News Nation Logo
Banner

नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन पर कांग्रेस का सवाल, जानें पूरी खबर

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (Congress leader P Chidambaram) ने नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्लान पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि यह अभ्यास (निजीकरण) बिना किसी पूर्व मानदंड के तैयार किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Rupesh Ranjan | Updated on: 24 Aug 2021, 08:28:39 PM
Congress leader P Chidambaram

Congress leader P Chidambaram (Photo Credit: News Nation )

highlights

  • कांग्रेस नेता पी चिदंबरम का सरकार से सवाल
  • बिना किसी पूर्व मानदंड के तैयार किया गया है - पी चिदंबरम 

नई दिल्ली:

मोदी सरकार के नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन (National Monetization Pipeline) पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस इसे युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करार दिया है. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (Congress leader P Chidambaram) ने नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्लान पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि यह अभ्यास (निजीकरण) बिना किसी पूर्व मानदंड के तैयार किया गया है. इसी के साथ उन्होंने कहा कि सरकार को यह बताना चाहिए था कि इसके मानदंड और लक्ष्य क्या थे. साथ ही उन्होंने कहा कि आप पहले मापदंड निर्धारित किए बिना इतनी बड़ी कवायद शुरू नहीं करते सकते हैं. उन्होंने नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन पर सरकार से सवाल पूछते हुए कहा- आपके लक्ष्य क्या हैं? 

यह भी पढ़ें: तालिबान के समर्थन में उतरा पाकिस्तान, कहा- तालिबानी भारत को जीतकर हमें सौंपेंगे

गौरतलब है कि सोमवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman)  ने नई दिल्ली में नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्लान को लॉन्च किया. नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन (National Monetization Pipeline) को लेकर बताया गया कि इसके जरिए इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ी इन्फ्रास्ट्रक्चर एसेट्स (infrastructure assets) की ऐसी सूची तैयार की जाएगी जिसे सरकार (Government) अगले 4 साल में बेच सकती है. बता दें कि इस मौके पर केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा था कि इसके जरिए अगले चार वर्षों में विनिवेश किए जाने वाली सरकार की बुनियादी ढांचा संपत्तियों की सूची तैयार की जाएगी. उन्होंने कहा था कि इसके जरिये 6 लाख करोड़ रुपये जुटाना का वित्त मंत्रालय का लक्ष्य है. इस अवसर पर वे नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्लान को लेकर विस्तृत जानकारी देते हुए कहा था कि सरकार अंडर-यूटिलाइज्ड एसेट्स को ही सिर्फ बेचेगी. हालांकि उन्होंने संपत्ति का मालिकाना हक सरकार के पास रहने की बात कही. 

बता दें कि : तालिबान को लेकर आज हो सकता है बड़ा फैसला, एक मंच पर दिखेंगी दुनिया की 7 बड़ी ताकतें

बता दें कि नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन के लॉन्चिंग के मौके पर केंद्रीय वित्त मंत्री ने एक वाकया का जिक्र करते हुए कहा था कि जिनके मन में यह सवाल है - क्या हम जमीन बेच रहे हैं? नहीं, नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन प्लान ब्राउनफील्ड संपत्तियों के बारे में बात कर रही है. जिन्हें बहरहाल बेहतर मुद्रीकृत करने की आवश्यकता है.

First Published : 24 Aug 2021, 08:28:39 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.