News Nation Logo

CAA Protest: पूरे मंगलौर में 22 तक लगा कर्फ्यू, 48 घंटों के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद

मंगलौर सिटी और दक्षिण कन्नड़ जिले में 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 19 Dec 2019, 11:05:32 PM
प्रतीकात्मक फोटो

मंगलौर:

देशभर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदर्शन जारी है. जगह-जगह पर हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं इस हिंसक प्रदर्शन में 3 लोगों की मौत हो गई है. जिसमें से लखनऊ में एक और मंगलौर में दो की मौत हो गई. 50 से अधिक पुलिस जवान घायल हो गए हैं. इससे पहले मंगलौर में 5 पुलिस स्टेशन के पास कर्फ्यू लगाया था. लेकिन बाद में पूरे मंगलौर में पुलिस ने कर्फ्यू लगा दिया. पुलिस कमिश्नर ने इसकी जानकारी दी है. इसके साथ ही मंगलौर सिटी और दक्षिण कन्नड़ जिले में 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं.

मंगलौर में काफी हिंसक प्रदर्शन देखने को मिला. इसमें दो लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी. वहीं 20 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं. पूरे देश में इसको लेकर तनाव है. स्थिति नियंत्रण में नहीं हैं. लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं एक जगह पुलिस राष्ट्र गान सुनाकर भीड़ को हटाया. लोगों को हिंसक प्रदर्शन नहीं करने का सलाह दी. प्रदर्शन शांति रूप से करने की बात कही.

यह भी पढ़ें- CAA के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन, लखनऊ में 1, मंगलोर में 2 प्रदर्शनकारियों की मौत

बेंगलुरु में भी लोग नागरिकता कानून के खिलाफ हाथों में सरकार के खिलाफ तख्तियां लेकर सड़क पर उतरे. बेंगलुरु के टाउन हॉल में भारी संख्या में लोग इक्ट्ठा हुए. काफी अपील के बाद भी जब लोग वहां से नहीं हटे तो डीसीपी ने एक अनोखा रास्ता निकाला. सेंट्रल बेंगलुरु के डीजीपी चेतन सिंह राठौर बिना ताकत के इस्तेमाल किए लोगों को शांतिपूर्वक हटने को मजबूर कर दिया. चेतन सिंह ने लोगों से कहा कि भीड़ में कुछ उपद्रवी तत्व भी मौजूद रहते हैं. आप और हम कुछ नहीं करते हैं वो हिंसा फैलाते हैं. लेकिन पीटते हम और आप दोनों हैं. फिर चेतन सिंह राठौर ने लोगों के साथ राष्ट्रीय गान गाया. जैसे ही राष्ट्रीय गान खत्म हुआ लोग वहां से शांतिपूर्वक चले गए.

यह भी पढ़ें- CAA: मेरठ-अलीगढ़ के बाद गाजियाबाद-प्रयागराज में 24 घंटों के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद

वहीं, मंगलोर में लोगों ने हिंसक प्रदर्शन किया. भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. मंगलोर में दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई है. इस घटना के बाद मंगलोर में शुक्रवार को स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. मृतकों के नाम जलील (49) और नौसीन (23) है. इससे पहले पुलिस कमिश्नर ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने पुलिस थाने पर हमला किया और आग लगा दी. अंत में पुलिस को भी कार्रवाई करनी पड़ी. पहले हवा में गोली चलाई गई. इसके बावजूद प्रदर्शनकारी हमले करते रहे. मंगलोर के पांच पुलिस स्टेशन सीमा में धारा 144 लागू कर दिया गया है.

First Published : 19 Dec 2019, 10:33:48 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो