News Nation Logo
Banner

कोरोना को लेकर काफी पहले सतर्क हो गया था भारत, जानें कब क्या हुआ

कोरोना के संक्रमण को लेकर भारत सरकार ने अबतक कौन-कौन से बड़े फैसले लिए हैं, यहां जानिए

IANS | Updated on: 29 Mar 2020, 07:34:33 AM
corona virus

corona virus (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस को लेकर भारत की प्रतिक्रिया पूर्व-सक्रिय रही है. डब्ल्यूएचओ (WHO) के 30 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करने से बहुत पहले ही भारत ने अपनी सीमाओं पर व्यापक प्रतिक्रिया प्रणाली लागू कर दी थी.

भारत सरकार द्वारा अब तक लिए गए निर्णय-

17 जनवरी: चीन यात्रा से बचने के लिए जारी की गई एडवाइजरी.

18 जनवरी: चीन और हांगकांग के यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग शुरू हुई.

30 जनवरी: चीन की यात्रा से बचने के लिए मजबूत एडवाइजरी जारी.

3 फरवरी: ई-वीजा सुविधा चीनी नागरिकों के लिए निलंबित.

यह भी पढ़ें: बड़ी राहत... आइसोलेशन में रह रहे कोरोना के मरीजों को मिलेगी 28 दिनों की पेड लीव

22 फरवरी: सिंगापुर की यात्रा से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की गई। काठमांडू, इंडोनेशिया, वियतनाम और मलेशिया से उड़ानों के लिए यूनिवर्सल स्क्रीनिंग.

26 फरवरी: ईरान, इटली और कोरिया गणराज्य की यात्रा से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की गई। इन देशों से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी. स्क्रीनिंग और संदिग्धों के मूल्यांकन के आधार पर उन्हें आइसोलेशन में रखा जाएगा.

3 मार्च: इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया, जापान और चीन के लिए सभी वीजा का निलंबित किया गया. चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, ईरान, इटली, हांगकांग, मकाऊ, वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया, नेपाल, थाईलैंड, सिंगापुर और ताइवान से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य स्वास्थ्य जांच के आदेश जारी हुए.

4 मार्च: सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों की यूनिवर्सल स्क्रीनिंग. स्क्रीनिंग और संदिग्धों के आधार पर उन्हें होम आइसोलेशन या अस्पताल भेजा गया.

5 मार्च: इटली या कोरिया गणराज्य के यात्रियों को प्रवेश से पहले चिकित्सा प्रमाण पत्र प्राप्त दिखाना अनिवार्य.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार का फैसला, 3 माह तक बिजली बिल नहीं चुकाते हैं तो भी नहीं कटेगा कनेक्शन

10 मार्च: होम आइसोलेशन, आने वाले अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को खुद की स्वास्थ्य की निगरानी करनी चाहिए और सरकार द्वारा दिए गए, 'क्या करें' 'क्या न करें' का पालन करना चाहिए.

संक्रमित देशों से आने वाले यात्री को चीन, हांगकांग, कोरिया गणराज्य, जापान, इटली, थाईलैंड, सिंगापुर, ईरान, मलेशिया, फ्रांस , स्पेन और जर्मनी उनके आगमन की तारीख से 14 दिनों की अवधि के लिए 'होम आइसोलेशन' में रहना होगा.

11 मार्च: अनिवार्य आइसोलेशन-आने वाले यात्रियों (भारतीयों सहित)15 फरवरी के बाद चीन, इटली, ईरान, कोरिया गणराज्य, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी का दौरा करने वाले या आने वाले यात्रियों को न्यूनतम 14 दिनों तक 'होम आइसोलेशन' में रहेंगे. 16, 17, 19 मार्च- व्यापक एडवाइजरी

16 मार्च: यूएई, कतर, ओमान और कुवैत के माध्यम से आने वाले यात्रियों को कम से कम 14 दिनों तक अनिवार्य रुप से 'होम आइसोलेशन' में रहेंगे.

यूरोपीय संघ, यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ, तुर्की और यूनाइटेड किंगडम के सदस्य देशों के यात्रियों की भारत में यात्रा पूरी तरह से प्रतिबंधित है

17 मार्च: अफगानिस्तान, फिलीपींस, मलेशिया जाना यात्रियों के लिए प्रतिबंधित.

19 मार्च: सभी आने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 22 मार्च से स्थगित.

25 मार्च: भारत आने वाली सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के निलंबन का विस्तार 14 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया.

First Published : 29 Mar 2020, 07:29:17 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×