News Nation Logo

Cyclone Tauktae:  गुजरात तट से टकराया समुद्री चक्रवाती तूफान टाउते

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने रविवार को अरब सागर में चक्रवाती तूफान तौकते से प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालने के लिए सभी उपाय करने की जरूरत पर जोर दिया ताकि किसी भी तरह की जान-माल की क्षति से बचा जा सके

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 18 May 2021, 06:57:08 AM
Cyclone Tauktae

Cyclone Tauktae (Photo Credit: (फोटो-ANI))

नई दिल्ली:

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने रविवार को अरब सागर में चक्रवाती तूफान तौकते से प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालने के लिए सभी उपाय करने की जरूरत पर जोर दिया ताकि किसी भी तरह की जान-माल की क्षति से बचा जा सके. राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) के दौरान चक्रवात से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करते हुए, गौबा ने बिजली, दूरसंचार और अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं को बहाल करने के लिए सभी तैयारी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के महानिदेशक ने एनसीएमसी को चक्रवात की नई स्थिति के बारे में जानकारी दी जिसके मुताबिक 18 मई की सुबहतूफान के गुजरात तट पर पहुंचने की उम्मीद है, जिसमें हवा की गति 150 से 160 किमी प्रति घंटे रह सकती है. इसके अलावा राज्य के तटीय जिलों में तेज हवाएं, भारी बारिश और तूफान आ सकता है.

चक्रवाती तूफान टाउते करीब 175 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गुजरात की बढ़ रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से करीब 200 किलोमीटर और गुजरात से लगभग 400 किलोमीटर दूर है. गुजरात के तट पर तूफान रात 8 से 11 बजे के बीच दस्‍तक दे सकता है. भारतीय तटरक्षक जहाज समर्थ ने आज गोवा तट पर मिलाद नामक एक मछली पकड़ने वाली नाव से 15 चालक दल को बचाया. सभी चालक दल सुरक्षित हैं और नाव को किनारे पर लाया जा रहा है.

संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों ने चक्रवाती तूफान से निपटने के लिए किए गए तैयारी उपायों से समिति को अवगत कराया. खाद्यान्न, पेयजल और अन्य आवश्यक आपूर्ति के पर्याप्त स्टॉक की व्यवस्था की गई है और बिजली, दूरसंचार जैसी आवश्यक सेवाओं को बनाए रखने के लिए तैयारी की गई है.

गुजरात तट से टकराया समुद्री चक्रवाती तूफान टाउते.

एनडीआरएफ ने इन राज्यों में 79 टीमें उपलब्ध कराई हैं और 22 अतिरिक्त टीमों को भी तैयार रखा गया है. जहाजों और विमानों के साथ थल सेना, नौसेना और तटरक्षक बल के बचाव और राहत दल भी तैनात किए गए हैं.

चक्रवाती तूफान के खतरे को देखते हुए गुजरात के सीएम विजय रूपाणी गांधीनगर के स्टेट कंट्रोल रूम पहुंचे और कलेक्टरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तटीय जिलों समेत राज्य की स्थिति की समीक्षा की. सिंधुदुर्ग जिले में सर्वाधिक 5.77 करोड़ रुपये का नुकसान होने का प्रारंभिक अनुमान है. करीब 12,500 लोगों को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित किया गया है.

LIVE TV NN

NS

NS

गुजरात तट से टकराया समुद्री चक्रवाती तूफान टाउते

चक्रवाती तूफान के खतरे को देखते हुए गुजरात के सीएम विजय रूपाणी गांधीनगर के स्टेट कंट्रोल रूम पहुंचे और कलेक्टरों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तटीय जिलों समेत राज्य की स्थिति की समीक्षा की.

सिंधुदुर्ग जिले में सर्वाधिक 5.77 करोड़ रुपये का नुकसान होने का प्रारंभिक अनुमान है. करीब 12,500 लोगों को सुरक्षित स्थान पर स्थानांतरित किया गया है.

चक्रवाती तूफान टाउते करीब 175 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गुजरात की बढ़ रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से करीब 200 किलोमीटर और गुजरात से लगभग 400 किलोमीटर दूर है. गुजरात के तट पर तूफान रात 8 से 11 बजे के बीच दस्‍तक दे सकता है.

भारतीय तटरक्षक जहाज समर्थ ने आज गोवा तट पर मिलाद नामक एक मछली पकड़ने वाली नाव से 15 चालक दल को बचाया. सभी चालक दल सुरक्षित हैं और नाव को किनारे पर लाया जा रहा है.

तेज हवाओं के कारण घाटकोपर-विक्रोली सेक्शन के बीच लोकल ट्रेन पर पेड़ की शाखाएं गिर गईं. इसके चलते सेवा बाधित हो गई थी. एहतियात के तौर पर कई जगहों पर लोकल ट्रेनों की सेवा रोक दी गई है.

भारी बारिश और हवाओं के चलते मुंबई में शिवसेना भवन के पास पेड़ उखड़ गया और बिजली का पोल टूटकर गिर गया. किसी हादसे की कोई खबर नहीं है.

धोलेरा से 962 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. यहां कुल 38 शेल्टर काम कर रहे हैं. सभी व्यक्तियों को रैपिड एंटीजन परीक्षण के बाद आश्रयों में स्थानांतरित कर दिया गया है. आश्रयों में सभी कोरोना दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जा रहा है: संदीप सागले, अहमदाबाद जिला कलेक्टर

चक्रवाती तूफान ताउते की वजह से मुंबई एयरपोर्ट को बंद रखने का फैसला किया गया है. मुंबई एयरपोर्ट आज यानि सोमवार 6 बजे तक बंद रखने का फैसला लिया गया है. पहले 10 बजे से 1 बजे तक बंद किया गया था फिर 4 बजे तक बंद रखने का फैसला हुआ और अब 6 बजे तक किया गया है.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चक्रवात तौकते पर मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर लोगों से सतर्क रहने की अपील की है क्योंकि यह राजस्थान के कुछ जिलों को भी प्रभावित कर रहा है.


गहलोत ने ट्वीट किया,"मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अजमेर, जयपुर और भरतपुर मंडल चक्रवात से प्रभावित हो सकते हैं. जैसा कि अपेक्षित था, चक्रवात गुजरात के जामनगर को भी प्रभावित कर सकता है जो राजस्थान के लिए ऑक्सीजन का सबसे बड़ा आपूर्ति स्रोत है, इसलिए अधिकारियों को निर्देश दिया है कि सुचारू ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए वैकल्पिक आपातकालीन योजना बनाएं."

अब चक्रवात महाराष्ट्र और गुजरात की ओर बढ़ रहा है. इस कारण दक्षिण पश्चिम रेलवे, दक्षिण रेलवे और पश्चिम रेलवे को कुछ ट्रेनें आंशिक या पूरी रद्द करनी पड़ीं हैं. वहीं टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक, तूफान के चलते सोमवार को मुंबई में कोरोना के टीके भी नहीं लगाए जाएंगे. उधर, तौकते तूफान के चलते मुंबई एयरपोर्ट पर 11 बजे से लेकर 4 बजे तक सभी ऑपरेशन बंद रहेंगे.

देश के दक्षिण और पश्चिमी राज्यों में चक्रवात 'तौकते' बेहद भीषण तूफान में बदल गया है. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान दक्षिण भारत में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण 7 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों घर ढह गए.

 मुंबई में ' तौकते' का जल तांडव, कई इलाकों में भारी बारिश से जलजमाव, सैकड़ों पेड़ गिरे

मौसम विभाग ने किया एमपी में ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी किया है. विभाग ने भारी वर्षा एवं गरज चमक के साथ बिजली चमकने और गिरने की संभावना जताई है.


ऑरेंज अलर्ट- नरसिंहपुर, सागर, रायसेन, राजगढ़, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, धार, रतलाम, शाहजहांपुर, आगर, नीमच एवं मंदसौर


येलो अलर्ट - जबलपुर, शहडोल, सागर, रीवा, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर एवं चंबल संभाग के लिए.

तौकते तूफान के कारण रत्नागिरि में रात से ही तेज़ हवा और बरसात हो रही है. यहां प्रशासन ने लोगों को घर से नही निकलने की सलाह दी है. तेज हवा और बरसात के कारण कई घरों के छत गिर गए हैं और फिलहाल पूरे इलाके की बिजली भी काट दी गयी है.

महाराष्ट्र में चक्रवाती तूफान तौकते का असर दिखने लगा है. सोमवार सुबह मुंबई के वडाला इलाके में तेज हवा के साथ हल्की बारिश हुई.


राजस्थान के कई स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश, 18 मई को राज्य के दक्षिण क्षेत्र में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश और 19 मई को राज्य भर में भारी बारिश की संभावना है.

राजस्थान के डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा उपखण्ड और सीमलवाड़ा तहसील क्षेत्र में रविवार  को आए तूफान ने खूब कहर मचाया. बिजली गिरने से यहां दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं एक ही परिवार के पांच लोगों के साथ कुल सात लोग झुलस गए. इन लोगों को अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया.

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौकते के चलते मौसम विभाग ने अगले 4 दिन के लिए राजस्थान के 6 संभागों में अलर्ट जारी किया है. जयपुर, जोधपुर, कोटा , उदयपुर , अजमेर और भरतपुर संभाग में 2 से 8 इंच तक बारिश होने की संभावना.  40 से 60 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज़ हवाएं चलने की संभावना जताई जा रही है.

First Published : 17 May 2021, 07:39:59 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो