News Nation Logo

3351 वैक्सीनेशन सेंटरों में किया गया टीकाकरणः स्वास्थ्य मंत्रालय

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 16 Jan 2021, 07:06:44 PM
harshvardhan pc

विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू (Photo Credit: न्यूज नेशन )

नई दिल्ली:  

Corona Vaccination Live Updates : कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए शनिवार को देशभर में टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. टीकाकरण अभियान की शुरुआत करने से पहले पीएम मोदी ने देश को संबोधित किया और कोरोना वायरस से जुड़ी कुछ अहम बातें साझा की. बता दें कि देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक साथ शुरू हो रहे इस अभियान के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन देशभर में पहुंच चुकी हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार पूरे देश में एक साथ शुरू होने वाला यह अभियान विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है. 

आज पहले दिन राज्य भर में कुल 18 हजार 338 से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मियों को शाम 7 बजे तक टीका दिया गया.

दिल्ली में कुल 8100 स्वास्थ्य कर्मियों को पहले दिन टीके लगने की उम्मीद थी, इस हिसाब से 53.32% ने टीके लगवाए.

दिल्ली सरकार सूत्रों के मुताबिक पहले दिन 4319 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगे.

टीकाकरण का पहला दिन पूरी तरह से सफल रहा 3351 केंद्रों पर टीकाकरण किया गया जिसमें 165714 हेल्थ वर्करों ने वैक्सीन ली. इस पूरे कार्यक्रम में 16755 स्वास्थ्य कर्मियों ने भाग लिया. टीकाकरण के बाद अभी कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं सामने आया है किसी को भी अस्पताल में भर्ती करने की नौबत नहीं आई है : स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन 

Co-vin एप्लीकेशन के जरिए वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे उम्मीदवारों की लिस्ट अपलोड करने में कुछ समस्या हो रही थी, बाद में इसे ठीक किया गया और स्पीड को दुरुस्त रखा गया.आज वैक्सीनेशन के लिए जिन हेल्थ वर्कर को नहीं चुना गया था उनके भी लिस्ट को अपलोड किया गया और कुछ नए लोगों को टीकाकरण में शामिल किया गया है : स्वास्थ्य मंत्रालय

अंडमान निकोबार में  78 , आंध्र प्रदेश में 16963, अरुणाचल प्रदेश में 743, अमस में  2721, बिहार में 16401 ,छत्तीसगढ़ में  4985 ,चंडीगढ़ में  195 ,दादर में  64, दमन दीव में  43, दिल्ली में  3403, गोवा में  373, गुजरात में  8557, हरियाणा में  4656, हिमाचल प्रदेश में  1408 ,जम्मू कश्मीर में  1954, झारखंड में 2897, कर्नाटक में 12637, केरला में  7206 , लक्ष्यदीप में  21, मध्य प्रदेश में  6739, महाराष्ट्र में  15727 ,मणिपुर में  510, मेघालय में 509, पंजाब में 12100 ,राजस्थान में 9279, तमिलनाडु में 2728 ,तेलंगाना में 3600, उत्तर प्रदेश में 15975 ,उत्तराखंड में 2226, वेस्ट बंगाल में 9578 लोगों ने लिया टिका.

16,755 हेल्थ वर्कर में टीकाकरण में लिया मदद. 1,65,714 हेल्थ वर्कर का किया गया वैक्सीनेशन : स्वास्थ्य मंत्रालय


 

गोरखपुर में छह सेंटर पर कुछ 600 लोगों को टीका लगना था लेकिन शाम 4:00 बजे तक 285 लोगों ने ही कोविड-19 का टीका लगवाया

पुदुचेरी के मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने राजीव गांधी सरकारी महिला और बाल अस्पताल में COVID-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत की.


गोवा: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत आज मेडिकल कॉलेज में COVID-19 टीकाकरण केंद्र पर मौजूद रहे. मुख्यमंत्री ने कहा, "एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता को आज यहां COVID-19 वैक्सीन का पहला शॉट दिया गया.''


कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि भारत की वैक्सीन इतनी सुरक्षित और विश्वसनीय है तो बाकी देशों की तरह भारत सरकार के मंत्रियों ने टीका क्यों नहीं लगवाया.

झारखंड: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रांची के सदर अस्पताल में COVID-19 टीकाकरण केंद्र का दौरा किया. उन्होंने कहा, "कई डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मी और सफाईकर्मियों को आज टीका लगाया जा रहा है. राज्य में 48 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं."

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में COVID-19 टीकाकरण केंद्र का दौरा किया.


पश्चिम बंगाल: कोलकाता में कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान जारी है. ये तस्वीरें कोलकाता के मेडिकल कॉलेज की हैं.


तमिलनाडु: चेन्नई के राजीव गांधी अस्पताल में आज मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी की उपस्थिति में स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई.


दिल्ली: आरएमएल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एके सिंह राणा को भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगाई गई.


हैदराबाद: मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर ऐसी बातें न करें. अन्य देशों में परीक्षण की गई दवाओं को अच्छा माना जाता है, लेकिन जब हमारे वैज्ञानिक भारत में दवाओं का निर्माण और विकास करते हैं तो लोग इस पर सवाल खड़े कर देते हैं. 


परीक्षण के बाद ही टीकों को मंजूरी दी गई है. मैं ये पूरे विश्वास के साथ कहता हूं कि टीके सभी को कोरोना से सुरक्षा प्रदान करेंगे: जी. किशन रेड्डी, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज मोहाली के सिविल अस्पताल पहुंचे और आज से शुरू हुए कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान का निरीक्षण किया.


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. कात्यायनी शर्मा और असिस्टेंट कमांडेंट डॉ. स्कल्जैंग अंग्मो को आज लद्दाख में कोरोना वायरस की वैक्सीन दी गई. डॉ. कात्यायनी शर्मा ने कहा, "केंद्र द्वारा शुरू किए गए अभियान के तहत हमें Covishield वैक्सीन दी गई. यह सुरक्षित है और हम स्वस्थ महसूस कर रहे हैं."


लेह: भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के जवानों को वैक्सीन दी गई. एक जवान ने कहा, "आज हमें लद्दाख के सेक्टर अस्पताल में कोरोना वैक्सीन लगाई गई. इसका कोई साइड-इफेक्ट नहीं है और मुझे अच्छा लग रहा है.''


सभी को इस दिन का बेसब्री से इंतजार था. आखिरकार टीकाकरण शुरू ही हो गया. टीकाकरण 167 बूथों पर होगा. सभी को टीकाकरण करने में एक से डेढ़ साल का समय लगेगा. तब तक हमें COVID संबंधित प्रोटोकॉल का पालन करना जारी रखना होगा: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत


महाराष्ट्र: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुंबई में बीकेसी जंबो COVID19 अस्पताल में टीकाकरण केंद्र का उद्घाटन किया.


केरल: कोविड-19 टीकाकरण अभियान तिरुवनंतपुरम के एकीकृत परिवार स्वास्थ्य केंद्र और मेडिकल कॉलेज में शुरू हो गया. जिला कलेक्टर डॉ. नवजोत सिंह खोसा ने कहा, "लोगों के लिए मेरा संदेश है कि अपनी बारी का इंतजार करें, लेकिन टीकाकरण के लिए आगे आएं."


कर्नाटक: हुबली में कर्नाटक इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (KIMS) में कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है. डॉ नारायण हेबसुर ने कहा, "आज, धारवाड़ जिले में कुल 560 लोगों को 5 केंद्रों पर टीका लगाया जाएगा."


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की मौजूदगी में राजधानी देहरादून के दून मेडिकल कॉलेज में टीकाकरण अभियान शुरू


आंध्र प्रदेश: कोविड-19 टीकाकरण अभियान विजयवाड़ा के जनरल अस्पताल में शुरू हुआ.


पुणे: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने अपनी कंपनी द्वारा निर्मित COVISHIELD वैक्सीन की खुराक ली.


मैं एक बार फिर सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि टीका सुरक्षित है. यह प्रभावशाली है. हमें बड़ी संख्या में लोगों का टीकाकरण करना है और इसलिए हम बहुत अधिक अस्थिर नहीं हो सकते हैं. हमें अपने शोधकर्ताओं, वैज्ञानिकों और नियामक अधिकारियों में विश्वास होना चाहिए: एम्स निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया


हमने दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम शुरू कर दिया है. हमें पूरा विश्वास है कि यह एक सुगम कार्यक्रम होगा और हम बहुत बड़ी संख्या में लोगों का टीकाकरण कर सकेंगे. यह कोरोना महामारी के अंत की शुरुआत है: एम्स निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में COVID-19 वैक्सीनेशन अभियान के गवाह बने. उन्होंने कहा, "आज अस्पताल में 102 स्वास्थ्य कर्मचारियों को वैक्सीन दी जाएगी. अभी तक 15 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है और वे सभी पूरी तरह से ठीक हैं.


यह एक ऐतिहासिक दिन है. हम समय सीमा के भीतर टीकाकरण अभियान के पहले चरण को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए काम कर रहे हैं और फिर दूसरे चरण के टीकाकरण के बाद हम जम्मू और कश्मीर को एक स्वस्थ राज्य बनाएंगे. हमें कोविड प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते रहना होगा: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल मनोज सिन्हा


जम्मू और कश्मीर: जम्मू मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में कोविड-19 टीकाकरण अभियान चल रहा है. इस दौरान एक सफाईकर्मी ने कहा, "महामारी के दौरान कोविड-19 कर्तव्यों का पालन करते हुए हमें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. 6-7 महीने तक मैं घर भी नहीं गया. टीका हमारे लिए उम्मीद है.


वैज्ञानिकों और डॉक्टरों ने कहा है कि कोरोना का टीका सुरक्षित है. यहां तक कि इंग्लैंड की रानी ने भी कोरोना का टीका लिया है, जिनकी उम्र 93 साल है. उनके पति की उम्र 99 साल है और उन्होंने भी कोरोना का टीका लगवाया है. टीका लगवाने में डरने की कोई बात नहीं है: पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

दिल्ली के एम्स में पहला टीका लगवाने वाले स्वास्थ्यकर्मी मनीष कुमार ने कहा, ''मेरा अनुभव बहुत ही अच्छा रहा है. वैक्सीन लगने से मुझे कोई झिझक नहीं होगी और मैं अपने देश की और सेवा करता रहूंगा. लोगों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है. मेरे मन में जो डर था, अब वो भी निकल गया है. सभी को वैक्सीन लगवानी चाहिए.''

दिल्ली के 81 टीकाकरण केंद्रों पर 8,100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी. मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे अफवाहों पर ध्यान न दें. विशेषज्ञों ने कहा है कि टीके पूरी तरह से सुरक्षित हैं: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल


कोरोना वायरस वैक्सीनेशन प्रोग्राम का जायजा लेने दिल्ली के लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल पहुंचे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल.

मुझे बहुत खुशी है कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है. हमने वैक्सीनेशन की शुरुआत स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ की है और यह धीरे-धीरे यह अन्य लोगों को भी दी जाएगी. मैंने निम्न-आय वर्ग के लिए नि: शुल्क वैक्सीन का अनुरोध करने के लिए पीएम को पत्र लिखा है: पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह


महाराष्ट्र: मुंबई के घाटकोपर इलाके में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कोरोनोवायरस का पुतला जलाया.


यह कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान है. भारत के पास ऐसे मुद्दों को संभालने का जबरदस्त अनुभव है. हम इससे पहले पोलियो और चेचक का भी उन्मूलन कर चुके हैं: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

मैं आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के लोगों को देशव्यापी COVID-19 टीकाकरण अभियान के ऐतिहासिक लॉन्च के लिए बधाई देना चाहता हूं- भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग


ओडिशा: एम्स के पूर्व निदेशक और एसओए विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. अशोक महापात्रा ने भुवनेश्वर के एसयूएम अस्पताल में कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक लगवाई.


गुजरात: मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और डिप्टी सीएम नितिन पटेल की मौजूदगी में अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू


जम्मू और कश्मीर: श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (SKIMS) में कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है.


देशभर में कोरोनावायरस टीकाकरण के पहले चरण की शुरुआत. दिल्ली के एम्स में मौजूद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई COVAXIN की खुराक को दिखाया.


हमें कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर उड़ रही अफवाहों से बचने की जरूरत: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

आज मैं बहुत खुश और संतुष्ट हूं. हम पिछले एक साल से पीएम के नेतृत्व में कोविड-19 के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं. यह वैक्सीन COVID-19 की लड़ाई में 'संजीवनी' का काम करेगी, जो अंतिम चरण में प्रवेश कर गई है: स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन

दिल्ली एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने लगवाई कोरोना वायरस वैक्सीन.

दिल्ली के सफाईकर्मी मनीष कुमार कोरोना वायरस वैक्सीन लेने वाले देश के पहले व्यक्ति बने.


भारत में दुनिया के सबसे बड़े कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत, दिल्ली के AIIMS में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की मौजूदगी में लगाया गया कोविड-19 का पहला टीका.

भारत ने इस महामारी से जिस प्रकार से मुकाबला किया उसका लोहा आज पूरी दुनिया मान रही है. केंद्र और राज्य सरकारें, स्थानीय निकाय, हर सरकारी संस्थान, सामाजिक संस्थाएं, कैसे एकजुट होकर बेहतर काम कर सकते हैं, ये उदाहरण भी भारत ने दुनिया के सामने रखा: पीएम मोदी

मुझे याद है, एक देश में जब भारतीयों को टेस्ट करने के लिए मशीनें कम पड़ रहीं थीं तो भारत ने पूरी लैब भेज दी थी ताकि वहां से भारत आ रहे लोगों को टेस्टिंग की दिक्कत ना हो: पीएम मोदी

ऐसे समय में जब कुछ देशों ने अपने नागरिकों को चीन में बढ़ते कोरोना के बीच छोड़ दिया था, तब भारत, चीन में फंसे हर भारतीय को वापस लेकर आया. और सिर्फ भारत के ही नहीं, हम कई दूसरे देशों के नागरिकों को भी वहां से वापस निकालकर लाए: पीएम मोदी

जनता कर्फ्यू, कोरोना के विरुद्ध हमारे समाज के संयम और अनुशासन का भी परीक्षण था, जिसमें हर देशवासी सफल हुआ. जनता कर्फ्यू ने देश को मनोवैज्ञानिक रूप से लॉकडाउन के लिए तैयार किया. हमने ताली-थाली और दीए जलाकर, देश के आत्मविश्वास को ऊंचा रखा: पीएम मोदी

17 जनवरी, 2020 वो तारीख थी, जब भारत ने अपनी पहली एडवायजरी जारी कर दी थी. भारत दुनिया के उन पहले देशों में से था जिसने अपने एयरपोर्ट्स पर यात्रियों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी थी: पीएम मोदी

भारत ने 24 घंटे सतर्क रहते हुए, हर घटनाक्रम पर नजर रखते हुए, सही समय पर सही फैसले लिए. 30 जनवरी को भारत में कोरोना का पहला मामला मिला, लेकिन इसके दो सप्ताह से भी पहले भारत एक हाई लेवल कमेटी बना चुका था. पिछले साल आज का ही दिन था जब हमने बाकायदा सर्विलांस शुरु कर दिया था: पीएम मोदी

संकट के उसी समय में, निराशा के उसी वातावरण में, कोई आशा का भी संचार कर रहा था, हमें बचाने के लिए अपने प्राणों को संकट में डाल रहा था. हमारे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस ड्राइवर, आशा वर्कर, सफाई कर्मचारी, पुलिस और दूसरे Frontline Workers: पीएम मोदी

कोरोना से हमारी लड़ाई आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता की रही है. इस मुश्किल लड़ाई से लड़ने के लिए हम अपने आत्मविश्वास को कमजोर नहीं पड़ने देंगे, ये प्रण हर भारतीय में दिखा: पीएम मोदी

भारत के वैक्सीन वैज्ञानिक, हमारा मेडिकल सिस्टम, भारत की प्रक्रिया की पूरे विश्व में बहुत विश्वसनीयता है. हमने ये विश्वास अपने ट्रैक रिकॉर्ड से हासिल किया है: पीएम मोदी

दूसरे चरण में हम 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन देने की कोशिश करेंगे: पीएम मोदी

भारत वैक्सीनेशन के अपने पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण कर रहा है: पीएम मोदी

हमारे कई साथी अस्पताल से कभी घर ही नहीं लौटे: पीएम मोदी

कोरोना वायरस के दौर को याद कर भावुक हुए पीएम नरेंद्र मोदी

इस बीमारी ने मरीज को पूरी तरह से अकेला कर दिया : पीएम मोदी

कोरोना वायरस की वजह से लोगों को परंपरागत विदाई भी नहीं मिल पाई: पीएम मोदी

कोरोना वायरस ने अपनों को भी दूर कर दिया. इस महामारी ने एक मां को अपने बच्चे से दूर कर दिया: पीएम मोदी

आत्मनिर्भरता की ताकत को और भी मजबूत बनाना है : पीएम मोदी

शुरुआत में हमने काफी दिक्कतों का सामना किया लेकिन अब हम पूरी तरह से आत्मनिर्भर बन चुके हैं : पीएम मोदी

भारत को अपने सामर्थ्य पर पूरा भरोसा: पीएम मोदी

बच्चों के 60 फीसदी टीकों का निर्माता भारत ही है: पीएम मोदी

भारतीय वैक्सीन परिस्थितियों के लिहाज से अनुकूल: पीएम मोदी

भारतीय वैक्सीन विदेशी वैक्सीन की तुलना में काफी सस्ती और आसान रखरखाव वाली हैं.

कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन की तमाम जांच के बाद ही इन्हें मंजूरी दी गई है, लिहाजा किसी भी अफवाहों पर ध्यान न दें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दूसरी डोज लगने के बाद ही वैक्सीन कारगार साबित हो पाएगी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

वैक्सीन की डोज लेने के बाद भी मास्क लगाना और दो गज की दूरी का पालन अवश्व करें : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कोरोना वायरस की पहली डोज लगवाने के करीब 1 महीने बाद दूसरी डोज जरूर लगवाएं. दूसरी डोज लेने के बाद करीब 14 दिन बाद ये काम करना शुरू कर देगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

कोरोना वायरस की दोनों डोज लेना बहुत जरूरी. पहली डोज लगाने के बाद दूसरी डोज लगवाना न भूलें : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

टीकाकरण के लिए सभी राज्यों को भरपूर मदद दी जा रही है : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इंसान जब जोर लगाता है तो पत्थर को भी पानी बना देता है : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

सबसे पहले हेल्थ वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स जैसे सुरक्षा जवान, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मियों को टीका लगाया जाएगा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

सभी देशवासियों को इस दिन का बेसब्री से इंतजार था, आज पूरे देश के लिए बहुत बड़ा दिन है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भारत की दक्षता का सबूत है कोरोना वायरस वैक्सीन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दुनिया का सबसे बड़ा कोरोना वायरस टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश को कर रहे हैं संबोधित.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस वैक्सीनेशन शुरू होने से पहले देश को कर रहे हैं संबोधित.

अब से सिर्फ कुछ ही देर में पूरे भारत में कोविड-19 टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा. ये तस्वीरें राजस्थान के जयपुर में स्थित सवाई मान सिंह अस्पताल के हैं.


ओडिशा: संबलपुर जिले का जिला मुख्यालय अस्पताल COVID-19 टीकाकरण अभियान के लिए पूरी तरह से तैयार है.


झारखंड: रांची का सदर अस्पताल कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत के लिए पूरी तरह से तैयार.


पश्चिम बंगाल: कोलकाता का एसएसकेएम मेडिकल कॉलेज और अस्पताल कोविड-19 वैक्सीनेशन के शुभारंभ के लिए पूरी तरह से तैयार.


मुंबई के कूपर अस्पताल में कोविड-19 वैक्सीन पहुंचने पर हेल्थ वर्कर्स ने ताली बजाकर किया स्वागत.


महाराष्ट्र: मुंबई के कूपर अस्पताल में लाभार्थियों के स्वागत के लिए आरती की थाली और मिठाई लेकर मौजूद नर्स.



कर्नाटक: बेंगलुरू का मेडिकल कॉलेज और रिसर्च सेंटर कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान के लिए पूरी तरह से तैयार.


बिहार: कोरोना वायरस वैक्सीनेशन अभियान के शुभारंभ के लिए बिहार की राजधानी पटना में स्थित इंदिरा गांधी मेडिकल साइंस संस्थान को फूलों और गुब्बारों से सजाया गया है.


असम: कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के लिए गुवाहाटी भी तैयार. तस्वीरें गुवाहाटी के मेडिकल कॉलेज की हैं.


उत्तर प्रदेश: कोरोना वायरस वैक्सीनेशन की तैयारियों में वाराणसी के बीएचयू अस्पताल को गुब्बारों से सजाया गया है.


पंजाबः देश में आज से शुरू हो रहे वैक्सीनेशन के लिए अमृतसर के सिविल अस्पताल में तैयारियां चल रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देशभर में वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे.


कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का एम्स अस्पताल पूरी तरह से तैयार.


कोरोना वायरस वैक्सीनेशन की तैयारी में हैदराबाद के नामपल्ली में स्थित एरिया हॉस्पिटल को सजाया गया है.


पहली श्रेणी 60 साल से ऊपर और दूसरी 50 से 60 साल के बीच की है. इन लोगों की पहचान लोकसभा और विधानसभा चुनाव की सबसे अपडेट लिस्ट से किया जाएगा . 

कोरोना वैक्सीन (COVID-19) वैक्सीन प्रशासन के लिए राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह (NEGVAC) द्वारा की गई सिफारिशों के मुताबिक ये वैक्सीन सबसे पहले सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों में काम करने वाले लगभग एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों को दिया जाएगा.

कोरोना वायरस से बचाव के लिए शनिवार से दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान  की शुरुआत होगी. इस अभियान की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को सुबह 10.30 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अभियान करेंगे. पहले दिन देश भर में कुल 3006 केंद्रों पर एक साथ टीकाकरण शुरू होगा. एक केंद्र में एक सत्र में लगभग 100 लोगों को ही टीका लगाया जाएगा. बताया जा रहा कि अनुसार प्रधानमंत्री पहले दिन टीका लगवाने वाले चुनिंदा स्वास्थ्य कमियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग से संवाद भी कर सकते हैं.

दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरूआत से एक दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी ने सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली हैं. कोरोनावायरस से निजात पाने के लिए देश भर में शनिवार से सबसे बड़े टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है. शुरूआत में प्राथमिकता वाले समूहों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी. टीकाकरण अभियान के रोलआउट से पहले ही पूरे भारत में 3,006 साइट निर्धारित की गई हैं, जहां पर तीन लाख फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स और स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जाएगा.

देश के सबसे बड़े टीकाकरण की सभी तैयारियां मध्य प्रदेश में पूरी कर ली गईं. शनिवार को कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान शुरु हो रहा है. राज्य के चार लाख 17 हजार स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का टीकाकरण किया जाएगा. वहीं गर्भवती महिलाओं और 18 साल से कम की आयु के बच्चों का टीका नहीं लगाया जाएगा. कोरोना टीकाकरण की शुरुआत शनिवार को सुबह साढे 10 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करने वाले हैं.

First Published : 16 Jan 2021, 12:00:39 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.