से दिल्लीवासियों के ध्यान भटकाने के लिए 2025 तक यमुना सफाई करने की दुहाई दे रहे हैं।

दरअसल सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक प्रेस वार्ता कर यमुना की सफाई पर अपनी बात रखी जिस पर उन्होंने कहा कि, यमुना नदी को इतना गंदा होने में 70 साल लगे। दो दिन में इसकी सफाई नहीं हो सकती, वहीं हमने युद्धस्तर पर काम शुरू कर दिया है। हम छह एक्शन पॉइंट्स के जरिये इसपर काम कर रहे हैं, जिसकी निगरानी मैं खुद कर रहा हूं।

इसके बाद दिल्ली कांग्रेस सीएम को कटघरे में खड़े करने की कोशिश में जुट गई। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि, प्रदूषण संकट से दिल्लीवालों का ध्यान भटकाने के लिए 2025 तक यमुना सफाई करने की दुहाई दे रहे हैं। जबकि 2015 सत्ता में आते ही मुख्यमंत्री ने 4 साल में सम्पूर्ण यमुना सफाई का वायदा किया, परंतु पिछले 7 वर्षों में करोड़ो रुपये खर्च करने के बाद भी झूठे वायदों के अलावा यमुना सफाई से संबधित कोई योजना शुरू नही की गई।

सीवरेज ट्रीटमेंट, नालों की सफाई, औद्योगिक वेस्ट, झुग्गी झोपड़ी की गंदगी, सीवर कनेक्शन और सीवर नेटवर्क में से किसी बिंदु पर केजरीवाल सरकार ने 7 वर्षों में कोई योजना कार्यान्वित नहीं की, क्योंकि अत्यधिक योजनाएं भ्रष्टाचार की भेट चढ़ गईं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा जिन छह पॉइंट्स का जिक्र किया गया उसमें कहा गया कि, बेहद कम कीमत पर नए सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाने पर काम करेंगे। वहीं तकनीक की मदद लेकर नालों की सफाई की जाएगी। साथ ही सीवर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता भी बढ़ा रहे हैं।

इसके अलावा, इंडस्ट्रियल वेस्ट पर लगाम लगाई जाएगी।

दिल्ली कांग्रेस के मुताबिक, जिस 600 एमजीडी सीवर ट्रीटमेंट की बात केजरीवाल कह रहे है उसमें 2012-13 में कांग्रेस की शीला सरकार के समय 545 एमजीडी सीवेज ट्रीटमेंट क्षमता थी।

वहीं यमुना के पानी की गुणवत्ता को सुधारने के लिए प्रतिदिन 124 मीलियन गैलन वेस्ट वाटर को ट्रीट करने के लिए दिल्ली जल बोर्ड ने ओखला में 1,161 करोड़ की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के निर्माण को मई 2021 में पूरा होना था जिसको अगले 2 वर्ष के लिए आगे बढ़ा दिया गया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 18 Nov 2021, 09:50:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.