News Nation Logo
Banner

GoodNews: भारत में कमजोर पड़ा कोरोना वायरस, 'जीनोम स्ट्रक्चर' में हुआ म्यूटेशन

एक शोध में सामने आया है कि भारत में कोरोना वायरस में एक छोटा लेकिन, महत्वपूर्ण म्यूटेशन रिपोर्ट किया गया है। इसके कारण कोरोना वायरस कुछ कमजोर हो गया है.

By : Kuldeep Singh | Updated on: 31 Mar 2020, 06:08:29 PM
Coronavirus

भारत में कमजोर पड़ा कोरोना वायरस, 'जीनोम स्ट्रक्चर' में हुआ म्यूटेशन (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच एक राहत भरी खबर सामने आई है. एक तरफ कोरोना वायरस से अमेरिका, चीन, स्पेन और ईरान जैसे देश कराह रहे हैं लेकिन इसी बीच भारत के सामने एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है. एक शोध में सामने आया है कि भारत में कोरोना वायरस में एक छोटा लेकिन, महत्वपूर्ण म्यूटेशन रिपोर्ट किया गया है। इसके कारण कोरोना वायरस कुछ कमजोर हो गया है.

यह भी पढ़ेंः डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ने यह वीडियो शेयर करने के लिए PM मोदी का किया धन्यवाद

जीनोम स्ट्रक्चर में म्यूटेशन का दावा
2016 में पद्मभूषण से सम्मानित और एशियाई गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट सोसायटी के अध्यक्ष रहे डॉ. डी. नागेश्वर राव ने दावा किया है कि भारत में कोरोना के जीनोम स्ट्रक्चर में म्यूटेशन हुआ है. इसके कारण वायरस के एस-प्रोटीन की चिपकने की क्षमता कम हो गई है. इसका अर्थ है कि अब कोरोना के स्पाइक उस तरह से शक्तिशाली नहीं रह गए हैं, जैसे कि चीन में थे. इससे पहले इटली में भी कोरोना वायरस के जैनेटिक मटैरियल में तीन म्यूटेशन हुए. लेकिन यह तीनों म्यूटेशन खतरनाक थे और उन्होंने कोरोना वायरस को ज्यादा घातक बना दिया.

यह भी पढ़ेंः IPL 2020: अक्टूबर-नवंबर में खेला जा सकता है IPL का 13वां सीजन, BCCI ने कही ये बड़ी बात

क्या होता है म्यूटेशन
अगर किसी वायरस या बैक्टीरिया से लेकर इंसान में स्थान, वातावरण या अन्य किसी कारण से डीएनए और आरएनए में कोई भी बदलाव होता है, तो वह म्यूटेशन होता है. म्यूटेशन ने जीवों के विकास क्रम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस में 29,903 न्यूक्लियस बेस हैं, जिनका क्रमानुसार चीन के मुकाबले भारत और इटली में बदल गया.

First Published : 31 Mar 2020, 06:02:18 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Corona Virus Mutation
×