News Nation Logo
Banner

हुर्रियत नेताओं के इशारे पर पाकिस्तान में एमबीबीएस की सीटें फिक्स करने के आरोप में 6 नामजद

हुर्रियत नेताओं के इशारे पर पाकिस्तान में एमबीबीएस की सीटें फिक्स करने के आरोप में 6 नामजद

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 19 Aug 2021, 02:00:01 AM
Crime

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अलगाववादी हुर्रियत नेताओं के इशारे पर पाकिस्तान में कथित तौर पर एमबीबीएस सीटों की व्यवस्था करने के आरोप में बुधवार को पाकिस्तान में रह रहे दो लोगों सहित कुल छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

पुलिस की काउंटर-इंटेलिजेंस विंग (कश्मीर) द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है, छह व्यक्ति - श्रीनगर के बाग-ए-मेहताब निवासी साल्वेशन मूवमेंट के अध्यक्ष मोहम्मद अकबर भट उर्फ जफर भट, पट्टन, बारामूला निवासी फातिमा शाह, कुपवाड़ा निवासी मोहम्मद अब्दुल्ला शाह, शांगस अनंतनाग निवासी सबजार अहमद शेख, बाग-ए-मेहताब श्रीनगर निवासी अहमद भट, वर्तमान में बहरिया शहर, कराची, पाकिस्तान और मंजूर अहमद शाह, निवासी कुपवाड़ा और वर्तमान में उच्च न्यायालय, रावलपिंडी, पाकिस्तान के पास गुलमोहर कॉलोनी के रहने वाले आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस के अनुसार, आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत एकत्र किए जा रहे हैं। विश्वसनीय साक्ष्य एकत्र करने के साथ ही वह रिकॉर्ड में भी रखे जाएंगे।

बयान में यह भी कहा गया है कि काउंटर-इंटेलिजेंस विंग के पास विश्वसनीय स्रोतों से जानकारी थी कि कुछ हुर्रियत नेताओं सहित कई बेईमान व्यक्ति, कुछ शैक्षिक परामर्शदाताओं के साथ हाथ मिलाए हुए हैं और पाकिस्तान स्थित एमबीबीएस सीटें और अन्य महाविद्यालय और विश्वविद्यालय में विभिन्न प्रोफेशनल कोर्स की सीटें बेची जा रही हैं।

बयान में कहा गया है, आकांक्षी या संभावित छात्रों के माता-पिता से एकत्र किए गए धन का उपयोग, कम से कम आंशिक रूप से, आतंकवाद और अलगाववाद को अलग-अलग तरीकों से समर्थन और वित्तपोषित करने के लिए किया गया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 19 Aug 2021, 02:00:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.