News Nation Logo

Cyclone Amphan : ओडिशा में समुद्र तट के करीब चक्रवाती तूफान, कुछ हिस्सों में बारिश

बंगाल की खाड़ी से उठा अंफन तूफान बुधवार को तट से टकराएगा. इसके चलते पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कई इलाकों में भारी बारिश के साथ तेज हवाओं का अनुमान है.

By : Ravindra Singh | Updated on: 19 May 2020, 04:49:53 PM
amphan cyclone

अंफन तूफान (Photo Credit: फाइल )

नई दिल्ली:

कोरोना संकट के बाद देश में आए भीषण चक्रवाती तूफान 'अम्फन' को लेकर केंद्र सरकार ने आज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से उनकी तैयारियों का जायजा लिया. मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक से बातचीत की. अमित शाह ने केंद्र की तरफ से दोनों मुख्यमंत्रियों को हरसंभव मदद का भरोसा दिया. बंगाल की खाड़ी से उठा 'अम्फन' तूफान बुधवार को तट से टकराएगा. इसके चलते पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कई इलाकों में भारी बारिश के साथ तेज हवाओं का अनुमान है. तटवर्ती इलाकों से लाखों लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है. इस तूफान से राहत और बचाव के लिए एनडीआरएफ की कई टीमें तैनात की गईं हैं.

'अम्फान' को लेकर जेपी नड्डा ने तमिलनाडु, ओड़िशा और बंगाल के BJP नेताओं से की बात


ओडिशा में समुद्र तट के करीब चक्रवाती तूफान, कुछ हिस्सों में बारिश भी हुई.

एनसीएमसी ने सुपर चक्रवाती तूफान 'अम्फान' से निपटने की तैयारियों का फि‍र से जायजा लिया 

पश्चिम बंगाल के दिघा में 'अम्फन'  तूफान की वजह से भारी बारिश कहीं-कहीं पर लैंड स्लाइड भी हुई.


 


 #WATCH: Rainfall and strong winds hit Digha in West Bengal. #CycloneAmphan is expected to make landfall tomorrow. pic.twitter.com/sglWtx4MbJ


— ANI (@ANI) May 19, 2020


कोलकाता में 'अम्फन' तूफान के प्रभाव से बारिश.



ट्रांसमिशन लाइनों की मॉनीटरिंग चल रही है. राज्य सरकारों से संपर्क में हैं.

केरल के मानसून पर इसका असर रहेगा, अम्फन की वज़ह से इसकी गति में 5 दिनों की कमी जाएगी.

पश्चिम बगांल के 4 स्टेशन और ओडिशा के 2 पॉवर स्टेशनों को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

टावरों को ठीक करने के लिए टीम तैयार रहेगी. बेस स्टेशन पर फोकस रहेगा. जिला प्रशासन स्तर पर ब्रॉडबैंड बनाए रखने सबसे ज्यादा बल दिया जा रहा है. जिससे प्रशासन और हॉस्पिटल मदद पहुंचा सके.

सभी टेलिकॉम सेवाओं से स्थानिये भाषाओं में संदेश दिये जा रहे है. राज्य के अंदर रोमिंग रहेगी..जिससे कोई व्यक्ति किसी भी कपंनी के नेटवर्क से बात कर सकते है. टावरों के लिए जेनसेट रखे गए है.

 टेलिकॉम को होगा नुकसान, लैंडलाइन की तार टूट सकती है. बिजली जाने से मोबाइन नेटवर्क टूट सकता है. भारत सरकार की सभी सरकारी और गैर सरकारी ऑपरेटरों से बैठक हुई है- सचिव टेलिकॉम

डेल्टा क्षेत्र में कोई नाव, जहाज नहीं चले, मछली पकड़े ना जाए, बिजली जा सकती है, फोन कट सकते है, सड़क, रेल लाइन भी टूट सकती है. अम्फन को लेकर अलर्ट जारी.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 19 May 2020, 04:44:14 PM