News Nation Logo
Banner

दिल्ली कांग्रेस चीफ शीला दीक्षित ने 3 नए कार्यकारी अध्यक्षों को दी नई जिम्मेदारियां

दिल्ली कांग्रेस कमेटी के 3 कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसुफ, देवेंद्र यादव और राजेश लीलोथिया भी पीसी चाको के समर्थन में आ गए.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 17 Jul 2019, 05:02:25 PM
शीला दीक्षित (फाइल फोटो)

शीला दीक्षित (फाइल फोटो)

highlights

  • शीला दीक्षित ने कार्यकारी अध्यक्षों को दी नई जिम्मेदारियां
  • पीसी चाको के हस्तक्षेप के बाद दी जिम्मेदारी
  • राजेश लिलोठिया, हारुन युसुफ और देवेंद्र यादव को नई जिम्मेदारी

नई दिल्ली:

दिल्ली कांग्रेस चीफ शीला दीक्षित ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के 3 कार्यकारी अध्यक्ष, हारून यूसुफ, देवेंद्र यादव, और राजेश लिलोथिया को नई ज़िम्मेदारियां सौंपी हैं. इसके पहले दिल्‍ली कांग्रेस में प्रदेश प्रभारी पीसी चाको और प्रदेश अध्‍यक्ष शीला दीक्षित के बीच तनातनी और बढ़ गई थी. जिसके बाद पीसी चाको ने शीला दीक्षित को पत्र लिखकर कहा था कि आपकी सेहत ठीक नहीं है, लिहाजा तीनों कार्यकारी अध्‍यक्ष स्वतंत्र रूप से काम कर सकते हैं.

उन्‍होंने तीनों कार्यकारी अध्‍यक्षों को चिट्ठी लिखकर इस बात की सूचना भी दी. पीसी चाको ने शीला दीक्षित को लिखे खत में यह भी शिकायत की है कि उनका फोन नहीं उठाया जा रहा है. इससे पहले पी.सी चाको ने दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित को चिट्ठी लिखकर इस बात से नाराजगी जताई थी कि शीला दीक्षित ने 14 जिला कांग्रेस कमेटी पर्यवेक्षकों की नियुक्ति पूछे बगैर की. साथ 280 ब्लॉक कांग्रेस कमेटी पर्यवेक्षकों की नियुक्ति में भी हमसे कोई बात नहीं की. इतना ही नहीं उन्होंने दिल्ली के कार्यकारी अध्यक्ष से भी सलाह नहीं लिया.

यह भी पढ़ें- पीसी चाको ने अध्‍यक्ष शीला दीक्षित से क्‍यों कहा- आपकी सेहत ठीक नहीं, दिल्‍ली कांग्रेस में झगड़ा बढ़ा

दिल्ली कांग्रेस कमेटी के 3 कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसुफ, देवेंद्र यादव और राजेश लीलोथिया भी पीसी चाको के समर्थन में आ गए हैं. उन्होंने राहुल गांधी, ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी दिल्ली प्रभारी पी.सी चाको और ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी संगठन महासचिव प्रभारी के.सी वेणुगोपाल को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में उन्होंने एकपक्षीय निर्णय का उल्लेख किया है. उन्होंने कहा कि इतने लोगों को संगठन में शामिल उनलोगों के पूछे बगैर किया गया है. जो पार्टी के लिए ठीक नहीं है.

यह भी पढ़ें- सरकार को RBI के अतिरिक्त रिजर्व के हस्तांतरण के पक्ष में बिमल जालान समिति

First Published : 17 Jul 2019, 05:02:25 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×