News Nation Logo
Banner

18 साल के इतिहास में पहली बार लोकसभा में आधी रात तक हुई बहस, जानें किस बात पर हुई चर्चा

पिछले 18 साल में पहली बार गुरुवार को लोकसभा में आधी रात तक चर्चा हुई. रात करीब 12 बजे तक रेलवे की अनुदान मांग पर चर्चा हुई. चर्चा के दौरान विपक्ष के सांसद भी मौजूद थे.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 12 Jul 2019, 08:46:21 AM
संसद (Parliament) - फाइल फोटो

संसद (Parliament) - फाइल फोटो

नई दिल्ली:

गुरुवार को लोकसभा में आधी रात तक कामकाज देखने को मिला. दरअसल, पिछले 18 साल में पहली बार गुरुवार को लोकसभा में आधी रात तक चर्चा हुई. रात करीब 12 बजे तक रेलवे की अनुदान मांग पर चर्चा हुई. चर्चा के दौरान विपक्ष के सांसद भी मौजूद थे.

रात 11 बजकर 58 मिनट तक हुई चर्चा
गुरुवार को वर्ष 2019-20 के लिए लोकसभा में रेल मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले अनुदान मांगों पर आधी रात तक चर्चा हुई. निचले सदन में रात 11 बजकर 58 मिनट तक सदस्यों ने चर्चा की. इस चर्चा में करीब 100 सदस्यों ने भाग लिया. सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याओं को भी इस दौरान उठाया.

यह भी पढ़ें: Gold-Silver Price Outlook: करेक्शन के बाद दोबारा रफ्तार पकड़ सकते हैं सोना-चांदी, जानिए विशेषज्ञों की राय

चर्चा के बाद रेल राज्यमंत्री सुरेश चन्नबसप्पा अंगदी ने कहा कि रेलवे एक परिवार की तरह है जो सभी को एक साथ लेकर चलता है और सभी को संतुष्ट करता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने के बाद से रेलवे में काफी बदलाव आया है. वाजपेयी जी ने जो काम सड़कों के लिए किया है. वहीं काम मोदी रेलवे के लिए कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें: Petrol Diesel Price: 2 दिन में दिल्ली में 25 पैसे सस्ता हो गया डीजल, आपके शहर में कितना घटा रेट, देखें लिस्ट

कांग्रेस समेत विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि रेलवे में सार्वजनिक-निजी साझेदारी (PPP) और विनिवेश के जरिए रेलवे को निजीकरण की ओर ले जाया जा रहा है. विपक्ष का कहना है कि सरकार को वादों की बजाय रेलवे की स्थिति में सुधार करना चाहिए. वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विपक्ष के आरोप को खारिज किया है. सत्तारूढ़ बीजेपी का कहना है कि भारतीय रेलवे नित नए कीर्तिमान बना रहा है.

First Published : 12 Jul 2019, 08:45:49 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×