News Nation Logo

DRDO की '2 डीजी' दवा से तीन से सात दिन में ठीक होंगे कोरोना मरीज

दवा के बारे में डॉ. भट्ट का कहना है कि, "जिन मरीजों पर इसका प्रयोग किया गया उन्हें तीन दिन बाद ही अलग से ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखने की जरूरत नहीं पड़ी.

IANS | Updated on: 18 May 2021, 03:11:00 PM
doctor bhatt

doctor bhatt (Photo Credit: आइएएनएस)

highlights

  • दवा 2 डीजी ट्रायल में कोरोना संक्रमण से शत प्रतिशत निजात दिलाने में कारगर
  • ट्रायल के दौरान सभी कोरोना मरीज 2 से 7 दिन के अंदर ठीक हुए

लखनऊ:

कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए रक्षा विकास अनुसंधान संगठन (डीआरडीओ ) द्वारा निर्मित 2डीजी दवा सौ फीसदी कारगर बताई जा रही है. इसे बनाने वाली वैज्ञानिकों की टीम में शामिल गोरखपुर के डॉक्टर अनंत नारायण भट्ट ने खास बातचीत में बताया कि, "दवा 2 डीजी (2 डीऑक्सी डी ग्लूकोज) ट्रायल में कोरोना संक्रमण से शत प्रतिशत निजात दिलाने में कारगर रही है. उनका कहना है कि ट्रायल के दौरान सभी कोरोना मरीज 2 से 7 दिन के अंदर ठीक हुए हैं. उनको ऑक्सीजन और अन्य कोई जरूरत नहीं पड़ी. कुछ दिनों यह दवा हर आदमी की पहुंच में होगी. करीब हफ्ते भर पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिलने के बाद हैदराबाद की डॉ रेड्डीज लैब ने इसका उत्पादन शुरू कर दिया है." डॉ. भट्ट का कहना है कि, "यह दवा आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना पर आधारित है. उनके मुताबिक कोविड के पहले वेव में ही डीआरडीओ ने दवा बनाने की ठान ली थी. इसके लिए एक टीम को हैदराबाद की डॉ रेड्डीज लैब में रिसर्च के लिए लगाया गया. दिल्ली में कार्यरत डॉ भट्ट को भी हैदराबाद भेजा गया. दिनरात एक कर रिसर्च टीम को आखिरकार कामयाबी मिल ही गई."

इस दवा के बारे में डॉ. भट्ट का कहना है कि, "जिन मरीजों पर इसका प्रयोग किया गया उन्हें तीन दिन बाद ही अलग से ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखने की जरूरत नहीं पड़ी. 42 प्रतिशत मरीज तीन दिन में और 75 से 80 प्रतिशत तक मरीज सात से आठ दिन में ही कोरोना संक्रमण से ठीक हो गए. 11 से 12 दिन में रिकवरी की दर शत प्रतिशत मरीजों में पाई गई है. पूरी तरह अपने ही देश में निर्मित यह दवा सैशे में पावडर के रूप में है."

पूरी तरह देश में निर्मित कोविड मेडिसिन 2-डीजी को विकसित करने वाली टीम के अहम सदस्य डीआरडीओ के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. अनंत नारायण भट्ट गोरखपुर के गगहा इलाके के कौवाडील के रहने वाले हैं. उनका कहना है कि उन्हें इस बात पर गर्व की अनुभूति होती है कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जिले के रहने वाले हैं. बकौल डॉ भट्ट, आज गोरखपुर सीएम योगी के नाते पूरे विश्व में जाना जाता है. पूरा देश उनकी कर्मठता और ईमानदारी का कायल है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी कई बार तारीफ कर चुके हैं. डॉ भट्ट कहते हैं कि देश की सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य होने के बावजूद यूपी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बेहतरीन और तारीफ के काबिल कोविड प्रबंधन किया है. यही वजह है कि उनके कोविड प्रबंधन की तारीफ डब्लूएचओ, नीति आयोग व अन्य प्लेटफॉर्म पर हुई है. ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडो) की दवा 2 डीजी की पहली खेप 10 हजार खुराक सोमवार को जारी कर दी गयी है. 2 डीजी दवा सीधे मरीज की कोशिकाओं में काम करेगी, जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली तेजी से ठीक होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 May 2021, 03:11:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.