News Nation Logo
Banner

Corona: बुजुर्गों को रखना होगा खास ख्याल, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए ये परामर्श

कोरोना वायरस के संक्रमण का विश्वव्यापी दायरा बढ़ने के मद्देनजर मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि बुजुर्गों में उम्र की अधिकता के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तुलनात्मक रूप से कम होने की वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है.

Bhasha | Updated on: 30 Mar 2020, 04:06:23 PM
corona virus

corona virus (Photo Credit: फाइल फोटो)

दिल्ली:

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के संक्रमण का बुजुर्गों को सर्वाधिक खतरा होने के मद्देनजर इससे बचाव के लिये परामर्श जारी किये हैं. मंत्रालय द्वारा सोमवार को दी गयी जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक सामने आये मौत के मामलों में उम्रदराज लोगों की काफी अधिक संख्या को देखते हुये बुजुर्गों के लिये परामर्श जारी किया गया है. इसमें बताया गया है कि इस वायरस के संक्रमण से बचने के लिये बुजुर्गों को क्या करना चाहिये और क्या नहीं करना चाहिये.

कोरोना वायरस के संक्रमण का विश्वव्यापी दायरा बढ़ने के मद्देनजर मंत्रालय द्वारा जारी परामर्श में कहा गया है कि बुजुर्गों में उम्र की अधिकता के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता तुलनात्मक रूप से कम होने की वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. परामर्श में उम्रदराज लोगों को संक्रमण से बचाव के सभी संभव उपाय अपनाते हुये घर पर ही नियमित रूप से व्यायाम करने की सलाह दी गयी है. साथ ही घर पर रहते हुये भी संक्रमण का खतरा कम करने के लिये उन्हें नियमित अंतराल पर साबुन से हाथ और चेहरा धोने को कहा गया है. साथ ही इसमें घर से बाहर नहीं निकलने के परामर्श का सख्ती से पालन करते हुये बुजुर्गों को बाहर से आने वाले लागों से नहीं मिलने को कहा गया है.

इसमें कहा गया है ‘अगर आगंतुकों से मिलना अनिवार्य है तो कम से कम एक मीटर की दूरी बना कर मिलना सुरक्षित होगा. ’इसके साथ ही परामर्श में बुजुर्गों को घर में बना ताजा पोषण युक्त आहार लेने के अलावा गर्म खाना खाने, बार बार पानी पीने और नियमित तौर पर ताजे फलों का रस पीने की बात भी कही गयी है. इसमें उम्रदराज लोगों से पहले से चल रही दवाओं का नियमित रूप से सेवन करने और मोतियाबिंद, घुटना प्रत्यारोपण जैसी इलाज को फिलहाल टालने की सलाह भी शामिल है.

यह भी पढ़ें: योगी सरकार ने गरीब मजदूरों को दी बड़ी राहत, 27.15 लाख मजदूरों को भेजे 611 करोड़ रुपये

परामर्श में कहा गया है कि बुजुर्गों को बुखार, जुकाम या सांस लेने में तकलीफ की समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से जांच करवाएं. इसमें बुजुर्गों को खांसी या छींक आने पर चेहरे को सीधे हाथों से न ढंकने की सलाह देते हुये जुकाम, खांसी या बुखार से पीड़ित लोगों के पास नहीं जाने को भी कहा गया है. परामर्श में बुजुर्गों से किसी मर्ज की खुद दवा लेने से बचने और नियमित स्वास्थ्य जांच के लिये अस्पताल जाने के बजाय ऑनलाइन चिकित्सा सेवा (टेलीमेडिसिन) का लाभ उठाकर चिकित्सा परामर्श लेने का सुझाव दिया गया है. साथ ही पार्क, बाजार और धार्मिक स्थलों जैसे भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचते हुये अत्यंत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर जाने का परामर्श दिया गया है.

यह भी पढ़ें: मस्जिदों-मदरसों में छिपे 'कोरोना बम' लॉकडाउन को लगा रहे पलीता, ऐसे 500 लोग निगरानी में

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति को देखते हुये जारी देशव्यापी बंद (लॉकडाउन) के दौरान मंत्रालय द्वारा लोगों को समय समय पर परामर्श जारी किये जा रहे हैं. बुजुर्गों में इस वायरस के संक्रमण के ज्यादा खतरे को देखते हुये मंत्रालय ने उम्रदराज लोगों के लिये अलग से परामर्श जारी किये है.

First Published : 30 Mar 2020, 03:55:07 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×