News Nation Logo

सीओपी26 : लैंगिक समानता को सबसे आगे रखने की साहसिक प्रतिबद्धता

सीओपी26 : लैंगिक समानता को सबसे आगे रखने की साहसिक प्रतिबद्धता

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 10 Nov 2021, 10:15:02 PM
COP26 Bold

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

ग्लासगो: ग्लासगो में सीओपी26 लिंग दिवस पर देश और नॉन-स्टेट एक्टर्स नई प्रतिबद्धताओं और पहलों के साथ आगे आए हैं, जो जलवायु संबंधी प्रभावों का सामना करने के लिए महिलाओं और लड़कियों के लचीलेपन को मजबूत करेंगे और साथ ही उन्हें जलवायु कार्रवाई के भीतर सशक्त बनाएंगे।

ये नई प्रतिबद्धताएं जुलाई में पेरिस में जनरेशन इक्वेलिटी फोरम में शुरू की गई जलवायु न्याय के लिए नारीवादी कार्रवाई पर संयुक्त राष्ट्र महिला-आयोजित एक्शन गठबंधन की ओर पहले से किए गए वादों में 13.9 करोड़ से अधिक का निर्माण करती हैं।

मंगलवार को आयोजित एडवांसिंग जेंडर इक्वैलिटी इन क्लाइमेट एक्शन कार्यक्रम के दौरान, देशों ने साहसिक नए कदम और महत्वाकांक्षी प्रतिज्ञाएं निर्धारित कीं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जलवायु कार्रवाई लिंग-उत्तरदायी हो और महिलाओं के नेतृत्व और जलवायु कार्रवाई में सार्थक भागीदारी में सुधार हो।

जनरेशन इक्वैलिटी एक्शन कोलिशन के सदस्यों और अन्य एक्टर्स की प्रगति में बोलिविया शामिल है, जो सतत विकास परियोजनाओं के डिजाइन में उनकी भागीदारी के माध्यम से महिलाओं और लड़कियों, विशेष रूप से स्वदेशी, एफ्रो-बोलीवियाई, समुदाय और ग्रामीण महिलाओं के नेतृत्व को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है।

बोलीविया अपने राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान (एनडीसी) में लिंग डेटा को प्रतिबिंबित करने और पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन पर आधिकारिक राष्ट्रीय आंकड़ों में लिंग विश्लेषण के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र महिलाओं के साथ काम करने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

कनाडा जलवायु कार्रवाई में महिलाओं के नेतृत्व और निर्णय लेने का समर्थन करना जारी रखे हुए है और यह सुनिश्चित करता है कि अगले पांच वर्षो में उसके 4.3 अरब डॉलर के जलवायु निवेश का 80 प्रतिशत लैंगिक समानता परिणामों को लक्षित करे।

कनाडा पर्यावरण और सामाजिक-आर्थिक डेटा को जोड़ने के लिए भी निवेश कर रहा है।

इक्वाडोर जलवायु पर काम कर रहे महिला संगठनों के भीतर नेतृत्व, बातचीत और निर्णय लेने की क्षमता को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। इक्वाडोर सबसे कमजोर महिलाओं और बच्चों को प्राथमिकता देने और उन्हें जलवायु परिवर्तन अनुकूलन प्रयासों में परिवर्तन के एजेंट के रूप में विकसित करने के लिए भी प्रतिबद्ध है, जिसमें महिलाओं पर जलवायु परिवर्तन के निर्णयों के प्रभाव पर विश्लेषण बढ़ाना और हिंसा की रोकथाम को जलवायु कार्रवाई में एकीकृत करना भी शामिल है।

वहीं दूसरी ओर जर्मनी ने अपनी अंतर्राष्ट्रीय जलवायु पहल (आईकेआई) के तहत एक नई लिंग रणनीति की घोषणा की जो अंतर्राष्ट्रीय जलवायु और जैव विविधता सहयोग में लिंग-परिवर्तनकारी दृष्टिकोण को बढ़ावा देगी।

स्वीडन ने अपने सभी जलवायु कार्यो में लैंगिक समानता को मजबूती से शामिल करने के लिए नए उपायों की घोषणा की, जिसमें स्वीडिश पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (ईपीए) के सभी मुख्य कार्यो में एक लिंग परिप्रेक्ष्य को एकीकृत करने की कार्य योजना भी शामिल है।

इसके अलावा, ब्रिटेन ने निर्धारित किया है कि 22.3 करोड़ डॉलर का वित्त पोषण लैंगिक असमानता और जलवायु परिवर्तन की दोहरी चुनौतियों का समाधान कैसे करेगा। सीओपी26 प्रेसीडेंसी ने महिला प्रतिनिधि कोष के माध्यम से सीओपी26 में भाग लेने और कम विकसित देशों का प्रतिनिधित्व करने वाली छह महिला वार्ताकारों को वित्त पोषित भी किया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 10 Nov 2021, 10:15:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.