News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र बीजेपी में टूट के आसार, दर्जन भर विधायक कर सकते हैं कांग्रेस-एनसीपी में घर वापसी

राज्य में शिवसेना (Shivsena) के नेतृत्व में उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) की सरकार बनने के बाद कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) में दर्जन भर विधायक घर वापसी कर सकते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 06 Dec 2019, 07:06:12 AM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: (फाइल फोटो))

highlights

  • बीजेपी के दर्जन भर विधायक कांग्रेस-एनसीपी में कर सकते हैं घर वापसी.
  • एक राज्यसभा सांसद समेत बीजेपी से असंतुष्ट कुछ और नेता भी मूड में.
  • सभी उपचुनावों में मूल पार्टी के उम्मीदवार बतौर किस्मत आजमाएंगे.

Mumbai:

सत्ता बदलते ही निष्ठाएं कैसे बदलती हैं, इसका उदाहरण एक बार फिर महाराष्ट्र (Maharashtra) बन रहा है. राज्य में शिवसेना (Shivsena) के नेतृत्व में उद्धव ठाकरे (Udhav Thackeray) की सरकार बनने के बाद कांग्रेस-एनसीपी (Congress-NCP) में दर्जन भर विधायक घर वापसी कर सकते हैं. ये वह विधायक हैं, जो विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी (BJP) में शामिल हुए थे. ऐसी भी चर्चा है कि बीजेपी के विपक्ष में बैठने के बाद सत्ता के 'शौकीन' कुछ और विधायक भी पाला बदल सकते हैं. हालांकि राज्य बीजेपी के प्रमुख आशीष शेलार ने ऐसी किसी 'टूट' से इंकार करते हुए स्पष्ट कहा है कि यह सब बीजेपी को कमजोर करने के लिए फैलाई गई महज अफवाह है.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार का महिला सुरक्षा पर बड़ा फैसला, देश के सभी थानों में बनेंगी महिला डेस्क

एक राज्यसभा सांसद भी पाला बदलने के मूड में
महाराष्ट्र के सिय़ासी गलियारों में यह चर्चा जोरों पर है कि वे विधायक जो विधानसभा चुनावों से ऐन पहले एनसीपी और कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे. घर वापसी कर सकते हैं. इनके साथ-साथ कुछ असंतुष्ट बीजेपी विधायक समेत एक राज्यसभा सांसद भी पार्टी छोड़ने के मूड में हैं. पाला बदलने के इच्छुक इन विधायकों में से अधिकांश एनसीपी में वापसी चाहते हैं. कुछ विधायक कांग्रेस और शिवसेना में भी शामिल हो सकते हैं. बीजेपी छोड़ने वाले ये सभी विधायक विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर आने वाले उपचुनावों में गठबंधन में शामिल पार्टियों के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में उतरने को तैयार हैं.

यह भी पढ़ेंः उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की हालत बेहद गंभीर, दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल लाया गया

अजित-शरद पवार से मिले बीजेपी नेता
इन कयासों को एनसीपी के प्रवक्‍ता नवाब मलिक के बयान से भी बल मिल रहा है. उन्होंने कहा था कि बीजेपी ने लालच देकर, छापों का डर दिखाकर एनसीपी-कांग्रेस के नेताओं की भर्ती की थी. हालांकि बीजेपी के सत्ता हटने के बाद अब हमारे लोग घर वापसी करना चाहते हैं. कुछ विधायक अजित पवार, तो कुछ शरद पवार से मिले भी चुके हैं. इन विधायकों को बस एनसीपी की हरी झंडी का इंतजार है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट भी कह चुके हैं कई लोगों को लग रहा है कि गलत समय पर बीजेपी में चले गए. हमें भी पता चला है कि चुनाव से पहले बीजेपी में जाने वाले कई विधायक वापसी का मार्ग खोज रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः अयोध्या केस : 6 दिसंबर को गम मनाएंगे हाजी महबूब, इकबाल अंसारी ने कहा...

कुछ नेता वक्त के इंतजार में
हालांकि बीजेपी नेता आशीष शेलार ने कहा है कि उनकी पार्टी के दर्जनभर विधायक टूटने की खबर अफवाह है. उन्हें अपने सभी विधायकों पर भरोसा है. हालांकि भिवंडी में मेयर पद का चुनाव जीतने के बाद बीजेपी ने सत्तारूढ़ गठबंधन को एक तगड़ा झटका दिया है. अंदरखाने यह भी चर्चा है कि शिवसेना ने कांग्रेस-एनसीपी के समर्थन से सरकार बना जरूर ली है, लेकिन आगे का रास्ता इतना आसान भी नहीं है. ऐसे में बीजेपी में शामिल नेता वक्त का इंतजार कर रहे हैं.

First Published : 06 Dec 2019, 06:55:45 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×