News Nation Logo
क्रुज ड्रग्स केस में पिछले 2 दिनों में मुंबई में 6 ठिकानों पर छापेमारी दिल्ली में कुतुब मीनार को राष्ट्र ध्वज के रंगों से रोशनकर मनाया गया 100 करोड़ COVID टीकाकरण का जश्न 100 करोड़ COVID टीकाकरण की ऐतिहासिक उपलब्धि पर चार मीनार को राष्ट्रीय ध्वज के रंगों से रोशन किया गया देश भर में 100 स्मारकों को राष्ट्रीय ध्वज के रंगों में रोशन करने की भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की पहल NCB ने अनन्या पांडे से करीब 2 घंटे तक पूछे सवाल, कल भी होगी पूछताछ हम एक साल के अंदर 1 लाख भर्तियां और करेंगे: शिवराज सिंह चौहान आर्यन खान की न्यायिक हिरासत फिर बढ़ी आर्यन को अब 30 अक्टूबर तक रहना होगा जेल में पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी का गोवा दौरा 28 अक्टूबर को

ई-रिक्शा चालक की मौत, परिवार ने पुलिस पर लगाया हमले का आरोप

ई-रिक्शा चालक की मौत, परिवार ने पुलिस पर लगाया हमले का आरोप

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 11 Oct 2021, 05:15:01 PM
dead bodyphotohttppixabaycom

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में दो पुलिसकर्मियों द्वारा कथित तौर पर हमला किए जाने के बाद एक ई-रिक्शा चालक की मौत हो गई है।

अधिकारियों के अनुसार, पीड़ित गौरी शंकर के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं होने के बावजूद दोनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। अधिकारियों ने कहा कि प्राकृतिक कारणों से उनकी कथित तौर पर मौत हुई है।

बुलंदशहर पुलिस ने एक बयान में कहा कि चौधेरा गांव में रविवार शाम को घटना हुई। पुलिस ने स्थानीय मेले की ओर जा रहे एक ई-रिक्शा को रोकने की कोशिश की। इस दौरान चालक बेहोश हो गया और उसे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं हैं। पीड़ित लंबे समय से बीमार था। आरोप है कि उसे पुलिसकर्मियों ने पीटा था जिसकी जांच की जा रही है।

पुलिस ने कहा कि चालक को दिल की समस्या थी और वह तपेदिक का भी मरीज था। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा सामना किए जाने के बाद वह बेहोश होकर गिर गया था।

हालांकि, परिवार ने आरोप लगाया कि बूथ प्रभारी और पुलिस कांस्टेबल ने उनके साथ मारपीट की, जिससे उनकी मौत हो गई। जिसके बाद दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

पुलिस ने कहा कि पीड़ित की अलीगढ़ अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संतोष सिंह ने कहा कि वे पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं ताकि यह पता लगाया जा सके कि पीड़ित को कोई चोट तो नहीं लगी थी। पीड़ित परिवार की ओर से अभी तक पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई तहरीर नहीं दी गई है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 11 Oct 2021, 05:15:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो